बाल सफेद होने के कारण, उपाय, किस विटामिन की कमी से बाल होते है सफ़ेद जानें

reason of white hair

बाल सफ़ेद होने के कारण में कई तरह के कारक काम करते है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ बालों का सफेद होना बहुत स्वाभाविक है लेकिन बदलती जीवनशैली, प्रदूषण और खानपान की गड़बड़ी जैसे बदलावों के फलस्वरूप बालों का कम उम्र में सफेद हो जाना। आइये बाल सफ़ेद होने के कारण जाने आजकल बहुत आम समस्या हो गई है।

आप बालों की चाहे कलरिंग कर लें, डाई करके सफ़ेद बाल छुपा लें या सफेद बाल हटा लें, ये सब आपकी समस्या का प्रभावी हल नहीं हैं। इसके लिए इस समस्या की जड़ को जानना जरूरी है, तभी आप इससे निपट सकते है।

कम उम्र में बाल सफ़ेद होने के कारण:

समय से पहले बाल सफेद होने के पीछे कई कारण हो सकते है। आइये आगे देखते है समय से पहले बाल सफ़ेद होने के कारण।

  • खानपान में गड़बड़ी की समस्या से बाल समय से पहले सफेद हो जाते हैं। विटामिन बी, आयरन, कॉपर और आयोडीन जैसे तत्वों की कमी से यह समस्या होती है।
  • जो लोग छोटी-छोटी बातों पर बहुत अधिक तनाव लेते हैं उनके बाल भी कम उम्र में सफेद होते हैं। जिन्हें घबराहट, पैनिक अटैक, डर, जलन आदि समस्याएं बहुत अधिक होती हैं, उन्हें भी यह समस्या हो सकती है।
  • कुछ लोगों को यह समस्या अनुवांशिक रूप से होती है। तब इस समस्या से निपटना बहुत मुश्किल हो जाता है।
  • जो लोग स्वच्छता का ध्यान नहीं रखते उन्हें भी यह समस्या हो सकती है। अगर बालों की सफाई सही तरीके से नहीं होती, तो भी यह समस्या हो सकती है।  
  • लंबे समय तक बीमार रहने वाले लोगों के बाल भी जल्दी सफेद होते हैं।
  • पर्यावरण में मौजूद प्रदूषण से कम उम्र में बाल सफेद होते हैं।
  • बहुत अधिक केमिकल वाले शैंपू, केमिकल डाइ या रंग और महक वाले तेल से भी बाल सफेद होते हैं।

रूटीन में लाने वाले बदलाव जो बाल सफ़ेद होने के कारण से बचाएं :

कम उम्र में बाल सफेद होने से रोक सकते हैं तो अपनी जीवनशैली में यह बदलाव जरूर करें।

  • स्वस्थ और संतुलित डाइट लें। विटामिन-बी से भरपूर भोजन, दही, हरी सब्जियां, गाजर, केला आदि का सेवन करें। इससे सिर में रक्त का प्रवाह ठीक होता है और बाल बेजान नहीं होते।
  • केमिकल हेयर कलर और डाई का इस्तेमाल करने से दूर रहें। इसके इस्तेमाल से कुछ समय के लिए बाल काले तो दिखते है लेकिन दोगुनी तेजी से सफेद भी हो जाते हैं।
  • बहुत तेज महक वाले बालों का इस्तेमाल ना करें। आप नारियल या सरसों के तेल का इस्तेमाल कर सकते है। इससे बालों की रंगत लंबे समय तक रहती है।
  • धूप में निकलने से पहले आप अपने त्वचा को स्टोल या स्कार्फ से ढंकते हैं, उसी तरह बालों को भी प्रदूषण से बचाने के लिए ट्रैफिक के बीच बालों को कवर करके रखें।
  • बाल लंबे समय तक अपनी रंगत ना खोएं इसके लिए आप बेझिझक होकर आंवला, शिकाकाई आदि का इस्तेमाल कर सकते है। आंवले को ना सिर्फ डाइट में शामिल करें बल्कि मेंहदी में मिलाकर या घोल बनाकर बालों की कंडिशनिंग करें। आंवले को बारीक काट लें और गर्म नारियल तेल में मिलाकर सिर पर लगाएं। इससे बाल सफेद नहीं होंगे।
  • कढ़ी पत्ता खाने से भी बाल जल्दी सफेद नहीं होते। भोजन में कढ़ी पत्ते का इस्तेमाल भी करें। आंवले की तरह कढ़ी पत्ते को भी बारीक काट लें और गर्म नारियल तेल में मिलाकर सिर पर लगाएं।
  • नैचुरल हेयर डाई का इस्तेमाल करें जैसे मेंहदी, चायपत्ती का पानी, चुकंदर का रस। इससे बालों को जरूरी तत्व मिलेंगे और इनका रंग भी बरकरार रहेगा।

किस विटामिन की कमी से बाल सफ़ेद होते है?

विटामिन बी: शरीर में जब विटामिन-बी की कमी होने लगती है तब बाल सफ़ेद हो सकते है। कभी-कभी सिर के बाल झड़ने भी लगते हैं। इस विटामिन की कमी से बाल कमजोर होने लगते हैं। इसकी रोकथाम ना होने पर बालों को नुकसान पहुँचता है।

विटामिन बी डेयरी प्रोडक्ट में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसका सेवन नियमित करने से बालों को मजबूती मिलती है और बाल सफेद नहीं होते। बालों के लिए विटामिन बी 6 और बी 12 भी महत्वपूर्ण है। शरीर में इस विटामिन की कमी होने से बालों को ऑक्सीजन मिलना कम हो जाता है। फॉलिक एसिड और बॉयोटिन की कमी से बाल सफेद होने लगते हैं।

विटामिन की कमी कैसे दूर करें:

जिन लोगों के बाल सफेद हो रहे है उन्हें विटामिन बी, विटामिन बी 6 और विटामिन 12 जैसे विटामिन को अपनी डाइट में शामिल करें। दूध से बने प्रोडक्ट से विटामिन बी की कमी दूर की जा सकती है। विटामिन बी 6 और बी 12 की कमी को दूर करने के लिए साबुत अनाज, मछली, चिकन, मीट, अंडा और हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.