VIRAL PNEUMONIA | वायरल निमोनिया से बनाएं दूरी, ऐसे बचें!

VIRAL PNEUMONIA

वायरल निमोनिया (Viral Pneumonia), फेफड़ों में वायरस के कारण होने वाला संक्रमण है। इसकी आम वजह फ्लू है, लेकिन ये सामान्य ज़ुखाम या अन्य वायरल से भी होता है। इसमें रोगाणु आपके श्वसन तंत्र पर प्रभाव करके आपके फेफड़ों में उतर जाते है, जिससे फेफड़ों में हवा की थैली संक्रमित हो जाती है व फेफड़ों में पस भरने के साथ सूजन आ जाती है।

आपको वायरल निमोनिया (Viral Pneumonia) होनें की सम्भावना ज़्यादा है,यदि —

  • आपकी आयु 65 या अधिक है,
  • आपको अस्थमा,मधुमेह या दिल की बीमारी है ,
  • हाल ही में आपकी सर्जरी हुई है,
  • आपके खानपाँन में विटामिन, मिनरल की कमी है ,
  • आप धूम्रपान या शराब का सेवन करते है,
  • आपको एचआईवी संक्रमण है,
  • आपका अंग प्रत्यारोपण(organ transplant) हुआ है ,
  • आपको ल्यूकेमिया, लिम्फोमा या गुर्दे की बीमारी है
किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए आज ही “Aayu” ऐप डाउनलोड करें


वायरल निमोनिया (Viral Pneumonia) के लक्षण —

वायरल निमोनिया आमतौर पर कुछ दिनों तक लगातार चलता है। पहले दिन यह फ्लू की तरह लगता है, व चित्र में दिखाए अनुसार कई लक्षण ले कर आता है —

symptoms of viral pneumonia

यदि आपको वायरल निमोनिया है तो आपको बैक्टीरियल निमोनिया होने की अधिक संभावनाएं हैं। इसमें —

  • तेज़ बुखार,
  • कंपकंपी,
  • हरा, पीला, या खूनी कफ खांसी,
  • थकावट ,
  • बुज़ुर्गों में मतिभ्रम जैसे लक्षण होते है ।

कैसे करें वायरल निमोनिया (Viral Pneumonia) की रोकथाम —

आप निम्न तरीकों से वायरल निमोनिया होनें की संभावना को कम कर सकते है–


Pneumonia | निमोनिया और उसके लक्षण |

Prevention for Pneumonia |निमोनिया को कैसे रोकें?

PNEUMONIA | निमोनिया प्रकार, निदान व उपचार

निदान —

जब आप डॉक्टर के पास निमोनिया जांच के लिए जाते है, तो वह आपके लक्षणों की जानकारी के लिए निम्नलिखित परिक्षण करते हैं जैसे-

  • स्टेथोस्कोप (stethoscope) द्वारा आपके फेफड़ों की जांच,
  • छाती का एक्सरे,
  • खून और थूक जांच,
  • नाड़ी परिक्षण क

यदि एक्स-रे में आपके फेफड़े में तरल पदार्थ आता है,तो डॉक्टर संक्रमण का परीक्षण करते है।

वह आपकी छाती में इंजेक्शन द्वारा तरल पदार्थ का नमूना लेते है और इसे प्रयोगशाला भेज कर लक्षणों की जांच करते है।

गंभीर मामलों में, डॉक्टर ब्रोंकोस्कोपी (श्वासनली जाँचने की विधि) करते है, जिसमें वो फेफड़ों के वायुमार्गों को देखते है।

उपचार —

मेडकॉर्ड्स (MedCords) डॉक्टर के अनुसार आपके कारणों और लक्षणों पर निर्भर करता है कि इलाज कैसा हो? यदि आपका निमोनिया वायरस के कारण हुआ है, तो आराम करना जरूरी है। डॉक्टर बहुत सारे तरल पदार्थ पीने, आराम करने एंव  बुखार को नियंत्रित करने के लिए दवाएं दे सकते है। यदि आप बुज़ुर्ग है या अन्य स्वास्थ्य समस्याएं हैं, तो ठीक होने में अधिक समय लग सकता है। सुनिश्चित करें कि आप समय से डॉक्टर से परामर्श लेते रहे।

अगर वायरल गंभीर है तो जल्द से जल्द अस्पताल जाएँ ,वहाँ —  

  • ऑक्सीजन एवं नसों द्वारा दवाएं दी जायेगीं,
  • रोगाणुओं को नष्ट करने के उपचार होंगे

जिससे सही समय से इलाज होने से आप जल्द ही स्वस्थ एवं बेहतर महसूस करने लगेगें।

आयु है आपका सहायक

अगर आपके घर का कोई सदस्य लंबे समय से बीमार है या उसकी बीमारी घरेलू उपायों से कुछ समय के लिए ठीक हो जाती है, लेकिन पीछा नहीं छोड़ती है तो आपको तत्काल उसे डॉक्टर से दिखाना चाहिए. क्योंकि कई बार छोटी बीमारी भी विकराल रूप धारण कर लेती है. अभी घर बैठे स्पेशलिस्ट डॉक्टर से “Aayu” ऐप पर परामर्श लें . Aayu ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई बटन पर क्लिक करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.