Janmashtmi:जन्माष्टमी के व्रत में क्या खाएं क्या ना खाएं जिससे ना हो कमजोरी

janmashtmi

जन्माष्टमी (Janmashtmi) आने वाली है। लोगों ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस दिन मंदिरों में अलग ही रौनक देखने को मिलती है। लोग पूरी श्रद्वा और आस्था के साथ इस दिन भगवान श्रीकृष्ण की अराधना करते हैं। बहुत सारे लोग जन्माष्टमी पर उपवास भी करते हैं, पर ऐसा ना हो कि व्रत के चक्कर में आप अपनी सेहत को भूल जाएं। अगर आप व्रत रख रही हैं तो इसके लिए आप हेल्दी डाइट लें और लगातार पानी पीते रहें। 

  • व्रत के दौरान दिनभर नींबू पानी, नारियल पानी या छाछ का सेवन करते रहे। इससे आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होगी और आप पूरा दिन एक्टिव महसूस करेंगे।
  • अगर आपको कुछ मीठा खाने की क्रेविंग हो रही है तो आप गुड़ या शहद का सेवन कर सकते हैं। ऐसा करने से आपकी मीठा खाने की ख्वाहिश पूरी हो पाएगी।
  • व्रत के दौरान दिनभर दफ्तर में काम करने के साथ आपको थकान महसूस हो सकती है। आप पूरा दिन पानी पीते रहें। ऐसा करने से आपका शरीर तर रहता है साथ ही आप काम करने के साथ-साथ पूरा दिन तरोताजा महसूस करते हैं।
  • व्रत में उन फलों का सेवन करें जो ऑक्सीडेंट, फॉलेट, बीटा-कैरॉटिन, विटामिन-सी और दूसरे न्यूट्रिएंट्स से भरपूर हो। इनसे आपको एनर्जी मिलती है। आप पूरा दिन बिना कमजोरी महसूस करें दफ्तर में काम कर सकते हैं।
  • आप चाहे तो व्रत के दौरान दूध से बनी ठंडाई का सेवन करें। यह आपको तुरंत एनर्जी देता है और साथ ही यह आपके पेट के लिए भी अच्छी है।
  • अक्सर लोग व्रत खोलते समय तली चीजों का सेवन करते हैं, तली हुई चीज़ों का सेवन ना करें, क्योंकि यह आपकी पाचन क्रिया पर असर डालते हैं। हमेशा व्रत हल्की चीजों का सेवन करके खोलें।

किन लोगों को जन्माष्टमी (Janmashtmi) का व्रत नहीं करना चाहिए:

  • जिन लोगों के शरीर में खून की कमी हो या फिर जिनके खून में हीमोग्लोबिन की कमी हो।
  • जिन लोगों का ब्लड प्रेशर हाई रहता है उन्हें व्रत रखने से बचना चाहिए।
  • शुगर के पेशेंट्स व्रत ना करें।
  • दिल के मरीजों को व्रत नहीं करना चाहिए।
  • किडनी से जुड़ी परेशानी वाले लोगों को व्रत रखने से बचना चाहिए

जन्माष्टमी (Janmashtmi) में खुद को हाइड्रेट कैसे रखें?

अक्सर डॉक्टरों द्वारा सलाह दी जाती है कि खुदको हाइड्रेट रखें इसके लिए आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिएँ लेकिन ऑफिस में काम करते-करते कई बार हम पानी पीना भूल जाते हैं। अगर आपके साथ भी यह परेशानी है तो जाने कैसे आप खुद को हाइड्रेट रख सकते है।

चुकंदर खाएं: चुकंदर का जूस शरीर में अच्छे से रक्त का संचार करने के साथ ब्लड प्रेशर को भी कम करता है। बीटरूट का जूस आपको हाइड्रेट रखने के साथ-साथ शरीर में कई आवश्यक विटामिन और खनिज जैसे बी विटामिन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, और लोहे की कमी को पूरा करता है। 

नारियल पानी पिएँ: डॉक्टर अक्सर कई मरीजों को नारियल का पानी पीने की सलाह देते हैं। यह शरीर में पानी की कमी को दूर करने के साथ-साथ पोटेशियम की अच्छी मात्रा प्रदान करता हैं। 

तरबूज का जूस लें: तरबूज में 95 प्रतिशत पानी पाया जाता है। ये गर्मियों का पसंदीदा फ्रूट माना जाता है। तरबूज पानी का अच्छा स्त्रोत होने की वजह से शरीर में पानी की कमी को दूर करता है। 

छाछ पिएँ: छाछ आपकी बॉडी को हाइड्रेट रखने का सबसे अच्छा स्रोत है। यह आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के साथ यह पाचन संबंधित कई बीमारियों और एसिडिटी से राहत दिलाता है।

जन्माष्टमी के व्रत में क्या खाएं- Janmnashtmi vrat diet-

उपवास से पहले सही तरीके से भोजन करें: व्रत शुरु करने से पहले एक मुट्ठी बादाम और अखरोट का सेवन करें। इससे, आपको एनर्जी मिलेगी और आपका इम्यून सिस्टम भी स्ट्रॉन्ग बना रहेगा।

फलों का सेवन करें: डिहाइड्रेशन की समस्या से बचने के लिए फलों का सेवन फायदेमंद होता है। इसीलिए, व्रत से पहले और व्रत के दौरान फलों का सेवन करें। फल और सब्जियां जिनमे पानी की मात्रा अधिक होती है उनका सेवन करें। तरबूज़, ककड़ी और खरबूज़ जैसे फल शरीर में पानी की कमी नहीं होने देते। इसी तरह आप सेब और अमरूद जैसे फल खा सकते हैं। इन फलों से मिलने वाला फाइबर कॉन्स्टिपेशन की समस्या दूर करता है और अमरूद में विटामिन-सी होता है जो, इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाए रखता है।

दही खाएं: व्रत के दौरान पेट से जुड़ी परेशानियां होती हैं। जिनसे, राहत पाने के लिए आप दही का सेवन कर सकते हैं। दही में मौजूद प्रोबायोटिक्स पाचन तंत्र सही रखता है। इससे, एसिडिटी, गैस और पेट दर्द जैसी समस्याएं कम होती है।

जीरा पानी पिएँ: सुबह खाली पेट सबसे पहले जीरा पानी पीएं। इसके लिए 2 चम्मच जीरे के दाने एक गिलास पानी में भिगोकर रखें। इसे अगले दिन सुबह खाली पेट पिएँ। आप जीरा और पानी को एक साथ उबालकर पी सकते हैं। जीरा पेट को ठंडक देने के अलावा मेटाबॉलिज्म बूस्ट करता है। इससे, आपको सुबह एनर्जी मिलेगी और आपका पाचनतंत्र दिनभर ठीक रहेगा।

व्रत कैसे तोड़ें: व्रत तोड़ते समय अचानक से बहुत हेवी खाना खाने से आपको पेट में तकलीफें या चक्कर जैसी परेशानियाँ हो सकती हैं। व्रत तोड़ने के लिए सेमि-लिक्विड चीज़ें जैसे गुड़ या पानी या खीर का सेवन करें। उसके 15-20 मिनट बाद हल्का गर्म भोजन करें। इसके लिए लौकी का हल्वा या उबली हुई शकरकंद जैसी चीज़ें खाएं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.