fbpx

Yellow Urine: गर्भावस्था के दौरान पीला पेशाब आना, चिंता का सबब या सामान्य बात

Yellow Urine: गर्भावस्था के दौरान पीला पेशाब आना, चिंता का सबब या सामान्य बात

Yellow urine during pregnancy: गर्भ धारण प्रकृति की सबसे अद्भुत और रोचक प्रक्रिया है। इस दौरान शरीर में होन वाले बदलाव को लेकर आपको सजग रहने की तो जरूरत है लेकिन ज्यादा चिंता करने की नहीं। प्रेगनेंसी के दौरान पीला पेशाब (Yellow urine during pregnancy) आना एक सामान्य शारीरिक बदलावों में से ही एक है इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं है।

1. क्या पेशाब का पीलापन प्रेग्नेंसी का लक्षण है (is dark yellow urine a sign of pregnancy)

यह शरीर में नई कोशिकाएं बनने का संकेत है। जो कि एक बेहद सामान्य प्रक्रिया है। लेकिन पेशाब का रंग अगर गहरा पीला हो जाए तो इस लक्षण को अनदेखा नहीं किया जाना चाहिए। पेशाब पीला होने का कारण पिग्मेंट यूरोक्रोम भी हो सकता है जिसे ‘यूरोबिलिन’ भी कहा जाता है। 

जब शरीर मृत लाल कोशिकाओं से हीमोग्लोबिन निकालता है, उससे यूरोबिलिन बनता है। पेशाब का पीलापन (Yellow urine during pregnancy) उसकी निरंतरता पर निर्भर करता है। गर्भावस्था में महिला के शरीर में ज्यादा खपत और बार बार पेशाब जाने के कारण पानी की कमी पेशाब के रंग को गहरा पीला बना देता है। प्रेगनेंसी के दौरान पेशाब का पीलापन के और भी कई कारण है मसलन:—

2. गर्भावस्था में पेशाब के पीला होने के कारण (Causes of Yellow Urine During Pregnancy)

प्रेगनेंसी के दौरान भी  पेशाब का पीलापन और पेशाब के रंग में परिवर्तन हो जाता है।

  1. शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन
  2. शरीर में नई कोशिकाओं का निर्माण
  3. गर्भावस्था में ली गई विटामिन की दवाएं
  4. गर्भावस्था के दौरान शरीर के तापमान में वृद्धि
  5. शरीर में पानी की कमी होना
  6. शरीर में खून की कमी होना 
  7. पथरी या किडनी से जुड़ी समस्या (Kidney & Stone problem)
  8. मूत्रमार्ग में संक्रमण होना (UTI Infection) 

इन सभी समस्याओं के कारण अक्सर गर्भावस्था में पेशाब का रंग गहरा पीला (Yellow urine during pregnancy) हो जाता है जिसके चलते प्रेगनेंट महिला को पेशाब करते समय जलन और दर्द की शिकायत भी हो सकती है। 

3. इन समस्याओं को दूर करने के लिए आप ये उपाय अपना सकते हैं:—

गर्भावस्था के दौरान पेशाब का पीलापन की समस्या का उपाय (Treatment of Yellow Urine During Pregnancy)

  1. प्रेगनेंट महिला को भरपूर पानी पीना चाहिए
  2. पानी के अलावा अन्य सेहतमंद पेय पर्दार्थों का सेवन
  3. खून की कमी को पूरा करने के लिए आयरन युक्त आहार लें
  4. भोजन में हरी सब्जियां खास तौर पर पालक की मात्रा बढ़ाएं
  5. चुकंदर, आंवला, टमाटर को भोजन में शामिल करें
  6. संतरा, मौसमी, सेव, अनार और गाजर का सेवन
  7. विटामिन सी के भरपूर फलों का सेवन करना
  8. पेशाब के ज्यादा पीला होने पर चिकित्सकीय सलाह भी लें

किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श लें।

4. गर्भावस्था के दौरान पेशाब के रंग में परिवर्तन किस बीमारी का कारण है?

वैसे कई बार गर्भावस्था के दौरान महिलाएं ज्यादा से ज्यादा पानी पीने के बाद भी डिहाइड्रेशन से ग्रसित हो सकती हैं। इसका एक और कारण है जिसे हाइपरमेसिस ग्रेविडेरम कहा जाता है। हाइपरमेसिस ग्रेविडेरम के लक्षण गंभीर मॉर्निंग सिकनेस, मतली, और वजन में गिरावट होना है और यह समस्या बेहद दुर्लभ है और महज एक फीसदी गर्भवती महिलाओं में ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं। जिसके कारण डिहाइड्रेशन हो सकता है। अगर डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी का कोई भी संकेत नहीं है। तो पेशाब में गाढ़ापन (Yellow Urine During Pregnancy) होने से लिवर में समस्याएं हो सकती हैं। 

5. पेशाब का पीलापन की यूटीआई इंफेक्शन भी है एक वजह

यूटीआई यानी यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन या मूत्र मार्ग में संक्रमण भी पेशाब के पीले होने की मुख्य वजहों में से एक है। गर्भवती महिला को यूटीआई (UTI Infection) होने की आशंका काफी ज्यादा होती है। इसमें किडनी, मूत्राशय, मूत्र मार्ग आदि संक्रमण भी शामिल हैं। यदि पेशाब करते हुए गर्भवती महिला को जलन, बार-बार पेशाब आना और पेट के निचले हिस्से में जलन है। 

पेशाब में खून आना, तो ये सब यूटीआई के लक्षण हो सकते हैं। इन सबके कारण पेशाब का रंग भी बदल जाता है। तो वहीं, हेमाट्यूरिया वह स्थिति है जब रेड ब्लड सेल्स पेशाब में लीक होने लगती हैं। इससे पेशाब का रंग गाढ़ा भूरे से लाल रंग में तब्दील हो जाता है। यह संक्रमण, स्टोन, ट्यूमर, मेटाबॉलिक डिसऑर्डर, खून का पतला होना आदि कारण से हो सकता है। ऐसी स्थिति में आपको इन लक्षणों को अनदेखा नहीं करना चाहिए और चिकित्सक से तुरंत संपर्क करना चाहिए। 

डिस्क्लेमर

चिकित्सक की सलाह लेने के लिए अब आपको अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है। अगर आप किसी भी स्वास्थ्य परेशानी से जूझ रहे हैं तो आज ही अपने मोबाइल में डाउनलोड करें आयु ऐप क्योंकि आयु ऐप पर मौजूद 5000 से अधिक विशेषज्ञ डॉक्टर्स। जिनसे आप घर बैठे परामर्श (Online Consultation) ले सकते हैं। आयु ऐप डाउनलोड करें (Download Aayu App)

ये भी पढ़ें

पेशाब पीला आने का क्या कारण है, पीलापन दूर करने के उपाय

यूरिक एसिड क्या है और इसे कम कैसे करें | Daily Health Tip | Aayu App

पेशाब में जलन होने के कारण,लक्षण और उपाए

खराब किडनी के लक्षण और बचाव के उपाय

गर्भधारण करने का सही तरीका, जानें 9 तरीके| Pregnancy Tips

UTI: ये होते हैं यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण

 

 

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )