टूटी हड्डी जोड़ने के लिए अपनाएं ये आसान घरेलू उपाय और परहेज़

what not to eat while crack in musckes

हड्डी हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है। अपने शरीर को फिट रखने के लिए हड्डियां मजबूत होनी चाहिए लेकिन कई बार हमारे खाने पीने की चीज़ों में मिलावट या हमारी कुछ गलत आदतों से शरीर को जरूरी पोषक तत्व नहीं मिलते जो हड्डियां कमजोर होने की वजह बन सकती है। हड्डियों में फ्रैक्चर कई बार हड्डियों में लचीलापन कम होने के कारण या हड्डी में चोट लगने के कारण हो सकता है। छोटे बच्चों की हड्डियां नाजुक होती है जिस वजह से उनको फ्रैक्चर होने की संभावनाएँ ज्यादा होती है। इसलिए हमे जानना चाहिए हड्डी टूटने पर परहेज किन चीज़ों का होना चाहिए

वैसे देखा जाए तो आप अपने आप हड्डियों का ट्रीटमेंट नहीं कर सकते उनके लिए स्पेशलिस्ट डॉक्टर की जरूरत ही पड़ती है लेकिन कुछ चीज़ों का ध्यान रखकर आप इस परेशानी को बढ़ने से रोक सकते है। इस लेख में हम जानते है हड्डियों के जोड़ने के घरेलू नुस्खे, दवा आदि। सबसे पहले सवाल आता है हड्डी की चोट को पहचाने कैसे।

हड्डी के चोट की पहचान:

हाथ, पैर की हड्डी खिसक जाने पर उस जगह टेढ़ापन जैसा दिखता है। चोट लगने वाली जगह पर आसपास खून जमा होता है और सूजन आने लगती है। जिस जगह फ्रैक्चर होता है वह अंग लटक जाता है और नीला पड़ जाता है और उसमे महसूस करने की क्षमता कम हो जाती है।

हड्डी फ्रैक्चर होने पर क्या करें:

अगर किसी कारण से आपकी हड्डी फ्रैक्चर हो जाए तो आप उसे किसी तरह का सहारा दे और हिलने ना दे। हड्डी के हिलने पर दर्द ज्यादा होता है और हड्डी के टुकड़े दूर हो जाते है। हड्डी को सहारा देने के लिए ठोस चीज़ का इस्तेमाल करें जैसे कोई लकड़ी या पाइप। कंधे की हड्डी के टूटने पर किसी कपड़े या पट्टी से कंधे को सहारा दें और हाथ की हड्डी टूटने पर छाती के साथ हाथ को बाँध कर सहारा दें। घुटना, जांघ या पैर की हड्डी टूटने पर किसी तकिये या लकड़ी का इस्तेमाल करें। अगर हड्डी टूटने के बाद बाहर दिखें तो उसपर धूल मिट्टी पड़ सकती है जिससे इंफेक्शन का ख़तरा ज्यादा हो सकता है।

हड्डी जोड़ने के घरेलू उपाय:

  • दो चम्मच देसी घी, एक चम्मच पुराना गुड़ और एक चम्मच हल्दी को मिलाएं। फिर उसे एक कप पानी में उबालें और पानी आधा रह जाने पर ठंडा होने पर पिएँ। इससे हड्डी तेजी से जुड़ती है।
  • एक चम्मच हल्दी, एक पीसे हुए प्याज में मिलाकर साफ़ कपडे में बाँधे। इस कपडे को तिलों के तेल में गर्म करें और चोट वाली जगह पर सिकाई करें।
  • टूटी हड्डी को सहारा देते वक़्त इस बात का ध्यान रखें की हड्डी को ज्यादा ना कसें, इससे खून का प्रवाह रुक जाएगा जिससे परेशानी बढ़ सकती है।
  • शरीर में किसी भी जगह हड्डी पर घाव हो जाने पर इसका उपचार करना ज़रूरी है। हड्डी टूट जाने पर जख्म को अच्छे से वॉश करें और दवा लगाएँ।
  • चोट लगने पर हड्डी का टुकड़ा अलग होकर निकल जाएँ तो इस टुकड़े को आप फेंके नहीं, इसे साफ़ करके किसी कपड़े में बाँध कर चोट लगने वाले व्यक्ति को जल्द से जल्द हॉस्पिटल भेजें।

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

हड्डियों के लिए जरूरी है कैल्शियम:

हड्डियों के विकास और इलाज के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी है। शरीर में कैल्शियम ना बनने या कम होने की वजह से सूजन और हड्डियों के रोग होने की आशंका ज्यादा होती है। अगर आप टूटी हुई हड्डियों को जल्दी जोड़ना चाहते है तो कैल्शियम वाली चीज़ों का सेवन करें। अगर आप नॉन वेग खाते है तो मछली खाएँ।

कैल्शियम हरी पत्तेदार सब्जियों में अधिक होता है। दूध से बनी हुई चीज़ों और दूध में कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता है, जैसे पनीर, दही। प्रेगनेंसी के समय महिलाओं को हड्डियां मजबूत करने के लिए कैल्शियम की ज़रूरत ज्यादा होती है।

शरीर में कैल्शियम को पचाने के लिए विटामिन-डी की आवश्यकता ज्यादा पड़ती है। इसलिए पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करें।

हड्डी टूटने पर परहेज किन चीज़ों का करें:

  • अधिक नमक का सेवन ना करें। नमक सिमित मात्रा में खाना चाहिए, क्योंकि इसकी ज्यादा मात्रा होने से हड्डियां कमजोर होने लगती है। नमक में सोडियम की मात्रा अच्छी होती है, जो कि यूरिन के जरिए कैल्शियम को बाहर निकाल कर फेंकती हैं। इसलिए हड्डी टूटने पर नमक ना खाएँ।
  • चॉकलेट खाना हर किसी को पसंद होता है। कई बार पसंद होने की वजह से लोग इसे जरूरत से ज्यादा खाते है। इससे आपकी हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। चॉकलेट खाने से आपके बॉडी में कैल्शियम प्रवेश नहीं कर पाता, हो सके तो इसका सेवन बिलकुल ना करें।
  • चाय और कॉफी भी हर किसी को पसंद होती है, लेकिन यह आपकी बॉडी को हार्म पहुँचाता है। इसलिए आप इसका सेवन ना करें। चाय और कॉफी में बहुत ज्यादा कैफीन होता है, जो कि आपकी हड्डियोंं को खोखला कर सकता है, जिससे आपकी हड्डियां कमजोर हो जाती हैं।
  • कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन गर्मियों में बहुत किया जाता है, लेकिन इसका सेवन जरूरत से कम करना चाहिए क्योंकि कोल्ड ड्रिंक्स में कार्बन डाई ऑक्साइड और फास्फोरस होता हैं, जो कि हड्डियोंं के लिए हानिकारक होता है, इसलिए आप कोल्ड ड्रिंक का सेवन ना करें। यह हड्डियों को कमजोर कर देता है।

हड्डी जोड़ने की दवा:

हड़जोड़ एक तरह की हड्डी जोड़ने की जड़ी बूटी है जो टूटी हड्डी को जोड़ने और शरीर को रोगों से बचाने में मददगार है। हड़जोड़ आयुर्वेदिक दवा को लेप बनाकर या पानी से दो तरीके से ले सकते है। अब आप जानना चाहते होंगे हड्डी को जल्दी जोड़ने के लिए हड़जोड़ का इस्तेमाल कैसे करें।

हड़जोड़ की जड़ी बूटी सूखा कर इसमें उड़द की दाल मिलाएँ और पीस कर इसका पेस्ट बनाएँ। हड्डी टूट जाने पर इस लेप को लगाएँ और साफ़ कपड़े से बाँधें। इस लेप को दो दिन में फिर से लगाएँ। एक महीने तक लगातार इस उपाय को करने से हड्डियों में तेजी से सुधार दिखेगा।

हड्डी को जोड़ने के अलावा हड़जोड़ हड्डियों के दर्द के इलाज में भी असरदार है। हड़जोड़ का रस घी के साथ सेवन करें इससे आपको तेजी से फायदा मिलेगा।

हड्डी मजबूत करने के उपाय:

  • रोजाना योग या एक्सरसाइज करें।
  • कॉफ़ी और चाय की जगह दूध पिएँ।
  • किसी भी तरह के सप्लीमेंट ना खाएँ, हरी सब्जियां खाएँ।
  • सुबह थोड़ी देर सूर्य की रोशनी में बैठें इससे आपको विटामिन-डी मिलेगा।
  • प्याज और लहसुन में मिलने वाला सल्फर हड्डियों को मजबूत करता है।
  • डिब्बा बंद पेय पदार्थ और कोल्ड ड्रिंक्स से परहेज करें। ये हड्डियों को खोखला कर देती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.