बच्चों में बाल झड़ना क्यों है आम, बच्चों के बालों को घना बनाने के लिए घरेलू उपाय जाने

hairfall in child

अगर आप अपने शरीर के पोषण पर ध्यान नहीं देते है तो आपको कई तरह की बीमारियां हो सकती है जिसमे बाल झड़ने जैसी परेशानियां भी हो सकती है। यह बड़े-बुजुर्गों में आम समस्या होने के साथ-साथ बच्चें में भी आम समस्या बन गई है। कुछ बच्चें तो कम उम्र में ही गंजेपन का शिकार बन जाते है। किसी भी बारे में ज्यादा जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि बच्चों में यह समस्या आम है भी की नहीं और अगर आम है तो कितनी आम है।

बच्चों में बाल झड़ना कहा तक आम है?

चिकित्सकों की मानी जाए तो उनके अनुसार आजकल बच्चों में भी बाल झड़ने की समस्या बहुत आम हो गई है। ऐसा देखा गया है कि 2 माह से 16 साल तक के बच्चों में यह कई कारणों से हो सकता है। अगर इसमें भी मुख्य रूप से देखा जाएं तो आयरन और जिंक जैसे पोषक तत्वों की कमी से बाल झड़ते है।

बच्चों में बाल झड़ने के कारण:

जैसा आपको मुख्य कारणों में आयरन और जिंक बताया गया है। आइये यहाँ हम आपको कुछ और कारणों के बारे में बताते है।

  • नीयोनेटल ऑक्सीपिटल एलोपेसिया (NOA): यह समस्या मुख्यतः बच्चों में पाई जाती है। यह एलोपेसिया जैसी स्थिति तो नहीं मानी जाती। अब आप सोच रहें होंगे कि एलोपेसिया क्या होता है। तो आइये आपको बताते है एलोपेसिया एक ऐसी स्थिति होती है जिसमे सामान्य से ज्यादा बाल झड़ते है। शिशु में इसके लक्षण जन्म के 2-3 महीने के अंदर दिखते हैं। शिशु के सोने की अवस्था को इसका मुख्य कारण माना जाता है।
  • ट्रैक्शन एलोपेसिया (Traction Alopecia): यह एक ऐसी समस्या है जो तब आती है जब बच्चों के बालों को जरूरत से ज्यादा खींचते है। क्लिप लगाने पर या हेयर स्टाइल की वजह से बालों पर ज्यादा खिंचाव डालते है। इससे बालों की जड़े कमजोर होती हैं और बाल झड़ने लगते हैं।

बच्चों में बालों के झड़ने का लक्षण:

  • स्कैल्प पर किसी प्रकार के संक्रमण के कारण पपड़ी का जमना।
  • बालों का गुच्छों में टूटना।
  • बालों के प्राकृतिक रंग में बदलाव आना।
  • सिर में देर तक खुजली होना।
  • स्कैल्प में दर्द होना।

बच्चों में बालों को झड़ने से रोकने के घरेलू नुस्खे:

वैसे तो ऐसा देखा गया है कि बच्चों के बाल टूटने के बाद वापस आते है पर अगर ऐसा नहीं हो रहा है या बालों के झड़ने का सिलसिला बरकरार है तो आप कुछ घरेलू नुस्खे अपना सकते है।

  • भृंगराज का तेल: भृंगराज के तेल में मेथनॉल नामक पोषक तत्व पाया जाता है जो बालों के विकास को आसान बनाने में मदद कर सकता है। इसके तेल से नियमित रूप से मालिश करने से स्कैल्प के रक्त संचार में मदद करता है। यह तेल बालों की जड़ों तक जाता है और बालों को मजबूत करने के साथ-साथ बालों को झड़ने से भी रोकता है।
  • आंवला: बालों को स्वस्थ रखने के लिए आंवले का प्रयोग किया जाता है। इसमें विटामिन-सी के साथ-साथ क्वेरसेटिन जैसे कई पॉलीफेनोलिक यौगिक पाए जाते हैं। इन पोषक तत्वों से भरपूर आंवला बालों को मजबूती प्रदान करने के साथ-साथ बालों के विकास में मदद करता है। यह बालों को सफेद होने और झड़ने से भी रोकता है। यह शरीर में कैल्शियम को छोटे भाग में करने में मदद करते है, जो बालों के साथ-साथ हड्डियों के लिए भी जरूरी है।
  • प्याज का रस: प्याज का रस आपके बालों के लिए लाभदायक है। यह आपके बालों के विकास के लिए ही नहीं बल्कि आपके बालों को टूटने से भी रोकने में मदद करते है। इसमें क्वेरसेटिन (quercetin) नाम का घटक (Component) पाया जाता है, जो बालाें के विकास के लिए फायदेमंद है। इसका सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करने से इसका लाभ होता है।
  • बादाम का तेल: बादाम अक्सर याददाश्त तेज करने में काम आता है, लेकिन यह बालों को झड़ने से भी रोकता है। बादाम का तेल विटामिन डी व ई के साथ-साथ कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन से भरपूर होता है। बादाम के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्व आपके बालों को झड़ने से बचाने के साथ-साथ उनके विकास के लिए मददगार है।
  • ऑलिव ऑयल: बालों को झड़ने से रोकने के लिए और उनके विकास के लिए ऑलिव ऑयल आपके बालों को झड़ने से रोकने के साथ बालों के विकास में भी मददगार है। यह एंटीऑक्सीडेंट के साथ-साथ विटामिन-ई से भी भरपूर होता है। यह पोषक तत्व आपके बालों में प्राकृतिक चमक लाता है और उन्हें जड़ से मजबूत बनाता है।
  • नारियल का तेल: नारियल का तेल आसानी से मिलता है। इससे सिर की मसाज करें। यह बालों को झड़ने से रोकता है। यह स्कैल्प के संक्रमण को दूर करने में भी मदद करता है। इस तेल में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते है। इसमें लॉरिक एसिड पाया जाता है, जिसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। लॉरिक एसिड स्कैल्प को बैक्टीरिया के कारण होने वाले संक्रमण से बचाता है, जो बाल झड़ने का कारण है।
  • पाेषक तत्वोंं से भरपूर आहार: बालों के विकास और उनकी मजबूती के लिए प्रोटीन, जिंक और आयरन जैसे पोषक तत्वों की जरूरत होती है। यह ना सिर्फ बालों को जड़ों से मजबूत बनाते हैं, बल्कि उन्हें घना और आकर्षक बनाने में भी मदद करते हैं। अपने आहार में इन पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करने से बालों के झड़ने की समस्या को दूर किया जा सकता है। आप इन पोषक तत्वों के लिए अपने आहार में दाल, राजमा, चने, योगर्ट व सोयाबीन आदि को शामिल कर सकते हैं।

बच्चों के बालों को घना करने के घरेलू नुस्खे:

  • नारियल के तेल में नींबू का रस मिलाकर लगाएं।
  • अंडे में दो चम्मच ऑलिव ऑयल मिलाकर सिर में मालिश करें। 
  • प्याज को पीस कर दो चम्मच रस निकालें। इस रस से बालों की हल्के हाथों से मालिश करें।
  • आंवले का मुरब्बा खाएं। कच्चा आंवला भी खा सकते हैं। आंवले के तेल की बालों में मालिश करें।
  • एलोवेरा का सेवन करने से बालों को पोषण मिलता है औऱ इससे बाल घने और मुलायम होते हैं।
  • बालों में अरंडी के तेल से मालिश करें। यह टूटते बालों की रफ्तार को रोकता है। 
  • मैथी के दानों को रातभर के लिए भिगोकर सुबह इसका पेस्ट बनाकर बालों में लगाएं। फिर सिर धोएं।
  • नारियल का दूध बालों में पोषण देता है। हफ्ते में एक बार नारियल के दूध से बालों की मालिश करें।
  • आलू में विटामिन ए, बी और सी का भंडार होता है। इसके रस को बालों में आधा घंटा के लिए लगाए और फिर धोएं।
  • जैतून के तेल से तीन दिन में एक बार रात को बालों की मालिश करें। इससे बालों को सारे पोषण मिलते है औऱ बाल लंबे औऱ मुलायम होते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.