योनी में सूजन? जानें कारण और घरेलू उपाय

शेयर करें

महिलाओं के प्राइवेट पार्ट “योनि” में सूजन, आमतौर पर संक्रमण के कारण होता है. महिलाओं में अक्सर योनि की सूजन की शिकायत बनी रहती है. योनि में होने वाली सूजन को वैजिनाइटिस भी कहते है. वैजिनाइटिस से ग्रसित महिला को अक्‍सर योनि से रिसाव, खुजली, जलन और दर्द होता है. आज हम आपको योनि में होने वाले सूजन के कारण , लक्षण और उपाए के बारे में बताने जा रहें है ताकि आप इस बीमारी से खुद को रख सके सुरक्षित.

क्या है योनी में सूजन के कारण ?

एट्रोफिक वैजिनाइटिस -: इस प्रकार की समस्‍या के दौरान एंडोथेलियम या योनि की अस्‍तर पतली हो जाती है, जब रजोनिवृत्ति के दौरान एस्‍ट्रोजेन का स्‍तर कम हो जाता है, जिससे यह जलन और सूजन के लिए अधिक संवेदनशील हो जाती है.

बैक्टीरियल वेजिनोसिस – : बैक्‍टीरिया के अतिप्रवाह के कारण बैक्टीरियल वेजिनोसिस होता है. यह लैक्‍टोबैसिलि नामक एक सामान्‍य योनि बैक्‍टीरिया के कारण होता है जो कि शरीर में बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है.

ट्राइकोमोनास वैजिनाइटिस -: इसे ट्राइक के नाम से भी जाना जाता है. ट्राइकोमोनास जिनाइटिस यौन संक्रमित सिंगल-सेलड प्रोटोजोन परजीवी के कारण होता है. यह मूत्र मार्ग सहित यूरोजेनिटल ट्रैक्‍ट के अन्‍य हिस्‍सों को भी संक्रमित कर सकता है.

कैंडिडा अल्‍वेक्‍सन -: इस प्रकार की समस्‍या का कारण खमीर हो सकता है जो कि कवक संक्रमण का कारण बनता है जिसे योनि थ्रश के रूप में जाना जाता है. कैंडिडा आंत में बहुत ही कम मात्रा में मौजूद रहता है जो आंत बैक्‍टीरिया की निगरानी में रहता है.

ये भी पढ़ें- जानें गर्भावस्था के सुपरफ़ूड

योनि में सूजन के लक्षण

  • जननांग क्षेत्र की जलन.
  • योनि से रिसाव जो सफेद, भूरा, पानीदार या झाग युक्‍त हो सकता है.
  • पेशाब करने के दौरान दर्द या बेचैनी हो सकती है.
  • योन संबंध बनाते वक्‍त दर्द होना जिसे डिस्‍पारेनिया कहा जाता है.
  • योनि से गंदी बदबू आना जो कि लगभग मछली की गंध की तरह हो.

योनि में सूजन से बचाव

  • शौचालय जाने के बाद पीछे से आगे की ओर सही से पोछें. ऐसा करने से मल में मौजूद बैक्टीरिया योनि में नहीं जाते.
  • सुगंधित या कठोर साबुन का प्रयोग न करें.
  • बाथटब में गर्म पानी से स्नान या व्हर्लपूल स्पा न करें.
  • शावर लेने के बाद बाहरी जननांग क्षेत्र की साबुन से अच्छी तरह से सफाई करें.

ये भी पढ़ेंअनियमित माहवारी से हैं परेशान?

योनि में सूजन के पांच घरेलू उपाय

प्रोबायोटिक दही

प्रोबायोटिक दही जिसमें सक्रिय बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, वैजिनाइटिस का इलाज करने के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार है. अध्ययनों से पता चला है कि अच्छे बैक्टीरिया (लैक्टोबेसिलस) दही में मौजूद होते हैं जो खराब बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है. दही में एक टैम्पोन को डुबोएं और इसे कुछ घंटों के लिए अपनी योनि में डालें.जब तक लक्षण पूरी तरह से गायब न हो जाएं इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराएं. इसके अलावा अपने आहार में रोज़ाना दही को जरुर शामिल करें.

सेब का सिरका

सेब के सिरके की अम्लीय प्रकृति आपकी योनि के पीएच को एक हद तक नियंत्रित करने में मदद करती है. योनि का उचित पीएच स्तर अपने आप अच्छे और बुरे बैक्टीरिया का संतुलन बनाए रखता है. इसके अलावा, यह यीस्ट या बैक्टीरियल संक्रमण को भी नियंत्रित करता है.एक गिलास गर्म पानी में कच्‍चे, बिना फिल्‍टर किये हुए सेब साइडर सिरका के 2 चम्‍मच और थोड़ा सा कच्‍चा शहद मिलाएं और इस मिश्रण को नियमित रूप से दिन में दो बार सेवन करें. इसके अलावा आप सेब साइडर सिरका की 2 चम्‍मच गर्म पानी में मिलाकर अपनी योनि को दिन में दो बार धोएं.

ठंडी सिकाई

आप योनि की सूजन को दूर करने के लिए ठंडी सिकाई का उपयोग कर सकते हैं. ठंडा तापमान योनि में होने वाली खुजली, दर्द और अन्‍य असुविधाओं से राहत दिलाने में मदद करता है. इसके लिए आप एक साफ कपड़े में बर्फ के टुकड़े लें और इस कपड़े को योनि में 1 मिनट के लिए रखें. इसके बाद 1 मिनट के अंतराल से इसे फिर से योनि के ऊपर रखें. इस तरह से आप अपनी अवश्‍यकता और सुविधा के अनुसार दिन में इस विधि का कई बार उपयोग कर सकते हैं.

लहसुन

एंटीसेप्टिक और जीवाणुरोधी गुणों के कारण लहसुन योनि की सूजन का इलाज करने में अधिक प्रभावी होती है. यह बैक्‍टीरिया और खमीर संक्रमण दोनों का इलाज कर सकता है जो वैजिनाइटिस का कारण बनतें है. इसके अलावा लहसुन आपके शरीर को किसी भी संक्रमण से लड़ने में मदद करने के लिए आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देते हैं.

कैमोमाइल चाय के बैग

आप 1 कप गर्म पानी में 1 कैमोमाइल चाय के बैग को डालें और थोड़ी देर के बाद इस बैग को निकाल लें और इस बैग को फ्रिज में 10 मिनट के लिए रख दें. ठंड़ा होने के बाद आप इस टी बैग को अपनी योनि के अंदर रखें और इस बैग को निचोड़ें ताकि इस बैग का पानी योनि के अंदर तक चला जाए. जब तक आपकी योनि की सूजन कम नहीं होती है तब तक आप इसे प्रतिदिन दो बार तक दोहराएं. यह वैजिनाइटिस का उपचार करने का अच्‍छा घरेलू उपाए है.

आपके सेहत का असली साथी मेडकॉर्डस

आपके या आपके परिवार के किसी सदस्य को प्राइवेट पार्ट से जुडी किसी बिमारी के लक्षण दिख रहे हैं तो इसे गंभीरता से लें। मेडकॉर्ड्स ऐप से घर बैठे अनुभवी डॉक्टरों से ई-परामर्श और सलाह लें। आज ही मेडकॉर्डस हेल्प लाइन नं- 781-681-1111 पर करें कॉल

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.