व्रत में क्यों किया जाता है सेंधा नमक का सेवन | Daily Health Tip | Aayu App

sendha namak ka sevan

व्रत में लोग सेंधा नमक का सेवन करते हैं। सेंधा नमक में कई पोषक तत्व (Nutrients) होने से व्रत में इसको खाने से काफी फायदा होता है. साथ ही यह पाचन क्रिया (Digestion Process) और ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को कंट्रोल करने में भी मददगार होता है।

In Fast, people use Rock Salt as it is rich in nutrients & helps our body with proper digestion and also controls blood pressure.

Health Tips for Aayu App

व्रत के दौरान लोग सेंधा नमक का सेवन करते है क्योंकि इसमें कई तरह के पोषक तत्व होते है। यह पाचन क्रिया और ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है।

सेंधा नमक का सेवन:

पाचन में फायदेमंद है सेंधा नमक: अक्सर प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को अपच की समस्या होती है। सेंधा नमक खाने से अपच की समस्या, गैस की समस्या और खाना खाने के बाद होने वाली घबराहट की समस्या को दूर किया जा सकता है।

नमक का शुद्ध रूप है सेंधा नमक: व्रत के दौरान लोग साधारण नमक का इस्तेमाल ना करके सेंधा नमक का उपयोग करना ज्यादा बेहतर है। इसे नमक का शुद्ध रूप माना जाता है। जो हमारे शरीर के लिए लाभदायक है।

पोषक तत्वों से भरपूर है सेंधा नमक: सेंधा नमक को उपयोगी बनाने के लिए केमिकल प्रक्रिया से गुजरना नहीं पड़ता। सेंधा नमक में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो व्रत के दौरान हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है।

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है सेंधा नमक: प्रेगनेंसी में ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है जो वैसे तो सामान्य माना जाता है लेकिन अगर यही ब्लड प्रेशर ज्यादा बढ़ जाए तो यह हानिकारक हो सकता है। सेंधा नमक प्रेंगनेंट महिलाओं के ब्लड प्रेशर को कम करके नियंत्रण में रखता है। सेंधा नमक गर्भवती महिलाऐं चटनी या फिर किसी और खाने की चीज़ के साथ ले सकती है।

इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है सेंधा नमक: सेंधा नमक गर्भवती महिलाओं में इम्यूनिटी को बढ़ाता है जिससे उनके बीमार होने की सम्भावनाऐं कम हो जाती है। इसमें ट्रेसेस मौजूद होते हैं जो कि उन्हें बीमारियों से बचाते हैं और हेल्दी रखते हैं।

मसल क्रैम्प से बचाता है सेंधा नमक: प्रेगनेंसी के दौरान अक्सर महिलाओं को हाथों और पैरों में मसल क्रैंम्प और नसों के खिचने की समस्या होती है जो सेंधा नमक खाने से दूर हो जाती है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.