White Chocolate Day: व्हाइट चॉकलेट खाने के फायदे और नुकसान Benefits of white chocolate in Hindi

White Choclate Day व्हाइट चॉक्लेट डे

White Chocolate Day: चॉकलेट (Chocolate) किसको पसंद नहीं होती। यह बहुत टेस्टी और हेल्दी होती है। वैसे तो चॉकलेट (Chocolate) दो तरह की होती है एक व्हाइट और एक डार्क। व्हाइट चॉक्लेट डे (White Chocolate Day) हर साल 22 सितम्बर को मनाया जाता है।

वैसे तो ऐसा देखा गया है कि लोग डार्क चॉकलेट (Chocolate) खाना ज्यादा पसंद करते है लेकिन सेहत के हिसाब से व्हाइट चॉकलेट ज्यादा अच्छी होती है।

व्हाइट चॉकलेट के फायदे: Benefits of white chocolate in Hindi

नींद में सुधार लाए: नींद आपके शरीर के लिए बहुत ज़रुरी है। एक अच्‍छी नींद आपके शरीर को थकावट से छुटकारा दिलाने में मदद करती है लेकिन कई बार बिजी शेड्यूल की वजह से आपको अच्छी नींद नहीं आ पाती। व्‍हाइट चॉकलेट आपकी इंटरनल क्‍लॉक और सर्कैडियन लय में सुधार ला सकता है। इससे आपका तनाव कम और आप शांति महसूस करते है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करें: व्हाइट चॉकलेट खाने से ना सिर्फ आपके शरीर में मौजूद कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) कम होता है बल्कि अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा मिलता है। व्हाइट चॉकलेट (white chocolate) आपके पाचन को मज़बूत बनाने वाले खाद्य अवशोषण दर में सुधार लाता है। जिससे आप कोरोनरी हार्ट डिज़ीज़ से सुरक्षित रहते हैं। व्‍हाइट चॉकलेट हृदय कार्यों को बढ़ावा देने के लिए जमा फैट को तोड़ने में मदद करता है।

सिरदर्द से राहत दिलाए: किसी भी तरह का सिरदर्द जैसे- क्लस्टर-टाइप या टेंशन-टाइप या माइग्रेन, व्‍हाइट चॉकलेट आपको सिरदर्द से राहत दिलाता है। व्हाइट चॉकलेट में मौजूद डोपामाइन तत्व तंत्रिका तंत्र (नर्वस सिस्टम) को आराम दिलाता है, जो सिरदर्द को धीरे-धीरे कम करता है।

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

Online Consultation through Aayu Card
Online Consultation

डायबिटीज कंट्रोल करने में सहायक: अगर आप डायबिटीज़ (Diabetes) के मरीज़ हैं तो आपको मीठे का सेवन करने की अनुमति नहीं होगी। लेकिन व्‍हाइट चॉकलेट (white chocolate) को नियमित मात्रा में लेने से यह अच्छा है। यह हाइपोग्लाइसीमिया, जो डायबिटीज़ की दवाइयों के कारण शरीर में पैदा होने वाली स्थिति है , जिसके दुष्प्रभावों से लड़ने में सक्षम है। यह ब्‍लड शुगर (Blood sugar) के स्तर को कम करने में मदद करता है।

ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को टाले: महिलाओं में ब्रेस्‍ट कैंसर (Breast cancer)के खतरे को कम करने के लिए व्हाइट चॉकलेट खाना फायदेमंद है। चॉक्लेट में मौजूद पॉलीफेनोल्स एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करते हैं, जो ब्रेस्‍ट कैंसर (Breast cancer) को रोकने में मददगार है।

हार्ट फेलियर का खतरा कम करें: व्हाइट चॉकलेट में फ्लेवोनॉल नामक एक यौगिक होता है, जिसे हृदय रोगियों के लिए उपयोगी माना जाता है। व्‍हाइट चॉकलेट (white chocolate)हृदय स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है और हृदय गति में सुधार करता है। व्‍हाइट चॉकलेट नकारात्मक प्रभावों को कम करता है और समय के साथ रोगियों को बेहतर बनाने में मदद करता है।

प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता है: व्हाइट चॉकलेट (white chocolate) खाने से बच्चों में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट शरीर में विषाक्त सामग्री को कम करता है।

प्रेगनेंसी में चॉकलेट खाने के फायदे:

30 ग्राम चॉकलेट रोजाना खाने से गर्भ में पल रहे शिशु का विकास अच्‍छी तरह से होता है। इस दौरान महिलाओं को कई तरह के खानपान से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

चॉकलेट को भी इसी तरह के फ़ूड की श्रेणी में रखते है क्योंकि इसमें फैट, शुगर और कैफीन मौजूद होता है जो सेहत को नुकसान पहुँचा सकता है। लेकिन आजकल एक स्टडी आई है जिसमें प्रेगनेंसी के दौरान सामान्य चॉकलेट आप खा सकते है जो कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को कम करता है जैसे लोअर कोलेस्‍ट्रॉल, कार्डियोवेस्‍कुलर प्रॉब्‍लम आदि।

  • कोकोआ से बनी चॉक्लेट खाने से शरीर में खून का संचार अच्छे से होता है, जिससे भ्रूण के पास माँ का पर्याप्‍त खून पहुँचता है।
  • चॉकलेट में एंटीऑक्‍सीडेंट होता है, जो फ्री रेडिकल्स से शरीर की मदद करता है। इससे बच्चे भी फ्री रेडिकल्स से बच सकते है।
  • चॉकलेट में प्रचुर मात्रा में मैगनीशियम और आयरन मौजूद होता है, जिससे खून में हीमोग्लोबिन बढ़ता है। मैगनीशियम से फैटी एसिड का मैटाबॉल्‍ज्मि बढ़ता है।
  • प्रेगनेंसी के समय चॉक्लेट खाने से दिल मजबूत बनता है।
  • ब्‍लड प्रेशर को मेंटेन करने के साथ तनाव (Stress) के लेवल को कम करता है।

व्हाइट चॉकलेट खाने के नुकसान: loss of white chocolate

डिप्रेशन बढ़ता है: चॉकलेट खाने से डिप्रेशन (depression) बढ़ता है। इसीलिए, जब कोई व्यक्ति उदास, हताश या तनाव में होता है , तो उसे चॉकलेट खाने से बचना चाहिए। लोग मूड बेहतर बनाने के लिए चॉकलेट (Chocolate) खाना पसंद करते हैं। लेकिन, चॉकलेट में मौजूद शक्कर स्ट्रेस बढ़ाने वाले हार्मोन्स को उत्तेजित करते है।

हार्ट बर्न करें: बहुत अधिक चॉकलेट खाने का एक नुकसान सीने में जलन हो सकता है। बहुत अधिक मात्रा में चॉक्लेट खाने से गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (gastroesophageal reflux) की लक्षण मानी जाने वाली समस्याएं बढ़ सकती हैं। जिसमें, खट्टी डकारें आना, पेट फूलना यानि ब्लोटिंग और पेट दर्द जैसी परेशानियाँ शामिल हैं।

मोटापा बढ़ता है: ओबेसिटी (Obesity) या मोटापा चॉकलेट के अधिक सेवन का परिणाम हो सकता है। जो महिलाएं चॉकलेट का सेवन अक्सर या ज़्यादा करती हैं उन्हें, मोटापे या वेट गेन की समस्या अधिक होती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ  डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.