विटामिन ई के स्रोत, फायदे और नुकसान | Daily Health Tip | 23 February 2020 | AAYU App

vitamin E sources, benefits and side effects

विटामिन-E ठण्ड में त्वचा को रूखी होने से बचाता है। साथ ही त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाता है। विटामिन-E, पालक, नट्स, बादाम में भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। “

Vitamin E helps in nourishing our skin. It helps soften the skin and provides natural glow. Vitamin E is found in spinach, nuts and almond in abundance.

विटामिन-ई का क्या काम है:

शरीर के लिए सभी विटामिन्स अपनी -अपनी भूमिका रखते हैं। लेकिन कुछ ऐसे विटामिन्स होते हैं जिनकी खास भूमिका होती है। यह विटामिन हमारे सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए उपयोगी हैं। यह एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह भी काम करता है।

विटामिन ई के फायदे:

  • विटामिन ई का उपयोग सौन्दर्य प्रसाधनों के लिए किया जाता है।
  • शरीर में रेड ब्लड सेल्स का निर्माण करने में विटामिन ई सहायक है। विटामिन-ई एनीमिया से भी बचाता है।
  • शरीर में विटामिन-ई की पर्याप्त मात्रा मानसिक तनाव और अन्य समस्याओं को कम करने में मदद करता है।
  • विटामिन-ई में भरपूर एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं, जो झुर्रियों को कम करने में मदद करता है।
  • जिन लोगों के शरीर में विटामिन-ई की मात्रा अधिक होती है, उन्हें दिल की बिमारियों का खतरा कम होता है। मोनोपॉज के बाद महिलाओं में होने वाले हार्ट स्ट्रोक की संभावना को भी कम करता है।

विटामिन-ई के स्रोत:

विटामिन-ई से भरपूर सब्जियां:

  • अरबी: अरबी खाने के बहुत फायदे हैं। अरबी एंटी- ऑक्सीडेंट्स में भी समृद्ध है जो आंख के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। इसमें विटामिन-सी भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देता है।
  • लाल शिमला मिर्च: लाल शिमला मिर्च स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है। इसमें ल्यूटिन नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। यह एंटीऑक्सीडेंट आंखों के स्वास्थ के लिए लाभदायक है।
  • ब्रोकली: ब्रोकोली विटामिन ई में समृद्ध है। यह विटामिन-सी और विटामिन-K में भी समृद्ध है जो त्वचा और हड्डी के स्वास्थ्य में मदद करता है।  

विटामिन-ई से भरपूर फल:

  • कीवी: कीवी का सेवन सेहत के लिए फायदेमंद है। यह विटामिन-सी में भरपूर मात्रा में होता है जो इम्युनिटी को बढ़ावा देता है। इसमें सेरोटोनिन भी होता है, जो नींद को प्रेरित करके अनिद्रा का इलाज करने में मदद करता है।
  • पपीता: विटामिन-ई पपीते में पाया जाता है। पपीता में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते हैं जो बिमारियों को रोकते हैं।
  • एवोकाडो: इसमें विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन K और विटामिन बी 6, मैग्नीशियम और पोटैशियम का एक बड़ा स्रोत है।

विटामिन ई से भरपूर नट्स:

  • बादाम: इसमें विटामिन ई पाया जाता है। इसे हम रोज की डाइट में शामिल कर सकते हैं। बादाम को दूध के साथ भी ले सकते हैं।
  • पाइन नट्स: पाइन नट्स विटामिन E का बेहतरीन विकल्प है। यह एक प्रकार का अखरोट है। यह कई प्रकार के ब्यूटी प्रोडक्ट्स में मिला होता है।
  • पीनट: पीनट विटामिन ई का अच्छा स्रोत है यह मूंगफली में खूब होता है और सर्दियों में टाइम पास के साथ आप इससे विटामिन ई की पूर्ति भी कर सकते हैं।

विटामिन ई के कैप्सूल हैं नुकसानदेह:

लम्बे समय तक विटामिन ई के कैप्सूल लेने से त्वचा संबंधी दिक्कतें होती हैं। इन्हें खाने का फायदा है पर खाने से पहले एक्सपर्ट की सलाह ज़रूर लें।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

2 Replies to “विटामिन ई के स्रोत, फायदे और नुकसान | Daily Health Tip | 23 February 2020 | AAYU App

Leave a Reply

Your email address will not be published.