शरीर में आयरन की कमी को दूर करना के तरीके | Daily Health Tip | 20 February 2020 | AAYU App

iron should be taken in correct way

पालक 🌿में आयरन काफी अधिक मात्रा में पाया जाता है। हीमोग्लोबिन की कमी होने पर पालक का सेवन करने से शरीर में इसकी कमी पूरी होती है। इसमें कैल्शियम,सोडियम और प्रोटीन भी मुख्य रूप से मौजूद होते हैं। “

” Spinach 🌿 contains plenty of iron . Consumption of Spinach helps to cope up from anaemic condition. It mainly contains calcium, sodium and protein. ”

आयरन की कमी से क्या होता है: आयरन की कमी होने की वजह से एनीमिया (Anemia) होता है। आप आयरन और दूसरे पोषक तत्वों से भरपूर चीज़ों का सेवन करके एनीमिया जैसी बीमारियों से सही समय पर बच सकते हैं।

रक्त में आयरन की कमी होने से क्या होता है: खून शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं बनाता है, जिससे हीमोग्लोबिन बनता है। लाल रक्त कोशिकाएं फेफड़ों से ऑक्सीजन लेकर रक्त में ऑक्सीजन पहुंचाता है। इसलिए इसकी कमी होने से शरीर में हीमोग्लोबिन कम होता है और ऑक्सीजन की कमी रहती है।

आयरन की कमी के लक्षण: आयरन की कमी पता करने के लिए हीमोग्लोबिन की जांच कराएं। इसके अलावा शरीर में कुछ बदलावों को देखकर आप समझ सकते हैं।

शरीर में आयरन की कमी से होने वाले बदलाव:

अधिक थकान: शरीर में आयरन की कमी से ऑक्सीजन का संचार सही तरीके से नहीं हो पाता है जिसकी वजह से थकान महसूस होती है।

चेहरे और आँखों का रंग पीला पड़ना: खून की कमी यानि एनीमिया होने से त्वचा का रंग पीला या सफ़ेद दिखता है और आँखों का ऊपरी भाग सफ़ेद दिखने लगता है।

सांस लेने में दिक्कत और तकलीफ: कई बार सांस लेने में तकलीफ होती है। इससे काफी कमजोरी भी महसूस होती है।

लगातार सिरदर्द होना: आयरन की कमी होने से ऑक्सीजन मस्तिष्क में सही तरीके से नहीं पहुंच पाता है जिससे सिरदर्द होने लगता है।

आयरन के स्रोत: आयरन की कमी को दूर करने के लिए इन चीज़ो का सेवन करें।

चुकंदर: शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाने वाले तत्व चुकंदर और उसकी पत्तियों में प्रचुर मात्रा में होते है। ज़्यादातर आयरन की कमी की वजह से शरीर में खून की कमी होती है। चुकंदर की तुलना में उसकी पत्तियों में तीन गुना ज़्यादा आयरन होता है।

Aayu App- Health Tip

आंवला: आंवला में आयरन, कैल्शियम, और केरोटीन पाया जाता है। यह एक ऐसा फल है जिसमे कई औषधीय गुण है। साथ ही साथ यह आँखों के लिए, डायबिटीज और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मददगार है।

पिस्ते: पिस्ते में बहुत सारे पोषक तत्व और मिनरल्स पाए जाते है। इसमें आयरन के साथ साथ मैग्नीशियम और विटामिन-बी भी मौजूद होता है।

नींबू: नींबू में आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम और जिंक जैसे मिनरल्स पाए जाते है जो शरीर के अलग अलग कमी को पूरा करते है। यह शरीर में हीमोग्लोबिन को भी बढ़ाता है।

अनार: अनार में आयरन के साथ-साथ मैग्नीशियम, कैल्शियम और विटामिन-सी भी पाया जाता है। एक गिलास गुनगुने दूध में दो चम्मच अनार पाउडर डालकर पीने से हीमोग्लोबिन बढ़ता है।

आयरन का ज़्यादा सेवन है नुकसानदायक: आयरन का ओवरडोज़ नुकसानदायक है। ओवरडोज़ से उल्टी, पेट में जलन और दस्त की शिकायत हो सकती है।

आयरन के ओवरडोज़ से यह अंग प्रभावित होते है:

पेट: सीने में जलन, उल्टी, दस्त के कारण शरीर में पानी की कमी होने से लिवर को खतरा हो सकता है।

हार्ट: लगातार बीपी गिरना, धड़कनों के घटने बढ़ने से हार्ट फेल भी हो सकता है।

किडनी: उल्टी, दस्त और पेट दर्द लिवर के साथ-साथ किडनी को भी प्रभावित करता है।

इसलिए आयरन शरीर के लिए ज़रूरी है पर इसका सही मात्रा में इस्तेमाल करें।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.