ब्रेन स्ट्रोक क्या होता है?, लक्षण और उपचार | What is Brain Stroke in Hindi

what is brain stroke

ब्रेन स्ट्रोक यानि मस्तिष्क में रक्त का प्रवाह बाधित होना व हैमरेज यानि रक्त कोशिकाओं का फटना। कई बार लोग ब्रेन स्ट्रोक को ब्रेन हेमरेज समझ लेते है ब्रेन हेमरेज मस्तिष्क को रक्त पहुँचाने वाली नलिकाओं का फटना है। ब्रेन स्ट्रोक जानलेवा होता है जिसे ब्रेन अटैक भी कहते है।

आइये आपको इस आर्टिकल में बताते है ब्रेन स्ट्रोक क्या होता है? (What is Brain Stroke), ब्रेन स्ट्रोक के लक्षण (Brain Stroke Symptoms), ब्रेन स्ट्रोक का उपचार (Brain Stroke Treatment), ब्रेन स्ट्रोक से बचाव कैसे करें? (How to prevent from Brain Stroke), ब्रेन स्ट्रोक से बचने के लिए किन फूड्स से बनाए दूरी (To prevent Brain Stroke which foods to avoid) और ब्रेन स्ट्रोक से बचने के लिए किन फूड्स का सेवन करें (To prevent Brain Stroke which foods to be taken)।

ब्रेन स्ट्रोक क्या होता है?: What is Brain Stroke in Hindi:

कई रक्त नलिकाएँ हृदय से मस्तिष्क तक रक्त पहुँचाती है। इनमें खून का थक्का जमने या रक्त संचार बाधित होने पर ब्रेन स्ट्रोक की स्थिति बनती है।

ब्रेन स्ट्रोक के लक्षण: Brain Stroke Symptoms in Hindi:

  • अचानक संवेदना शून्य हो जाना
  • चेहरे के एक भाग में कमजोरी आ जाना
  • हाथ या पैर में व विशेष रूप से शरीर के एक भाग में कमजोरी आना
  • समझने या बोलने में दिक्कत होना
  • एक या दोनों आँखों की क्षमता प्रभावित होना
  • चलने में परेशानी होना
  • चक्कर आना
  • अचानक तेज सिरदर्द होना।

ब्रेन स्ट्रोक का उपचार: Brain Stroke Treatment in Hindi:

इसके शुरुआती लक्षणों को टीआईए (ट्रांजिंट इस्किमिक अटैक) कहा जाता है। यह अस्थायी होते है लेकिन लापरवाही से स्थिति गंभीर हो सकती है। स्ट्रोक के तीन घंटे के अंदर इलाज शुरू हो जाए तो दवाओं से क्लॉटिंग खत्म की जा सकती है। ऐसे मरीजों को खून के थक्के गलाने वाला इंजेक्शन दिया जाता है। स्ट्रोक के तीन घंटे के भीतर जो इलाज उपलब्ध करवाते है उसे ‘गोल्डन पीरियड’ कहते है।

ब्रेन स्ट्रोक से बचाव कैसे करें? How to prevent Brain Stroke in Hindi:

  • एक्सरसाइज करें
  • वजन नियंत्रित करना
  • हेल्दी डाइट से इसे रोका जा सकता है
  • धूम्रपान व शराब से बचें
  • ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखें
  • महिलाओं में हार्मोन का असंतुलन होना
  • गर्भावस्था या गर्भ निरोधक गोलियाँ लेने वाली महिलाओं में ब्रेन स्ट्रोक का खतरा अधिक होता है

ब्रेन स्ट्रोक से बचने के लिए किन फूड्स से बनाए दूरी: To prevent Brain Stroke which foods to avoid in Hindi:

रेड मीट (Red Meat):

रेड मीट या अन्य मीट का सेवन करना स्ट्रोक के जोखिम को 10 फीसदी तक बढ़ा देता है। मीट में आयरन की अच्छी मात्रा होती है, जो स्वास्थ्य के अन्य स्थितियों में लाभकारी हो सकता है, लेकिन यह मस्तिष्क के खतरों को बढ़ाने का एक कारण हो सकता है। यह खून को प्रदूषित कर सकता है इसलिए इस तरह के खाद्य पदार्थों से दूरी बनाकर रखें।

बेक्ड या पैक्ड फूड्स:

चिप्स, बिस्किट, मफिन्स, केक जैसे बेक्ड और पैक्ड फूड्स में हाई ट्रांस फैट मौजूद होता है। आमतौर पर इनके इस्तेमाल में हाइड्रोजेनेटेड (Hydrogenated) तेलों का इस्तेमाल किया जाता है, क्योंकि इन्हें कमरे के तापमान पर ठोस बनाए रखना जरूरी होता है। ट्रांस फैट की अधिक मात्रा हाई कोलेस्ट्रॉल और दिल के रोगों को बढ़ाते है इसलिए प्रतिदिन सिर्फ एक या दो ग्राम की मात्रा में ही ट्रांस फैट का सेवन करें। पैक्ड या बेक्डफूड्स खरीदने से पहले उनके पैक पर लिखे गए दिशा-निर्देशों को पढ़ लें।

डाइट सोडा:

जो लोग दिनभर में सिर्फ एक डाइट सोडा पीते है, यह भी स्ट्रोक का खतरा 48 फीसदी तक बढ़ा देता है।

स्मोक्ड और प्रोसेस्ड मीट:

सॉसेज, हॉट डॉग, बेकन या स्मोक्ड टर्की सैंडविच अधिकतर लोगों का पसंदीदा फास्ट फूड होता है हालांकि, इनका सेवन मस्तिष्क के दौरे का सबसे बड़ा कारण हो सकता है।

ब्रेन स्ट्रोक से बचने के लिए किन फूड्स का सेवन करें: To prevent Brain Stroke which foods to be taken in Hindi:

  • बटर की जगह लाइट या डाइट मार्जरीन का इस्तेमाल करें
  • लो-फैट या नॉनवेज खाएं
  • क्रीमर की जगह नॉनफैट क्रीमर का सेवन करें
  • 1 फीसदी फैट या नॉनफैट दूध पिएँ
  • क्रीम पनीर की जगह लो फैट या नॉनफैट क्रीम पनीर खाएं
  • रेगुलर आइसक्रीम की जगह नॉनफैट या लो फैट वाला दही या शर्बत पिएँ
  • क्रीम सॉस की जगह जैतून तेल युक्त सॉस का इस्तेमाल करें

स्ट्रोक कैसे पहचाने?

S- Smile: बेहोशी से उठे व्यक्ति को स्माइल करने के लिए कहें

T- Talk: व्यक्ति से कुछ आसान वाक्‍य बोलने के लिए कहें

R- Raise: व्यक्ति से दोनों हाथ ऊपर उठाने के लिए कहें

ये तीन बातें बहुत महत्वपूर्ण है और इन तीनों चीजों को करने में व्यक्ति को अगर थोड़ी-सी भी तकलीफ हो रही है तो जल्दी एंबुलेंस बुलाएं। इसके अलावा व्यक्ति को जीभ बाहर निकालने के लिए कहें। अगर जीभ किसी एक तरफ मुड़ी हुई है तो समझ लीजिए कि यह स्ट्रोक का लक्षण है।

दूसरा फॉर्मूला BE FAST है।

BE FAST का मतलब:

B- Balance अगर व्यक्ति शरीर का बैलेंस खो देता है

E- Eyes अगर व्यक्ति को एक या दोनों आँखों से दिखना बंद हो जाता है

F- Face अगर व्यक्ति का चेहरा सीधा ना दिखाई दे

A- Arms अगर बाहें कमजोर लग रही हों

S- Speech अगर बोलने में परेशानी हो रही हो

T- Time समय खराब नहीं करते हुए तुरंत एंबुलेंस बुलाएं या हॉस्पिटल पहुँचे

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐपडाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.