fbpx

मस्से होने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय

मस्से होने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय

शरीर में होने वाले मस्से भले ही तकलीफदेह नहीं होते है ,लेकिन देखने में थोड़ा अजीब लगते हैं. मस्से कई तरह के हो सकते हैं यह दिखने में और बनावट में भी भिन्न हो सकते हैं. मस्से फैलाने वाला वायरस जूतों और तौलियों से त्वचा के स्पर्श के जरिये फैल सकता हैं. ज्यादातर मामलों में मस्से कुछ समय के बाद ख़त्म हो जाते हैं. आइए जानते है मस्से से निजात पाने के घरेलू उपाय के बारे में…

क्या होता है मस्सा? | What is Warts?

मस्सा पिगमेंट कोशिकाओं के समूह होते हैं, जो काले-भूरे रंग के होते हैं. आमतौर पर यह नुकसानदायक नहीं होते, लेकिन समय पर इनका इलाज न कराया जाए तो ये कैंसर का रूप ले सकते हैं. कुछ मस्से आनुवांशिक होते हैं तो कुछ अधिक धूप में रहने के कारण हो जाते हैं. कुछ ऐसे होते हैं, जो उत्पन्न होकर अपने आप समाप्त हो जाते हैं. मस्से के काटने या फोड़ने पर इनके शरीर के अन्य हिस्सों में होने की आशंका बनी रहती है. कभी-कभी मस्से का वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति की त्वचा को प्रभावित कर सकता है.

masse 01 1

मस्से का कारण | Cause of Warts

यह ह्यूमन पैपिलोवाइरस (HPV) वायरस के कारण उत्पन्न होते हैं जो बहुत संक्रामक और प्रत्यक्ष संपर्क द्वारा फैलता है. आप अपने वार्टस को छूने और उसके बाद अपने शरीर के दूसरे हिस्से को छूने भर से ही खुद को नये सिरे से संक्रमित कर सकते हैं. तौलिया या निजी उपयोग की दूसरी चीजों को मिल बांटकर इस्तेमाल करने से यह एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे में पहुंच सकता है. प्रत्येक व्यक्ति एचपीवी के खिलाफ अपने इम्यून सिस्टम की मज़बूती के अनुसार प्रतिक्रिया करता है. कुछ लोगों में मस्से की संभावना ज़्यादा होती है जबकि अन्य इस वायरस से प्रतिरक्षित रहते हैं.

मस्से का लक्षण | Symptoms of Wart

  • यह खुरदुरी सतह वाला गुमड़ा सपाट और मुलायम भी हो सकते हैं.
  • इसका रंग त्वचा के रंग का, भूरा, गुलाबी या सफेद भी हो सकता है.
  • इनके कटने-छिलने या निकालने की स्थिति में इनमें खारिश और खून बहने की स्थिति हो सकती है.
  • मस्से में रक्त वाहिनियों द्वारा खून और पोषक तत्व सप्लाई किये जाते हैं जो काले बिंदुओं सी दिखती हैं.
aayu 1.1 1
किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए आज ही “Aayu” ऐप डाउनलोड करें

मस्से का घरेलू उपचार | Home remedies of Wart

केला

केला ही नहीं इसके छिलकों के भी बेशुमार फायदे हैं. सेहत बनाने के साथ इसका छिलका आपकी खूबसूरती में भी चार चांद लगा सकता है. केले के छिलके में मस्से को सुखाने की क्षमता होती है. इसके लिए रात को मस्से वाली जगह पर केले के छिलके को रखकर उस पर कपड़ा बांध लें. ऐसा तब तक करें जब तक मस्सा साफ न हो जाए.

सोडा

मस्सा हटाने के लिए एक चम्मच बेकिंग सोडा में कुछ बूंदें कैस्टर ऑइल डालकर इस पेस्ट को मस्से पर लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें. चेहरे को एक घंटे बाद धो लें. एक महीने में आपको मस्सों की परेशानी से निजात मिल जाएगी.

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

consultation

लहसुन

लहसुन में पाए जाने वाले एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण त्वचा से मस्से हटाने में मदद करते हैं. मस्से हटाने के लिए लहसुन की दो कलियां लेकर उनका पेस्ट बना लें. इस पेस्ट को मस्से पर एक घंटे तक लगाकर रखें. थोड़ी देर बाद त्वचा को पानी से धो लें. दिन में दो बार इस उपाय को करें.

पपीता

एक कच्‍चे पपीते की सतह पर हल्‍के कट लगाकर उससे निकलने वाले पौधे के रस (white sap) या जिसे हम पपीता का दूध भी कह सकते हैं उसे इक्‍हठ्ठा करें. इस गाढ़े दूध में कुछ मात्रा में पानी मिलाकर इसे मस्‍से पर लगाएं. बेहतर परिणामों के लिए आप इसे 2 सप्‍ताह तक उपयोग करें. यह आपकी त्‍वचा से मस्‍से को दूर करने में मदद करेगा.

एलोवेरा

आप एलोवेरा जेल की थोड़ी सी मात्रा कपास में लें और इसे मस्‍से के ऊपर थोड़ी देर के लिए रखें. इस प्रक्रिया को दिन में कम से कम 5-7 बार दोहराएं. आपको कुछ ही सप्‍ताह में मस्‍से के आकार में कमी देखेगी. यह तरीका बहुत ही आसान और सस्‍ता है जो हल्के मस्‍से को दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलू उपायो में से एक है. आप इसका लाभ ले सकते हैं.

Aayu है आपका सहायक

यदि आप भी मस्से की समस्या से परेशान हैं तो अभी घर बैठे स्पेशलिस्ट डॉक्टर से “Aayu” ऐप पर परामर्श लें . Aayu ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गयी बटन पर क्लिक करें.

आप हमारे टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 781-681-1111 पर भी कॉल कर सकते हैं और एक्सपर्ट डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं. याद रहे की लक्षण गंभीर होने पर घरेलु इलाजों पर निर्भर न रहें और जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लें.

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (1)
  • comment-avatar
    Mansi 8 months

    Agar swarpeti pe masse ho to kese dur kare

  • Disqus (0 )