Coronavirus: वायरस के इन लक्षणों को ना करें नज़रअंदाज़, ऐसे रहें सुरक्षित

दुनिया भर के वैज्ञानिक इसके इलाज की दवा खोजने में लगे है, लेकिन अभी तक कोई कारगर खोज नहीं हो सकी है। विश्व के 81 से अधिक देश इस प्राणघातक वायरस की चपेट में हैं। हालांकि इस बीमारी के लक्षण और बचने के तरीकों के बारे में दुनिया प्रचार-प्रसार में जुटी है, ताकि लोग इसकी चपेट में आने से बच सकें। चीन के डॉक्टर इस बीमारी से ठीक हो चुके लोगों के प्लाजमा का इस्तेमाल अन्य मरीजों के उपचार में कर रहे हैं। कोरोनावायरस से बचने के लिए न्यूयॉर्क सिटी हेल्थ स्पेशल पाइथागोनस एक्सपर्ट सिरा मिदाद का कहना है कि लोगों को कम से कम 20 सेकंड तक हाथ धुलना चाहिए। 

कोरोनावायरस क्या है? 

  • कोरोनावायरस अब तक खोजे गए 6 सबसे खतरनाक वायरस में से एक है। कोरोनावायरस नए किस्म का वायरस है, जो इंसानों को संक्रमित करता है लेकिन उन्हें पता नहीं चल पाता।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (W.H.O) के मुताबिक, यह सार्स वायरस जितना खतरनाक है। चीन-हॉन्गकॉन्ग में 2002 में सार्स के संक्रमण से 8 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हुए थे जबकि 1,425 की मौत हो गई थी।
  • कोरोनावायरस खास किस्म के वायरस का समूह है, जो विशेषतौर पर जानवरों में पाया जाता है। इसे वैज्ञानिक ‘जूनोटिक’ कहते हैं, जिसका मतलब है दुर्लभ स्थिति में यह जानवरों से निकलकर इंसानों को संक्रमित कर सकता है।

कोरोनावायरस के संक्रमण का कैसे पता करें? 

इसके लक्षण आमतौर पर सर्दी-जुकाम जैसे दिखते हैं। कफ, गले में सूजन, सिरदर्द, कई दिनों तक तेज बुखार और सांस लेने में दिक्कत हो तो यह कोरोनावायरस के संक्रमण के लक्षण हो सकते हैं। ऐसे में सतर्क होने की जरूरत है। विशेषज्ञ से सलाह लें।

कैसे फैलता है यह वायरस ?

जानवरों के संपर्क में आने वाले इंसानों को यह वायरस संक्रमित करता है। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, यह जुकाम, छींक और हाथ मिलाने से भी फैल सकता है। इसके अलावा संक्रमित मरीज के संपर्क में आने पर इसका खतरा ज्यादा रहता है। 2011 में हुई रिसर्च के मुताबिक, कुत्ते और बिल्ली में कोरोनावायरस का संक्रमण आसानी से होता है। ये जानवर इंसानों के आसपास होने के कारण वायरस फैलने का खतरा रहता है।

कोरोना से डरो ना, डॉक्टर्स ने किया कंफर्म …तो स्वास्थ्य मंत्री ने दी सलाह

कोरोना से बचाव के उपाय

  • दिन में कई बार साबुन से 20 सेकंड हाथ धोएं। 
  • खाने से पहले, बाथरुम के बाद, नाक छूने, छींक व खांसी आने पर हाथ धोएं
  • बुखार, जुकाम से पीड़ित लोगों से 2 से 3 फीट की दूरी पर रखें।
  • हाथ मिलाने की जगह नमस्कार करें।
  • जुकाम और खांसी होने पर मास्क पहनें।
  • टिश्यू पेपर को इस्तेमाल करने के बाद तुरंत डस्टबिन में फेंक दें। 
  • भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचें।

कोरोना वायरस के सामान्य लक्षण

  • बुखार
  • जुकाम
  • खांसी और कफ, 
  • मांसपेशियों में दर्द
  • कमजोरी

कोरोनावायरस से संक्रमित पाए जाएं तो…

  1. वर्तमान में कोरोना वायरस का कोई इलाज नहीं है लेकिन इसमें बीमारी के लक्षण कम होने वाली दवाइयां दी जा सकती हैं।
  2. जब तक आप ठीक न हो जाएं, तब तक आपको दूसरों से अलग रहना होगा।
  3. कोरोना वायरस के इलाज़ के लिए वैक्सीन विकसित करने पर काम चल रहा है। उम्मीद है कि साल के अंत तक इंसानों पर इसका परीक्षण कर लिया जाएगा।
  4. कुछ अस्पताल एंटी-वायरल दवाओं का भी परीक्षण कर रहे हैं।

SARS और Coronavirus में अन्तर

आमतौर पर वायरस कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले इंसानों को संक्रमित करते हैं। इनमें खासतौर पर बच्चे और बुजुर्ग शामिल होते हैं। वायरस का संक्रमण निमोनिया, ब्रॉन्काइटिस की तरह सांस में नली में सूजन के रूप में दिखता है। 

कुछ चुनिंदा कोरोनावायरस ऐसे हैं जो इंसानों के लिए काफी खतरनाक माने जाते हैं। जैसे मिडिल ईस्ट रेस्पिरेट्री सिंड्रोम (MERS) का कारण बनने वाला MERS वायरस। और सीवियर एक्यूट रेस्पिरेट्री वायरस (SARS)। इसलिए आसान भाषा में कहें तो सार्स भी एक तरह का कारोनावायरस है लेकिन नया वायरस थोड़ा ज्यादा खतरनाक है।

SARS वायरस सबसे पहले सांस की नली को प्रभावित करता है। जिसके कारण मरीज को सांस लेने में तकलीफ, थकान, डायरिया और गंभीर स्थिति किडनी फेल होने की स्थिति भी बन सकती है।

आयु है आपका सहायक

कोरोना वायरस को लेकर इंटरनेट पर फैली तमाम तरह की अफ़वाहों के बीच आप इस वायरस से संबंधित जानकारी के लिए आयु ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। जहां भारत के सर्वश्रेष्ठ डॉक्टर्स द्वारा स्वास्थ्य संबंधित संपूर्ण जानकारी दी गई है। ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.