Vaccination in india: बच्चों के लिए अभी नहीं आएगी कोरोना वैक्सीन, जानें पूरी डिटेल

Vaccination in india / कोरोना वैक्सीन

Vaccination in india: कोरोनावायरस का वैक्सीनेशन (Coronavirus vaccination in india) भारत में जनवरी से शुरु होने की संभावना है, लेकिन सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि भारत में अभी बच्चों को कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) नहीं लगाई जाएगी। एक्स्पर्ट और डॉक्टर्स का कहना है कि क्योंकि बच्चे इस वैक्सीन (Coronavirus vaccine) के ट्रायल का हिस्सा नहीं हैं इसलिए उन्हें 2021 के अंत तक इंतजार करना होगा। 

डॉक्टर्स का कहना है कि अगर व्यस्कों के लिए वैक्सीन (Vaccine for children) लॉन्च होती है तो वह बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं हो सकती है और दवा कंपनियों को उनके लिए अलग से ट्रायल करना होगा। हालांकि, ब्रिटेन ने फ़ाइज़र-बायोएनटेक की वैक्सीन को इस विकल्प के साथ अनु​मति दी है कि आपातकालीन स्थिति में बच्चों का भी टीकाकरण (Vaccination in india) किया जाए।

1. फ़ाइज़र और मॉडर्ना ने शुरू किया है बच्चों पर ट्रायल

खुशी की बात यह है कि वैक्सीन निर्माता फ़ाइज़र और मॉडर्ना (Pfizer & Moderna coronavirus vaccine) ने बच्चों पर भी क्लिनिकल ट्रायल शुरू कर दिया है। इस ट्रायल में ये दोनों की कंपनियां सभी जरूरी पहलुओं पर काम कर रही हैं।

इस ट्रायल में स्वास्थ्य मापदंड, दो खुराक के बीच अंतर आदि जैसी खास बातों का ध्यान रखा जा रहा है, ताकि बच्चों पर वैक्सीन का कोई हानिकारक प्रभाव न पड़े। ट्रायल के बावजूद ऐसी उम्मीद है कि बच्चों की वैक्सीन आने में अभी 1 साल का समय लग सकता है। 

वहीं विशेषज्ञों का मानना हैं कि बच्चों की वैक्सीन ज्यादा प्रभावी और लंबे समय तक सुरक्षित करने वाली होनी चाहिए। 

2. कोरोनावायरस के लक्षणों को बच्चों में ऐसे पहचानें

थकावट, थकान और ऊर्जा की कमी ऐसे अन्य संकेत हैं, जो कोरोनावायरस (Coronavirus) के कारण लोगों में दिखाई देते हैं। अध्ययन के अनुसार, क्रोनिक थकान और ऊर्जा की कमी 55 फीसदी बच्चों को परेशान करती है। यह एक चिंताजनक संकेत हो सकता है क्योंकि वायरस के कारण होने वाली थकावट से उबरने में भी अधिक समय लग सकता है।

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें ”आयु ऐप’। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.