fbpx

कोरोना वायरस से जुड़ी कुछ अहम बातें जिन्हें आप सबके लिए जानना जरूरी है ।

कोरोना वायरस से जुड़ी कुछ अहम बातें जिन्हें आप सबके लिए जानना जरूरी है ।

पूरे विश्व में कोरोना का कहर है भारत सहित दुनिया की आधी आबादी घरों में कैद है। लेकिन इस वायरस को लेकर लोगों के बीच कुछ भ्रांतियां भी हैं। अब तक (27 मार्च) भारत में कोरोना के 724 मामले सामने आ गए हैं, जिनमें से 17 लोगों की मौत की खबर है। इन सबके बीच आयु ऐप की लोगों से अपील है कि सिर्फ सरकारी एडवायजरी पर ही नज़र रखें, अफवाहों में न पड़े। और सामान्य बीमारी के लिए घर बैठे ही आयु ऐप के माध्यम से विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श लें। क्योंकि अस्पतालों में जाने पर इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाने की संभावना रहती है। 

Know what to do if you have come in close contact with a confirmed COVID19 case.

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

consultation

कोरोनावायरस से जुड़ी अहम बातें 

1. 75-80 फीसदी मामले उन लोगों के हैं जो कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज के सीधे संपर्क में आए, यानी मरीज के मित्र और परिवार के लोग जो उनके आस पास रहे।

2. कोरोना वायरस के मरीजों में लक्षण की बात करें तो 88 फीसदी को बुखार, 68 फीसदी को खांसी और कफ, 38 फीसदी को थकान, 18 फीसदी को सांस लेने में तकलीफ, 14 फीसदी को शरीर और सिर में दर्द, 11 फीसदी को ठंड लगना और 4 फीसदी को डायरिया होना प्रमुख है।  गौर फरमाने वाली बात ये है कि रनिंग नोज यानी नाक बहना कोरोना वायरस के मरीजों में मिला ही नहीं और फिलहाल भारत में नाक बहने वालों में कोरोना को लेकर सबसे ज्यादा डर है।

3. मेनलैंड चाइना की बात करें तो कोरोना वायरस मरीजों में मृत्यु दर 2 फीसदी के लगभग है जो सार्स 10 फीसदी, स्वाइन फ्लू 4.5 फीसदी और इबोला 25 फीसदी से कहीं कम है, और कोरोना वायरस से पीड़ित होने के बाद ठीक होने वालों की संख्या बहुत ज्यादा है।

4. 9 साल तक के बच्चों में 0 फीसदी मृत्यु दर, 10-39 वर्ष तक के लोगों में 0.2 फीसदी मृत्यु दर, 40-49 वर्ष तक के लोगों में 0.4 फीसदी, 50-59 वर्ष तक के लोगों में 1.3 फीसदी, 60-69 वर्ष तक के लोगों में 3.6 फीसदी, 60-69 वर्ष तक के लोगों में 3.6 फीसदी, 70-79 वर्ष तक के लोगों में 8 फीसदी, 80 से ज्यादा वर्ष के लोगों में 14.8 फीसदी, अगर आपने ये आंकड़ें समझे तो साफ है कि बढ़ती उम्र, कम होती इम्युनिटी और पहले से गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों पर ये वायरस ज्यादा असर करता है।

5. पिछले तमाम वायरसों से कमजोर होने के बावजूद कोरोना वायरस का डर जनता में सबसे ज्यादा है, जिसका कारण है सोशल मीडिया पेनीट्रेशन जो अब सस्ते डेटा और फोन्स के कारण ग्रामीण क्षेत्रों तक भी पहुंच चुका है। लगभग 2 बिलियन लोग व्हाट्सप्प पर हैं और 1.69 बिलियन लोग फेसबुक पर, और इन प्लेटफॉर्म्स पर कोरोना को लेकर तमाम अफवाहें, वीडियो और तस्वीरों के माध्यम से फैलाई जा रही हैं। (इनपुट-आईएएनएस)

आयु है आपका सहायक

कोरोना वायरस को लेकर इंटरनेट पर फैली तमाम तरह की अफ़वाहों के बीच आप इस वायरस से संबंधित जानकारी के लिए आयु ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। जहां भारत के सर्वश्रेष्ठ डॉक्टर्स द्वारा स्वास्थ्य संबंधित संपूर्ण जानकारी दी गई है। ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।

end screen 1


CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (1)
  • comment-avatar
    Shashi 11 months

    Mai aaj se 5 din pahale korona mareej ke sampark me aaya tha lekin haath ko centenaaej kiya tha kitna khatra hai mujhe aur mujhe acid reflex ki bimari hai

  • Disqus ( )