डाइट में शामिल करें विटामिन-A से भरपूर फूड्स | Daily Health Tip | Aayu App

Vitamin-A

विटामिन-ए शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए अपनी डाइट में मटर, गाजर आदि शामिल करें। इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होगी।

Vitamin-A helps in increasing the immunity of the body. Include foods like peas, carrots, etc. in your diet, that will strengthen your immunity.

Health Tip for Aayu App

धूल-मिट्टी, धुआँ व प्रदूषण के कारण हवा की गुणवत्ता कई शहरों में बहुत खराब हो चुकी है। हवा की गुणवत्ता खराब होने से सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसके साथ, फेफड़ों पर भी इसका असर पड़ता है। फेफड़े (Lungs) हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है जो सांस प्रणाली को बेहतर बनाता है। इस साल कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते सांस संबंधी दिक्कतें होने पर लोग सबसे पहले संक्रमण के बारे में ही सोचते है। ऐसी परिस्थितियों में फेफड़ों का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। डाइट में विटामिन-ए से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करने से फेफड़े मजबूत होते है।

विटामिन-ए क्यों जरूरी है?

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए विटामिन-ए का सेवन बहुत जरूरी है। यह ना केवल आँखों के लिए अच्छा होता है बल्कि यह इम्युनिटी बढ़ाने, हड्डियों को कमजोर होने से बचाने में भी मदद करता है। इसके अलावा, विटामिन ए का ही एक रूप बीटा-कैरोटिन है। यह तत्व कई प्रकार के कैंसर जैसे सर्वाइकल, फेफड़ों और ब्लैडर के कैंसर का खतरा कम करती है। नाइट ब्लाइंडनेस यानि रतौंधी के मरीजों के लिए भी विटामिन ए से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन लाभदायक है।

विटामिन-ए से भरपूर फूड्स:

अंडा: ज्यादातर लोग रोज अंडा खाने से डरते है क्योंकि अंडे की जर्दी में फैट की मात्रा होती है। अंडे के सफेद व पीले हिस्से दोनों में विटामिन-ए मौजूद होता है। इसलिए सीमित मात्रा में पूरा अंडा खाएं।

मटर: मटर का सेवन स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद है। सर्दियों के मौसम में मटर की खपत बढ़ जाती है। प्रदूषण से फेफड़ों पर पड़ने वाले असर को कम करने में मटर अहम भूमिका निभाता है। हरी सब्जी में विटामिन-ए प्रचूर मात्रा में मौजूद होता है।

गाजर: एक अध्ययन में पाया गया है कि 100 ग्राम गाजर में करीब 8840 माइक्रोग्राम्स विटामिन ए पाया जाता है। गाजर का जूस, सलाद, हलवा या फिर सैंडविच में गाजर डालकर सेवन कर सकते है।

मछली: विटामिन ए एक तरह का पोषक तत्व है जिसे शाकाहारी और मांसाहारी दोनों अपने भोजन से लें सकते है। हल्के व स्वाद से भरपूर मछलियाँ विटामिन ए का अच्छा स्रोत है। आप इन्हें ग्रिल करके, भुनकर या स्टीम करके खा सकते है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.