आड़ू खाने के फायदे और नुकसान | Daily Health Tip | Aayu App

Peach benefits

अगर आप वजन कंट्रोल करना चाहते है तो आड़ू का सेवन कर सकते है क्योंकि इसमें कम कैलोरी होती है।

If you want to control your weight, you can eat peach as it contains less calories.”

Health Tips for Aayu App

पीच (Peach) को हम हिंदी में आड़ू के नाम से जानते है। आडू काफी हद तक सेब जैसा दिखता है लेकिन इसका बाहरी पीला रंग और इसके अन्दर के कठोर बीज की वजह से यह सेब से अलग होता है। आड़ू में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, मिनरल्स और फाइबर प्रचुर मात्रा में होते है जो शरीर को लाभ पहुंचाते है।

आड़ू आपके लिए क्यों अच्छा है?

आड़ू के कई स्वास्थ्य लाभ है। आड़ू में फाइबर, कम कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-सी, विटामिन-ए, विटामिन-ई, नियासिन, पोटैशियम, मैंगनीज व फास्फोरस जैसे पोषक तत्व शामिल होते है। आप बेहतर पाचन, स्वस्थ त्वचा और एलर्जी से राहत पाने के लिए आड़ू का सेवन कर सकते है।

आड़ू के फायदे:

  • आडू में बहुत कम कैलोरी पाई जाती है। इसलिए अगर आप इसे नाश्ते में खाते है तो लंच टाइम तक आपको और कुछ खाने की जरूरत नहीं होती। इस वजह से यह वजन को कंट्रोल करने सहायक है।
  • पीच में पाए जाने वाले मुख्य तत्व कैंसर कोशिकाओं के निर्माण और उन्हें बढ़ने से रोकते है। आड़ू में कैरोटीनॉयड और कैफिक एसिड पाए जाते है, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते है। ये दोनों कैंसर की रोकथाम में कारगर होते है। आड़ू में पॉलीफेनॉल्स पाए जाते है, जो ट्यूमर को कैंसर में बदलने नहीं देते। आड़ू स्वस्थ कोशिकाओं को सुरक्षा प्रदान कर कैंसर की कोशिकाओं को नष्ट कर सकता है। आड़ू फल में पाए जाने वाले पॉलीफेनॉल्स स्तन कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोक सकते है साथ ही कोलन कैंसर में भी यह मददगार साबित हो सकता है।
  • आड़ू से शरीर को पर्याप्त मात्रा में फाइबर मिलता है। फाइबर पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाने में मददगार है और साथ ही कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। पाचन के लिए अच्छा होने के अलावा मूत्रवर्धक के रूप में भी आड़ू के फायदे है। यह लिवर को भी साफ करने में मदद करता है।
  • अगर आप उच्च रक्त कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित है, तो प्रतिदिन एक आड़ू फल का सेवन कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। आड़ू में पाया जाने वाला फाइबर शरीर में मौजूद कोलेस्ट्रॉल को कम करता है साथ ही इससे होने वाली बीमारियों से सुरक्षा भी प्रदान करता है।
  • ताजा पीच के गूदे और छिलके का सेवन साइटटॉक्सिसिटी से छुटकारा दिलाता है, जो कि मस्तिष्क की कोशिकाओं के लिए हानिकारक होता है साथ ही इसके सेवन से मस्तिष्क के ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को भी दूर करने में मदद मिलती है साथ ही आड़ू फल में पाया जाने वाला फोलेट दिमाग को स्वस्थ रखने में सहायक होता है।
  • आड़ू में पोटैशियम, फ्लोराइड और आयरन जैसे कई महत्वपूर्ण खनिज होते है। पोटैशियम सेल और शरीर के तरल पदार्थों का एक महत्वपूर्ण घटक है, जो ह्रदय गति और रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। आड़ू फल का प्रतिदिन सेवन करने से कोरोनरी ह्रदय रोग और स्ट्रोक का जोखिम काफी कम हो सकता है साथ ही ह्रदय को सुरक्षा भी प्रदान करता है। आड़ू ह्रदय को नुकसान पहुंचाने वाले उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है।
  • आड़ू में विटामिन-सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो एंटी-ऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। यह हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है।
  • इसमें पाया जाने वाला पोटैशियम, आपके किडनी के लिए बहुत फायदेमंद है। यह आपके यूरिनरी ब्लैडर के लिए एक क्लेजिंग एजेंट की तरह काम करता है जिससे यह हमें किडनी से जुड़ी बीमारियों से दूर रखता है।
  • आंखों को स्वस्थ्य और विजन पॉवर बढ़ाने के लिए इस फल का सेवन करना फायदेमंद होता है। आड़ू में बीटा कैरोटीन पाया जाता है, जो शरीर में विटामिन ए के बनने के लिए जरूरी है। विटामिन ए रेटिना को स्वस्थ रखने में बहुत मदद करता है।

आड़ू के नुकसान:

  • एलर्जी प्रतिक्रियाएं: कुछ लोगों के लिए आड़ू एलर्जी का कारण हो सकता है।
  • गंभीर रोगों का कारण: सूखे आड़ू के उत्पादन में सल्फर डाइऑक्साइड का उपयोग किया जाता है। इससे अस्थमा, पित्त, ब्रोंकाइटिस और एनाफिलेक्सिस एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है।
  • आड़ू सीड्स : आड़ू के बीज में साइनाइड होता है, जो एक प्रकार का जहर होता है। अगर आप इसका उपयोग करते है, तो स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। इसलिए इसे लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.