लिंग के ढीलेपन को इन योगासन से करें दूर

लिंग में ढीलापन और नसों में कमजोरी वर्तमान में पुरुषों की बड़ी समस्या बन गई है। नसों की कमजोरी (Erectile Dysfunction) इरेक्टाइल डिसफंक्शन दुनिया के 10 करोड़ से ज्यादा पुरुषों में पाई जाती है। इस समस्‍या के कारण महिला और पुरुष दोनों यौन सुख प्राप्‍त करने में असमर्थ रहते हैं।

लिंग में ढीलापन आने का प्रमुख कारण मांसपेशियों, रक्‍त प्रवाह और तंत्रिकाओं का सही तरह से काम न करना हो सकता है, जिसका इलाज चिकित्सा के माध्यम से किया जा सकता है।

Note: किसी भी स्वास्थ्य समस्या का विशेषज्ञ डॉक्टर से घर बैठे परामर्श पाने के लिए अभी क्लिक करें।

क्या है इरेक्टाइल डिसफंक्शन ?  What is Erectile Dysfunction? 

जब कोई पुरुष सेक्स के लिए उत्तेजित हो जाता है तो उसे इरेक्शन महसूस होता है और उसका दिमाग उसके लिंग की नसों को वहां खून का प्रवाह बढ़ाने का सिगनल भेजता है। इसे ही इरेक्शन कहते हैं। लेकिन जब सेक्शुअली उत्तेजित होने के बाद भी पेनिट्रेशन के लिए इरेक्शन न हो पाए और दोनों पार्टनर सेक्शुअली असंतुष्ट रह जाएं तो इस समस्या को इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कहा जाता है। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन यानी नपुंसकता 2 तरह की होती है।

 1.लॉन्ग टर्म (Long Term Erectile Dysfunction)

 2.शॉर्ट टर्म (Short Term Erectile Dysfunction)

लॉन्ग टर्म

अगर इरेक्शन न होने की समस्या लंबे समय तक बनी रहे तो हो सकता है इसके पीछे किसी तरह की शारीरिक समस्या जिम्मेदार हो। कई बार हाई बीपी, डायबिटीज़ और कलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से प्राइवेट पार्ट में ब्लड का फ्लो प्रभावित होता है, जिससे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या हो सकती है।

इसके अलावा शरीर में टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन का लेवल बहुत ज्यादा कम हो जाए और स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टिसोल का लेवल बहुत बढ़ जाए, तब भी नपुंसकता की समस्या लंबे समय तक बनी रहती है।

मर्द इन उपायों से बढ़ा सकते हैं चरमसुख (सेक्स) समय को-

शॉर्ट टर्म

इरेक्टाइल डिसफंक्शन एक सामान्य समस्या है जिसके पीछे आपके जीवनशैली से जुड़ी कई वजहें शामिल हैं. जैसे- काम का बहुत ज्यादा तनाव , थकान, बेचैनी, किसी बात की चिंता, बहुत ज्यादा शराब का सेवन, परफॉर्मेंस प्रेशर आदि. इस तरह की नपुंसकता कुछ समय के लिए होती है और जैसे ही आप अपनी जीवनशैली में सुधार करते हैं यह समस्या भी ठीक हो जाती है.

किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए आज ही “Aayu” ऐप डाउनलोड करें

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शारीरिक कारण Physical causes of Erectile Dysfunction 

  1. एथेरोस्क्लेरोसिस
  2. हाई कोलेस्ट्रॉल
  3. हाई बीपी
  4. मधुमेह
  5. मोटापा
  6. तंबाकू का सेवन
  7. नींद का पूरा नहीं होना 
  8. दिल की बीमारी
  9. अवसादरोधी दवा
  10. शराब का अत्यधिक सेवन

आयु कार्ड से साल-भर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टर से फ्री परामर्श लें-👇

इरेक्टाइल डिसफंक्शन  का इलाज | Treatments For Erectile Dysfunction 

लिंग में ढीलापन की समस्या का इलाज इसके होने की वजह क्या है, इस पर निर्भर करता है। अगर आपकी समस्या तनाव, खराब जीवनशैली या भावुकता से जुड़ी है तो इसके इलाज के लिए आपको सेक्स एक्सपर्ट से मिलकर सेक्स थेरपी या बिहेवियरल थेरपी लेने की जरूरत पड़ सकती है।

  • मेडिकल और सेक्सुअल हिस्ट्री medical and sexual history
  • शारीरिक परीक्षा physical exam
  • ब्लड टेस्ट blood tests
  • पेशाब की जांच Urine tests (urinalysis)
  • नोक्टर्नल इरेक्शन टेस्ट erection test
  • इंजेक्शन परीक्षण injection test
  • डॉपलर अल्ट्रासाउंड Doppler ultrasound
  • मानसिक स्वास्थ्य परीक्षा Mental Health Exam

इरेक्टाइल डिसफंक्शन को योगासन से करें दूर | Yoga For Erectile Dysfunction 

पश्चिमोत्तानासन योग विधि

सबसे पहले आप जमीन पर बैठ जाएं. अब आप दोनों पैरों को सामने फैलाएं. पीठ की पेशियों को ढीला छोड़ दें। सांस लेते हुए अपने हाथों को ऊपर लेकर जाएं। फिर सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें। आपको अपने हाथ से पैर की उंगलियों को पकड़ने का और नाक को घुटने से सटाने का प्रयास करना है। धीरे-धीरे सांस लें, फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ें और अपने हिसाब से इस अभ्यास को धारण करें। धीरे-धीरे इसकी अवधि को बढ़ाते रहें. यह एक चक्र हुआ. इस तरह से आप 3 से 5 चक्र प्रतिदिन करें।

ऐसे बढ़ाएं सेक्स पावर, घंटों तक भी नहीं थकेंगे आप-

बद्धकोणासन

सीधा बैठें और अपने पैरों को स्ट्रैच करें. अब सांस लें और अपने घुटनों को इस तरह से मोड़ें कि आपकी एड़ी पेल्विक मसल्स की तरफ हो. आप अपनी एड़ियों को पेल्विस के पास जितना ला सकते हैं लाएं। अब अपने हाथ के अंगूठे और पहली अंगुली का इस्तेमाल करते हुए अपने पैर के अंगूठे को पकड़ें।

ध्यान रहे, अपने पैरों के बाहरी किनारों को हमेशा फर्श पर दबाएं। इसके अलावा आपके कंधे और कमर सीधी मुद्रा में हों। अपने जांघ की हड्डियों को जमीन से स्पर्श कराने की कोशिश करें। ऐसा करने से अपने आप आपके घुटने जरुरत के हिसाब से नीचे झुकेंगे। इस मुद्रा में 1-5 मिनट तक रहें. सांस लें और अपने घुटनों को उठाएं और पैरों को फैलाएं।

धनुरासन

पेट के बल लेटकर, पैरों में नितंब जितना फासला रखें और दोनों हाथ शरीर के दोनों ओर सीधे रखें। घुटनों को मोड़ कर कमर के पास लाएं और घुटिका को हाथों से पकड़ें। श्वास भरते हुए छाती को ज़मीन से उपर उठाएं और पैरों को कमर की ओर खींचें। चेहरे पर मुस्कान रखते हुए सामने देखिए।

श्वासोश्वास पर ध्यान रखे हुए, आसन में स्थिर रहें, अब आपका शरीर धनुष की तरह कसा हुआ है। लम्बी गहरी श्वास लेते हुए, आसन में विश्राम करें, सावधानी बरतें आसन आपकी क्षमता के अनुसार ही करें, जरूरत से ज्यादा शरीर को ना कसें। 15-20 सेकंड बाद, श्वास छोड़ते हुए, पैर और छाती को धीरे धीरे ज़मीन पर वापस लाएं। घुटिका को छोड़ेते हुए विश्राम करें।

उत्तानासन

सबसे पहले एक समतल जगह पर दरी बिछाकर खड़े हो जाएं। अपने पैरों को थोड़ी दूरी पर रखें और कंधों को एकदम सीधा रखें। आप जब खड़े रहेंगे तो शक्तिशाली तरीके से खड़े रहें। अपने पैरों के पंजे पर अपना वजन नियंत्रण रखें। अब सामान्य तरीके से सांस लें और कमर से नीचे की ओर झुक जाएं।

आपको इस तरह से झुकना है कि आपका सीना आपके घुटनों को छुए। ना छुए फिर भी कोशिश जारी रखें। इस स्थिति में रहते वक्त आपके घुटने सीधे रहना चाहिए। इस आसन के दौरान अपनी आंखों को बंद ना करें। इस आसन से सामान्य स्थिति में आने के लिए अपने हाथों को अपने नितम्ब पर रखकर सहारा दें और सांस लेते हुए पहले की अवस्था में आ जाएं।

Note: महामारी के दौर में घर से बाहर निकलना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। इसलिए घर बैठे दवाइयाँ ऑर्डर करें और बीमारियों के खतरे से बचें।

जानु शीर्षासन

पैरों को सामने की ओर सीधे फैलाते हुए बैठ जाए,रीढ़ की हड्डी सीधी रखें। बाएं घुटने को मोड़ें, बाएँ पैर के तलवे को दाहिनी जांघ के पास रखें, बायां घुटना ज़मीन पर रहे। सांस भरें, दोनों हाथों को सिर से ऊपर उठाएं, खींचें और कमर को दाहिनी तरफ घुमाएं।

सांस छोड़ते हुए कूल्हों के जोड़ से आगे झुकें, रीढ़ की हड्डी सीधी रखते हुए, ठुड्डी को पंजों की और बढ़ाएं। अगर संभव हो तो अपने पैरों के अंगूठों को पकड़ें, कोहनी को जमीन पर लगाएं, अंगुलियों को खींचते हुए आगे की ओर बढ़ें, सांस रोकें। सांस भरें, सांस छोड़ते हुए ऊपर उठें, हाथों को बगल से नीचे ले आएं। पूरी प्रक्रिया को दाएं पैर के साथ दोहराएं।

ये भी पढ़ें-

आयु है आपका सहायक

सेक्स से संबंधित समस्या से अगर आप परेशान है तो आपको किसी भी तरह से संकुचित होने की जरूरत नहीं है क्योंकि अब आप घर बैठे बिना किसी झिझक के आयु ऐप पर मौजूद सेक्स स्पेशलिस्ट से सीधे सलाह ले सकते है। सेक्स स्पेशलिस्ट से सलाह लेने के लिए अभी आयु ऐप डाउनलोड करें। आयु ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें और अभी इलाज लें !

7 Replies to “लिंग के ढीलेपन को इन योगासन से करें दूर

  1. मेरा लिंग छोटा और पतला है इसलिए मैं सेक्स अच्छे तरीके से नहीं कर पाता हूं

Leave a Reply

Your email address will not be published.