World Sight Day: आँखों को हेल्दी रखने के लिए डाइट और आँखों को लाल होने से बचने के घरेलू उपचार

World Sight Day

शरीर का सबसे नाजुक हिस्सा आँखें होती हैं। आँखों से ही हम सब कुछ देख पाते हैं। यह बहुत सेंसिटिव है, इसलिए इसकी देखभाल करना भी बहुत जरूरी है। लेकिन हमारी लाइफस्टाइल खराब होने की वजह से हमारी आँखों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। आँखों के स्वास्थ्य के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 8 अक्टूबर को पूरी दुनिया में वर्ल्ड साइट डे (World Sight Day) मनाया जाता है।

आंखों को हेल्दी रखने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर डाइट का सेवन करना करना चाहिए। आँखों को सुरक्षित रखने के लिए हमें आँखों के लिए जरूरी पोषक तत्वों का सेवन करना चाहिए। यह हमारी आँखों को खराब होने या किसी भी तरह की हानि होने से बचाती है। आँखों को हेल्दी रखने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लें।

आइये हम जानते है स्वस्थ आँखों के लिए अपनी डाइट में कौन- कौन सी चीज़ें शामिल करनी चाहिए।

आँखों को स्वस्थ रखने के लिए खाने वाली चीज़ें:

ड्राई फ्रूट एंड नट्स (Dry Fruits and Nuts):

आँखों को नुकसान से बचाने के लिए डाइट में ड्राई फ्रूट और नट्स जैसे बादाम, अखरोट, मूंगफली, सूरजमुखी के बीज, आदि का सेवन ज्यादा करें क्योंकि इनमें भरपूर मात्रा में विटामिन-ई पाया जाता है। जो आँखों के लिए फायदेमंद है। विटामिन ई की कमी से आँखों की रोशनी कमजोर होती है।

फल (Fruits):

आँखों को हेल्दी रखने के लिए विटामिन-सी का इस्तेमाल ज्यादा करना चाहिए। विटामिन-सी खट्टे फलों में भरपूर पाया जाता है, जैसे अमरूद, संतरा, आंवला, नींबू आदि। इनमें एंटीऑक्सिडेंट के गुण पाए जाते हैं जो आँखों को हेल्दी रखने में मदद करते हैं।

जिंक (Zinc):

जिंक की कमी से रतौंधी की समस्या हो सकती हैं। रतौंधी एक तरह की आँखों की समस्या है जिसमें व्यक्ति को दिन में तो अच्छे से दिखता है लेकिन रात में पास की चीजें देखने में भी असमर्थ रहता है। इसलिए इससे बचने के लिए अपनी डाइट में जिंक की पर्याप्त मात्रा लें। जिंक हड्डियों को मजबूत बनाने का काम करता है। मूंगफली, लहसुन, तिल, फलियाँ, राजमा, दालें, सोयाबीन, और अलसी में पर्याप्त मात्रा में जिंक पाया जाता है। जो हमारे हेल्थ के साथ-साथ आँखों के लिए अच्छे माने जाते हैं। जिंक की पर्याप्त मात्रा आँखों को कई बीमारियों से बचाने का काम कर सकती है।

हरी-पत्तेदार सब्जियाँ(Green Leafy Vegetables):

आँखों को नुकसान से बचाने के लिए विटामिन-ए काफी फायदेमंद माना जाता है। शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण आँखों पर इसका बुरा असर पड़ता है। आँखों को ड्राईनेस से बचाने के लिए हरी सब्जियों का इस्तेमाल करना चाहिए जैसे पालक, मेथी बींस, शलजम, चुकंदर आदि इन सब्जियों को विटामिन-ए का अच्छा सोर्स माना जाता है।

अगर आपकी आँखें लाल रहती हैं तो आपके आँखों में संक्रमण हो सकता है आइये इस समस्या से बचने के कुछ घरेलू उपचार जानते हैं।

आँखें लाल होने के कारण (Reasons of Red Eyes):

ज्यादातर लोगों को आँखें लाल (Red Eyes) होने की समस्या होती है। सुबह सोकर उठने के बाद या नहाकर आने के बाद आँखें लाल हो सकती है। इसकी बड़ी वजह आँखों के सफेद वाले हिस्से की रक्त वाहिकाओं (Blood Vessel) में सूजन होना है। इस समस्या को यदि नजरअंदाज किया गया तो यह किसी गंभीर समस्या बन सकती है। आँखें यदि हमेशा लाल रहती हैं तो डॉक्टर को जरूर दिखाएँ।

आँखों में संक्रमण (Infection in eyes):

जब आँखों में किसी प्रकार का संक्रमण होता है तो हमारी आँखें लाल हो जाती हैं। कन्जक्टिवाइटिस और मोतियाबिंद जैसे संक्रमण के कारण यह समस्या होती है।

आँखों की एलर्जी (Allergy in eyes):

आँखों में किसी प्रकार की एलर्जी की समस्या होने के कारण भी आँखें लाल हो सकती हैं। जैसे यदि किसी धूल या धुएं के संपर्क में कोई व्यक्ति बार-बार आता है तो इससे आँखों में जलन और खुजली होने लगती है, जिसकी वजह से आँखें लाल हो जाती हैं या किसी वस्तु से एलर्जी होने पर भी यह समस्या हो सकती है।

आँखें लाल होने के और दूसरे कारण:

जिन लोगों की दिनचर्या खराब होती है, उन्हें भी इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इसमें नींद की कमी और अनुचित आहार का सेवन आदि शामिल हैं। जो लोग शराब का सेवन करते हैं या अधिक धूम्रपान करते हैं, उन्हें भी आँखें लाल होने की समस्या हो सकती है। इसके अतिरिक्त जो लोग कान्टेक्ट लेंसेस का प्रयोग अधिक करते हैं। उन्हें भी इस तरह की समस्या हो सकती है।

लाल आँखें होने पर करने वाले घरेलू उपचार (Home Remedies of Red Eyes):

आँखों को हाथ लगाने से पहले हाथ अच्छी तरह से साफ करें। गुलाब जल से आँखें साफ होती हैं और यह आँखों में लालिमा को दूर करने के लिए बेहतर घरेलू नुस्खा है। इसके लिए गुलाब जल की 2-3 ड्रॉप आँखों में डालें। इस विधि को दिन में दो से तीन बार करें। गुलाब जल आंखों को ठंडक पहुँचाता है। इसके अतिरिक्त गुलाब जल को एक और तरह से उपयोग में लाया जा सकता है। एक रुई को गुलाब जल में भिगोकर फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। इसके बाद इस रुई को दोनों आँखों पर कुछ देर के लिए रखें। आँखों में ठंडक मिलने के साथ आँखों की लालिमा भी कम हो जाएगी।

आँखों का लालपन कम करने के लिए दूध और शहद का इस्तेमाल किया जा सकता है। दूध और शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो आँखों को राहत पहुँचाने का कार्य करते हैं। इसके लिए गर्म दूध और शहद बराबर मात्रा में लें और इसका मिश्रण तैयार कर लें। रूई या आई ड्रॉप की मदद से इसकी तीन बूंदें आँखों में डालें। इससे काफी आराम मिलेगा।

एलोवेरा भी आंखों को ठंडक पहुँचाने का काम करता है और आँखों के लिए यह एक अच्छी जड़ी बूटी है। एलोवेरा का इस्तेमाल करने के लिए इसके टुकड़े को फ्रिज में रख दें और कुछ देर बाद इसे ठंडे पानी के साथ मिला लें। अब इसमें रुई भिगोकर आँखों पर कुछ देर के लिए रखें, इससे आँखों की सूजन और जलन कम हो जाएगी।

आँखों की सुरक्षा के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पिएँ। इससे आँखों की एलर्जी दूर होगी और किसी प्रकार के संक्रमण से भी आप बच सकते है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ  डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.