व्रत में कुट्टू का आटा खाने से पहले ध्यान रखने वाली बातें | Daily Health Tip | Aayu App

kuttu ka aata

व्रत में कुट्टू के आटे का हलवा, पूरी या पकोड़े तलकर खाते हैं तो यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए कुट्टू के आटे की रोटी, इडली और डोसा बनाकर खाएं क्योंकि इन्हें बनाने में अधिक घी या तेल नहीं लगता है और इनसे आपकी सेहत को नुकसान भी नहीं पहुंचता है।

In fast, eating kuttu flour puri or pakoras could harm your health. Therefore, eat kuttu flour bread, idli, and dosa as it does not require much ghee or oil and it does not harm your health.

Health Tip for Aayu App

व्रत में में खाने के लिए बहुत कम विकल्प मौजूद होते है, उन्हीं में से एक कुट्टू का आटा है। इसे ज्यादातर व्रत में ही खाया जाता है , इससे कई तरह के पकवान बनते है जैसे पूरी, पकोड़े, परांठे आदि। कुट्टू के आटे से बनी चीजें व्रत में आपकी भूख तो शांत कर देती है, लेकिन अगर इसे खरीदते समय कुछ सावधानियां नहीं बरतीं जाएं, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित होता है।

कुट्टू का आटा के फायदे:

अगर आपकी हड्डियां कमजोर हैं, तो कुट्टू का आटा आपके लिए फायदेमंद है क्योंकि कुट्टू के आटे में मैगनीज पाया जाता है। जिससे हड्डियों से जुड़ी बीमारियों यानि ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम होता है।

अगर आपके बाल पतले और रूखे हो गए हैं, तो आप कुट्टू का आटा का सेवन करें। इससे आपके बाल जड़ों से मजबूत होते है क्योंकि कुट्टू में प्रोटीन के अलावा बी काम्प्लेक्स भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

अगर आपको सांस की बीमारी या अस्थमा की बीमारी हैं, तो कुट्टू का आटा आपके लिए उपयोगी है क्योंकि इससे शरीर में ऑक्सीजन का स्तर अच्छा होता है। जिससे सांस की बीमारी से निजात मिलती है।

कुट्टू के आटे से शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। यह ब्लड प्रेशर से जुड़ी समस्याओं से निजात देता है। इसके अलावा कुट्टू के आटे में मौजूद फाइबर और मैग्नीशियम शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल यानि गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है।

कुट्टू का आटा खाने से पहले ध्यान रखने वाली बातें:

  • कूट्टू का आटा खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह आटा बहुत ज्यादा समय से रखा हुआ या पुराना ना हो।
  • कुट्टू का आटा छूकर देखें, यह खुरदुरा नहीं होना चाहिए और ना ही इसमें बीच-बीच में काले दाने नजर आने चाहिए, क्योंकि ऐसा होने का मतलब है कि इसमें फंगस है।
  • कुट्टू का आटा लेते समय इस बात को अच्छी तरह जाँचे कि इसमें कीड़े ना हों। कई बार आटे में सफेद रंग के इतने छोटे-छोटे कीड़े होते हैं, कि आप इन्हें आसानी से देख नहीं पाते।
  • बाजार से कुट्टू का आटा खरीदते समय खुला आटा लेने से बचें, इसकी जगह पैकेट में बंद आटा खरीदें क्योंकि इसमें फंगस लगने की संभावना कम होती है।
  • आटे का इस्तेमाल करते वक्त इसे छानना बिल्कुल ना भूलें, ताकि इसमें अगर कुछ बिना काम के तत्व हो तो वह बाहर निकाले जा सकें।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.