Latest health updates: क्या है लॉन्ग कोविड? जानें क्या यह एक नया खतरा है, जिसकी ज्यादातर लोगों को जानकारी ही नहीं है?

long covid

कोरोना महामारी ने सारी दुनिया को प्रभावित किया है, महामारी के इस दौर में सभी को अलग- अलग तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ा है। बताया गया कि कोविड-19– सांस लेने में दिक्कत से जुड़ी बीमारी है। ज्यादातर लोग दो-तीन हफ्ते में ठीक हो जाते हैं। लेकिन, यह आधा सच है। बचा हुआ सच यह है कि सैकड़ों लोगों को कोविड-19 निगेटिव आने के कई महीनों बाद भी लक्षण महसूस हो रहे हैं।

मालूम हो, यूके के वैज्ञानिक और डॉक्टरों ने ग्लोबल कम्युनिटी को आगाह किया है कि लॉन्ग कोविड पर भी फोकस करें। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी इस पर विचार करना शुरू कर दिया है। हाल ही में यूके के नेशनल इंस्टिट्यूट फॉर हेल्थ रिसर्च (NIHR) ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि लॉन्ग कोविड एक सिंड्रोम नहीं, बल्कि चार अलग-अलग सिंड्रोम हैं।

1. जानें, क्या है लॉन्ग कोविड?

  • कोविड-19 से उबरने के बाद भी लक्षणों का लॉन्ग-टर्म अनुभव ही लॉन्ग कोविड है।
  • लॉन्ग कोविड का कॉमन लक्षण है थकान। सांस लेने में दिक्कत, खांसी, जोड़ों का दर्द, मांसपेशियों का दर्द, सुनने और देखने की समस्याएं, सिरदर्द, गंध और स्वाद न आना।
  • इसके साथ-साथ आंतों, किडनी, फेफड़ों और दिल को नुकसान भी इनसे जुड़ी समस्याएं हैं। डिप्रेशन, एंग्जाइटी और साफ सोच के लिए संघर्ष जैसी मेंटल हेल्थ समस्याएं भी सामने आ रही हैं। यह मुश्किलें किसी भी व्यक्ति की क्वालिटी ऑफ लाइफ बर्बाद कर सकती हैं।
  • लॉन्ग कोविड शब्द का इस्तेमाल पहली बार एलिसा पेरेगो (यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन की रिसर्च एसोसिएट) ने मई 2020 में अपने कोविड-19 अनुभवों को शेयर करते हुए किया था। तब से कई मरीज इस तरह के अनुभव सुना चुके हैं।

2. कोरोना वायरस की नई वैक्सीन तैयार, राष्ट्रपति पुतिन ने की घोषणा

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर लंबा इंतजार अब खत्म हो गया है। रूस ने कोरोना वायरस की नई वैक्सीन तैयार कर ली है। स्वंय राष्ट्रपति पुतिन ने कोरोना की नई वैक्सीन तैयार होने की घोषणा की है। 

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को घोषणा की कि रूस ने अपनी दूसरी कोरोना वायरस वैक्सीन रजिस्टर्ड की है। पुतिन की इस घोषणा से पहले उन्होंने अगस्त में कहा था कि रूस ने स्पुतनिक वी नामक अपनी पहली कोरोना वायरस वैक्सीन रजिस्टर्ड की है। 

नया टीका सिंथेटिक वायरस प्रोटीन का उपयोग करके एक प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को ट्रिगर करता है, जबकि स्पुतनिक वी अनुकूलित एडेनोवायरस उपभेदों का उपयोग करता है। एक वायरस जो सामान्य सर्दी का कारण बनता है।

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें ”आयु ऐप’।

Leave a Reply

Your email address will not be published.