जानें ! हाइपरटेंशन क्या है और इसके लक्षण और इलाज | Daily Health Tip | Aayu App

Side effect of high blood pressure

आपकी खराब लाइफस्टाइल हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकती है। हाई ब्लड प्रेशर से बचने के लिए आप नियमित रूप से व्यायाम करें।

Your poor lifestyle can lead to high blood pressure. To prevent it, exercise regularly.

Health Tip for Aayu App

हाइपरटेंशन के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है तो आप जानना चाहते है कि हाइपरटेंशन क्या है हाई ब्लड प्रेशर के कारण स्ट्रोक, हार्ट संबंधित बीमारियां और किडनी की खराबी हो सकती है।

लाइफस्टाइल, अनुचित आहार और तनाव मुख्य रूप से हाइपरटेंशन के कारण है। लंबे समय तक यह स्थिति बनना घातक हो सकता है और हार्ट अटैक का कारण बन सकता है। अगर 140/90 से ज़्यादा ब्लड प्रेशर हो जाता है तो वह हाई ब्लड प्रेशर माना जाता है।

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण:

  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • सीने में दर्द महससू होना
  • अचानक सिरदर्द शुरू हो जाना
  • चक्कर आना
  • नाक से खून आना
  • मूत्र में खून निकलना

हाइपरटेंशन से सबसे ज़्यादा खतरा किनको होता है?

वैसे तो हाइपरटेंशन किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन कुछ लोगों को इसका ज़्यादा खतरा होता है।

वृद्धावस्था: उम्र के साथ हमारी धमनियां (Arteries) कठोर और मोटी हो जाती है। यानि हार्ट को ज्यादा ब्लड पम्प करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, जिससे ब्लडप्रेशर बढ़ जाता है।

वजन बढ़ना: मोटे या अधिक वजन वाले लोगों में ब्लडप्रेशर का खतरा अधिक होता है।

लिंग: युवावस्था में हाई ब्लड प्रेशर पुरुषों को ज्यादा निशाना बनाता है, जबकि 50 साल की उम्र के बाद यह महिलाओं को अधिक प्रभावित करता है।

खराब लाइफस्टाइल: जीवनशैली की कुछ आदतें जैसे गलत आहार, व्यायाम की कमी, शराब और धूम्रपान हाइपरटेंशन को बढ़ाते है। 

हाइपरटेंशन से कैसे बचें?

आहार पर ध्यान दें: स्वस्थ भोजन कई समस्याओं से बचाता है हाइपरटेंशन से भी। फल, सब्जियां और अंकुरित अनाज खाने की आदत बनाएं। नमक का सेवन सीमित रखें, और ब्लडप्रेशर कंट्रोल करने के लिए पोटेशियम का सेवन बढ़ाएं।

नियमित व्यायाम करें: नियमित व्यायाम से वजन और ब्लडप्रेशर कंट्रोल रहता है। ब्रिस्क-वॉकिंग या अन्य एरोबिक एक्सरसाइज हार्ट के लिए अच्छे है। इससे हार्ट तेजी से धड़कता है और सामान्य से अधिक ऑक्सीजन का उपयोग कर सकता है।

शराब सेवन पर नियंत्रण रखें: शराब और सिगरेट हार्ट के लिए अच्छे नहीं होते है। बहुत अधिक शराब हाई बीपी के खतरे को बढ़ाता है और इससे वजन भी बढ़ता है। 

धूम्रपान ना करें: स्मोकिंग के जरिए हार्ट और फेफड़ों पर बोझ ना डालें। धूम्रपान सेहत के लिए हानिकारक है। इसका सीधा असर फेफड़ों और हार्ट पर पड़ता है साथ ही इससे ब्लड प्रेशर भी बढ़ता है।

तनाव ना लें: तनाव और चिंता मानसिक स्वास्थ्य या शारीरिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। तनाव के दौरान रक्त वाहिकाएं संकुचित हो जाती है जो हार्ट पर अतिरिक्त दबाव डालती हैं। तनाव के साथ ही अधिक खाना, नींद नहीं आना, मादक द्रव्यों के सेवन या शराब के सेवन भी हृदय रोगों के जोखिम बढ़ाते है।

हाइपरटेंशन में शामिल ना करें ये चीज़ें:

कैफीन: रोजाना आप कितनी चाय, कॉफी या एनर्जी ड्रिंक ले रहे है इसका ध्यान रखें। यह आपकी वेसल्स को सिकोड़कर ब्लड प्रेशर बढ़ा देती है। आप इसकी जगह नारियल पानी का इस्तेमाल कर सकते है।

प्रॉसेस्ड फूड्स: आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो प्रॉसेस्ड फूड्स खाने से परहेज करें। मीट, चिप्स, सोडा, कैन्ड सूप आपकी सेहत के लिए बिलकुल अच्छे नहीं होते। 

चीनी: खाने में चीनी की मात्रा कम करें। चीनी शरीर के लिए नुकसानदायक होती है। इसमें किसी तरह का न्यूट्रिशन नहीं होता, साथ ही कैलोरी में भी ज्यादा होती है। इसके लिए जो आप सप्लीमेंट की तरह इस्तेमाल कर सकते है वह डार्क चॉक्लेट या फ्रेश फ़ूड है।

नमक: हाई ब्लड प्रेशर के सभी मरीजों को सोडियम की मात्रा पर नियंत्रण करना चाहिए ज़्यादा सोडियम खाने से किडनी को नुकसान हो सकता है। ब्लड में सोडियम की ज्यादा मात्रा आपके शरीर पर बुरा असर डालती है साथ ही ब्लड प्रेशर को बढ़ाती है। पोटेशियम रिच फूड्स जैसे केला, ब्रोकली शरीर में सोडियम की मात्रा का बैलेंस करती है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.