योनि यीस्ट संक्रमण के कारण और लक्षण

योनि यीस्ट संक्रमण गुप्तांगों में होने वाला एक इंफेक्शन है. गुप्तांगों की अच्छे से सफाई नहीं करने की वजह से यह संक्रमण होता है. इस संक्रमण का होने का खतरा सबसे ज्यादा गर्भवती महिलाओं को रहता है. जब योनी में अच्छे बैक्टिरिया की मात्रा में कमी हो जाती है तो यीस्ट संक्रमण की मात्रा बढ़ जाती है. तभी आप इस संक्रमण का शिकार हो जाते हैं. आइए जानते है कैंडिडा के लक्षण और उपाय के बारे में

योनि यीस्ट संक्रमण के कारण | Causes of vaginal yeast infection

  • योनि में यीस्ट संक्रमण कवक कैंडिडा नामक सूक्ष्मजीव के कारण फैलता है जो शरीर में हॉर्मोन के संतुलन को पूरी तरह से बिगाड़ देता है जो योनि में फंगस संक्रमण की अधिकता का कारण बनता है.
  • कुछ एंटीबायोटिक्स होती है जो योनि में लेक्टोबेसिलस यानि अच्छे बैक्टेरिया की मात्रा को कम कर देता है.
  • गर्भावस्था भी योनि यीस्ट संक्रमण का एक प्रमुख कारण है गर्भावस्था में महिलाओ को योनि की ज्यादा देखभाल करने की जरुरत होती है.
  • जिन महिलाओ के शरीर में मधुमेह बहुत ज्यादा है उनका हार्मोनल संतुलन, और प्रतिरोधकता प्रणाली को फंगस संक्रमण ज्यादा प्रभावित करते है.
  • कैंडिडा एल्बिकस नामक जीव होता है जो योनि में संक्रमण को बढाने में मदद करता है .
  • पर्याप्त नींद न होना और अत्यधिक पानी न पीना, ख़राब भोजन जैसे-कम पोषक तत्व वाला खाना खाने से भी योनि में संक्रमण बढ़ सकता है.
  • इस संक्रमण की वजह से गुप्तांगों में खुजली, वेजिना के बाहरी हिस्सों में सूजन, सेक्स के दौरान दर्द और रेडनेस हो जाती है.
  • योनि के साथ-साथ यह संक्रमण अंडरआर्म्स और ब्रेस्ट में भी अपना असर दिखाता है.
  • इस संक्रमण के होने की एक वजह वातावरण में नमी की भी है, क्योंकि उस वक्त गुप्तांगों में फ्रेश हवा नहीं मिल पाती है.
किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए आज ही “Aayu” ऐप डाउनलोड करें

योनि यीस्ट संक्रमण के लक्षण | Symptoms of Vaginal Yeast Infection

योनि में इन्फेक्शन होने के कारण खुजली होने लगती है. इस दौरान दौरान योनि के आसपास सूजन आ जाता है. शारीरिक संबंध के समय योनि में जलन होने लगता है. साथ ही योनि में तेज दर्द भी शुरू हो जाता है. योनि में लाल चकते आ जाते है.

योनि से कभी-कभी सफ़ेद पानी का निकलना भी योनि में फंगस संक्रमण का एक प्रमुख लक्षण होता है. अगर आप सही समय पर वजाइना में फंगल संक्रमण का उपचार नहीं करवाती है तो योनि यीस्ट संक्रमण के लक्षण बहुत ज्यादा गंभीर हो सकते है.

योनि यीस्ट संक्रमण के घरेलू नुस्खें | Vaginal yeast infection treatment

नारियल का तेल

  • नारियल का तेल योनि के संक्रमण में लाभदायक होता है.
  • इसे आप अपनी योनि में नारियल के तेल के साथ कपूर डालकर लगाये.
  • जिससे आपको योनि में खुजली की समस्या नहीं होगी.

लहसुन

  • योनि में संक्रमण से बचने के लिए आप लहसुन का प्रयोग भी कर सकती है.
  • यह योनि संक्रमण से बचने के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय है.

दही

  • आप दही का भी सेवन कर सकती है.
  • इसमें लेक्टोबेसिलस नामक जीवाणु होता है.
  • जो योनि में हो रहे संक्रमण को रोकता है .
  • अच्छे बैक्टेरियां की संख्या को बढाता है.
  • इसे आप अपनी योनि में भी कुछ मात्रा में लगा सकतीं है.

पोषत तत्व

  • पोषक तत्वों से भरपूर फल और सब्जियां खाए.
  • पानी शरीर की गंदकी को भी बाहर निकालता है.

Aayu है आपका सहायक

अगर आपके घर का कोई सदस्य लंबे समय से बीमार है या उसकी बीमारी घरेलू उपायों से कुछ समय के लिए ठीक हो जाती है, लेकिन पीछा नहीं छोड़ती है तो आपको तत्काल उसे डॉक्टर से दिखाना चाहिए. क्योंकि कई बार छोटी बीमारी भी विकराल रूप धारण कर लेती है. अभी घर बैठे स्पेशलिस्ट डॉक्टर से “Aayu” ऐप पर परामर्श लें . Aayu ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई बटन पर क्लिक करें.

4 Replies to “योनि यीस्ट संक्रमण के कारण और लक्षण

  1. यह बहुत अच्छा ऐप हैं। इसे लोगों को घर बैंठें फायदा होगा । मैं इस योजना के लिर बधाई देता हूँ

Leave a Reply

Your email address will not be published.