World Thalassaemia Day: थैलेसीमिया क्या है, थैलेसीमिया के कारण, लक्षण और बचाव

World Thalassaemia Day

World Thalassaemia Day: विश्व थैलेसीमिया दिवस हर बार बदलती थीम पर 8 मई को मनाया जाता है। वर्ल्ड थैलेसीमिया डे 2020 की थीम (World Thalassaemia Day 2020 Theme) ‘यूनिवर्सल एक्सेस टू क्वालिटी थैलीसीमिया हैल्थकेयर सर्विसेसः बिल्डिंग ब्रिजेस विद एंड फॉर पेशेंट्स’ रखी गई है। थैलेसीमिया के बचाव (Prevention Of Thalassemia) के लिए थैलेसीमिया के लक्षणों (Symptoms Of Thalassemia) पर ध्यान देना काफी जरूरी है 

थैलेसीमिया क्या है? (What is Thalassemia) 

डॉक्टर्स के अनुसार, थैलेसीमिया खून से संबंधित विकार है, जो एक जेनेटिक रोग है। यह माता-पिता से बच्चों को होता है।हीमोग्लोबिन निर्माण के कार्य में गड़बड़ी देखने को मिलती है। इसलिए डॉक्टर सलाह देते हैं कि कोई भी कपल यदि बच्चे की प्लानिंग कर रहे हैं तो थैलेसीमिया टेस्ट जरूर करवा लें। 

थैलेसीमिया के प्रकार (Types of Thalassemia)

  • एल्फा थैलेसीमिया
  • बीटा थैलेसीमिया

थैलेसीमिया के कारण (Causes Of Thalassemia)

  • इसमें लाल रक्त कोशिकाएं तेजी से खत्म होने लगती हैं।
  • महिलाओं एवं पुरुषों के शरीर में मौजूद क्रोमोज़ोम खराब होने से माइनर थैलेसीमिया हो सकता है।
  • दोनों क्रोमोजोमम खराब हो जाए तो यह मेजर थैलेसीमिया भी बन सकता है।
  • क्रोमोज़ोम में खराबी होने की वजह से बच्चे के जन्म के छह महीने बाद शरीर में खून बनना बंद हो सकता है।

थैलेसीमिया से बचने के उपाय (Ways To Prevent Thalassemia)

 नियमित अपने खून की जांच कराना

– शिशु के जन्म से पहले ही रक्त जांच कराना

– कम वसा, हरी पत्तेदार सब्जियां

– अधिक से अधिक आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन 

ये भी पढ़ें-

आयु है आपका सहायक

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते आज विश्व टेलीमेडिसिन को अपना रहा है। भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी आमजन से टेलीमेडिसिन को अपनाने की बात कही है। किसी भी सामान्य बीमारी में आप विशेषज्ञ डॉक्टरों से घर बैठे आयु ऐप के माध्यम से परामर्श कर सकते हैं। इसके अलावा आयु ऐप पर डॉक्टरों द्वारा प्रमाणित स्वास्थ संबंधी तमाम अपडेट प्राप्त कर सकते हैं। आयु ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.