डायबिटीज को कम करने के तरीके | Daily Health Tip | Aayu App

what is diabetes

अगर आप डायबिटीज से ग्रसित है तो आप तनावमुक्त रहने की कोशिश करें।

If you are suffering from diabetes try to live stress free.

Health Tips for Aayu App

मोटापा ना सिर्फ डायबिटीज का कारण बनता है, बल्कि यह अन्य स्वास्थ्य समस्याओं जैसे हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल का बढ़ा हुआ स्तर और हृदय रोग आदि होने के खतरे को भी बढ़ा देता है। डायबिटीज हो जाने के बाद इसे खत्म कर पाना बहुत मुश्किल है। लेकिन अपने वजन को नियंत्रित करके और जीवनशैली में बदलाव लाकर आप अपना जीवन अच्छे से काट सकते है।

लाइफ स्टाइल में बदलाव: जीवनशैली में बदलाव करने का मतलब अपनी लाइफस्टाइल में पूरी तरह से बदलाव करना नहीं है। इसका सही मतलब अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में ऐसी आदतें शामिल करें, जो ना सिर्फ डायबिटीज को नियंत्रण में रखता है, बल्कि आपके स्वास्थ्य को हर तरह से बेहतर बनाता है।

तनावमुक्त रहने की कोशिश करें: जब हम तनावग्रस्त होते है तो शरीर में कुछ ऐसे हार्मोंस प्रवाहित होते है, जो रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) के स्तर को बढ़ाते है। इसके अलावा तनाव की स्थिति में लोग अक्सर व्यायाम करना, अपने आहार का ध्यान रखना या अपनी दवाएं लेना भूल जाते है। इस कारण से भी रक्त शर्करा अनियंत्रित हो जाती है। इसलिए तनाव दूर करने के तरीके खोजना आवश्यक है। व्यायाम के साथ योग व मेडिटेशन मानसिक तनाव को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

धूम्रपान ना करें: डायबिटीज से आपको हृदय रोग, नेत्र रोग, स्ट्रोक, किडनी की बीमारी, रक्त वाहिका रोग, और पैर से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं होने की संभावना रहती है। धूमपान करने से इन समस्याओं के होने की आशंका बढ़ जाती है, क्योंकि धूमपान से कैंसर के अलावा शरीर में खून की नलिकाएं भी अवरुद्ध होती है। धूमपान के कारण व्यायाम करने में कठिनाई होती है।

मादक पदार्थों से दूर रखें: यदि आप किसी प्रकार के मादक पदार्थों का सेवन करते है तो इससे रक्त शर्करा को नियंत्रित करना मुश्किल हो जाता है। मादक पदार्थ आपकी रक्त शर्करा को बढ़ा सकते है और कम भी कर सकते है।

नियमित रूप से डॉक्टर से परामर्श लें: अपने डॉक्टर से नियमित रूप से परामर्श करना जरूरी है ताकि वे आपकी दवाओं की डोज को सही रूप से निर्धारित कर सकें।

ज़रूरी है व्यायाम: नियमित रूप से व्यायाम करने से शरीर में अनावश्यक फैट बढ़ जाता है और इंसुलिन बेहतर तरीके से काम कर पाती है। इसलिए डायबिटीज के नियंत्रण के लिए व्यायाम बहुत जरूरी है, परंतु डायबिटीज से ग्रस्त व्यक्तियों को व्यायाम संबंधी बातों का ध्यान रखना अनिवार्य है। व्यायाम नियमित रूप से करें। आप एक बार में 40 से 45 मिनट तक व्यायाम कर सकते है। डायबिटीज में खाली पेट व्यायाम करने से शुगर कम होने (हाइपोग्लाइसीमिया) की संभावना बढ़ जाती है इसलिए व्यायाम करने से पहले फल या बादाम, अखरोट का सेवन कर सकते है।

आहार ऐसा रखें: चीनी का अधिक मात्रा में सेवन करने से डायबिटीज की समस्या उत्पन्न होती है, परंतु डायबिटीज का एक मुख्य कारण है हमारी डाइट में पोषक तत्वों का असंतुलन होना इसलिए पौष्टिक आहार डायबिटीज के नियंत्रण में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। डायबिटीज में खाने की मात्रा, खाने की गुणवत्ता एवं खाने के समय का ध्यान रखना अनिवार्य है। खाने में रिफाइंड अनाज व चिकनाई (वसा) की मात्रा काफी अधिक होती है इसलिए इस पर नियंत्रण रखना जरूरी है। 

इन सुझावों पर ध्यान दें:

  • खाने में रेशायुक्त खाद्य पदार्थों को वरीयता दें। साबुत अनाज जैसे दलिया, ओट्स, रागी, जौ और चोकरयुक्त आटे का सेवन लाभदायक होता है।
  • तेल, घी का उपयोग कम मात्रा में करना चाहिए अथवा तेल को नियमित रूप से बदलते रहना चाहिए।
  • हमारे खाने में सब्जियों और प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों का खास अभाव होता है। इसलिए हरी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए अथवा खाने में दाल, चना, छोला, दूध , दही, अंडा जैसे प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों को भी नियमित रूप से शामिल करें। खाने में संतुलन स्थापित करने के लिए अपनी खाने की प्लेट का आधा हिस्सा फाइबर युक्त सब्जियों से भरें, एक चौथाई हिस्सा प्रोटीन और एक चौथाई हिस्सा कार्बोहाइड्रेट युक्त अनाज से भरें।
  • बीच के समय में चाय के साथ बिस्कुट, नमकीन जैसे पैकेज्ड खाद्य पदार्थ खाने की बजाय पौष्टिक चीजें जैसे फल, भुना चना, अंकुरित दाल या चना आदि का सेवन फायदेमंद होता है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.