फाइबर क्या है और शरीर में फाइबर के फायदे | | Daily Health Tips | 21 February 2020 | AAYU App

Why fibre is necessary and its benefits

आलू 🥔फाइबर का एक बड़ा स्रोत है। यह शरीर में विटामिन-C, विटामिनB6 व पोटेशियम की जरूरतों को पूरा करता है “

Potato 🥔 is good source of fibre. It helps in fulfilling the requirements of Vitamin-C, B-6 and Potassium in the body. ”

Health Tips from AAYU App

क्या है फाइबर?

अनाज, फल, पत्तेदार सब्जी, रोटी, दाल व खाद्य वस्तुओं के उस हिस्से को फाइबर कहते है, जो बिना पचे व अवशोषित हुए ही आंत के द्वारा बाहर निकल जाता है। इनके कारण पेट व आंत की सफाई आसानी से होती है।

क्या है फाइबर के फायदे

फाइबर खाने को पचने में सहायता करता है, कब्ज़ से बचाता है और पेट साफ करता है। शरीर के अंदर दूषित पदार्थो को भोजन से दूर करता है। कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और दिल की बीमारी के खतरे से बचाता है। रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है। यह पाचन क्रिया को बढ़ाता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी विकसित करता है।

फाइबर किन खाद्य पदार्थो में पाया जाता है

  • मक्का: मक्के में 4 प्रतिशत फाइबर होता है। इसलिए इसको अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करें।
  • दालें: सभी तरह की दालें और राजमा को अपनी डाइट में शामिल करें क्योंकि यह फाइबर का स्रोत है। दाल को स्प्राउट्स की तरह भी ले सकते हैं।
  • फल: फलों से ज़्यादातर पोषक तत्व मिलते हैं। अमरुद में पर्याप्त मात्रा में फाइबर मिलता है। इसके अलावा नाशपाती और सेब में भी फाइबर मिलता है। नाशपाती और सेब को छिलके के साथ खाएं।
  • ब्राउन ब्रेड: ब्राउन ब्रेड में फाइबर काफी होता है। इन्हें ब्रेकफास्ट में शामिल कर सकते हैं।
  • ब्राउन राइस: चावल फैट बढ़ाता है पर ध्यान रखें ब्राउन राइस सेहतमंद है। इन्हें आप डाइट में शामिल करें क्योंकि ब्राउन राइस में फाइबर भी पाया जाता है।

फाइबर के प्रकार:

  • सिंथेटिक फाइबर: सिंथेटिक फाइबर (Fiber) रासायनिक संश्लेषण (Chemical synthesis) के साथ मनुष्यों द्वारा बनाए गए फाइबर हैं। सिंथेटिक फाइबर स्पिनरेट्स के माध्यम से हवा और पानी में फाइबर बनाने वाली सामग्री के माध्यम से बनाए जाते हैं। जिससे धागा बनता है।
  • प्राकृतिक फाइबर: प्राकृतिक फाइबर में कोई रासायनिक परिवर्तन (Chemical changes) नहीं किया जाता है। यह प्राकृतिक रूप से होने वाले पशु फाइबर और पौधे फाइबर पर सुधार करने के लिए वैज्ञानिको (scientists) द्वारा शोध किया गया है।

फाइबर के नुकसान:

  • इसका अधिक सेवन गैस की समस्या का कारण भी बन सकता है। जब मानव आंत में जीवाणु द्वारा फाइबर (fiber) जैसे जटिल कार्बोहाइड्रेट का पाचन किया जाता है तो मीथेन गैस (methane gas) जारी होती है जिससे असुविधा उत्पन्न होती है। इसलिए फाइबर युक्त आहार का सेवन एक संतुलित मात्रा में करें।
  • फाइबर युक्त आहार के सेवन के साथ अगर बहुत अधिक मात्रा में पानी नहीं पिया जाता है तो मल त्याग में दिक्कत आती है। इसलिए जो व्यक्ति कब्ज़ (Constipation) से छुटकारा पाने के लिए फाइबर आहार (fiber) का सेवन करते हैं उन्हें अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए।
  • जिन लोगों को सेलेक रोग है या गेहूं एलर्जी है वह फाइबर युक्त खाद्य पदार्थो वाले सेवन से बचें। फाइबर (fiber) इन समस्याओं को और गंभीर बनता है।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.