COMMON COLD | साइनस का ख़तरा शुरू होता है साधारण जुखाम से, कैसे बचें?

Common Cold

नाक बहना, गले में खराश और लगातार छींके आने जैसे सामान्य जुखाम (Common Cold) के लक्षणों को सब जानते है, आइये जानें कैसे बचें इस तकलीफदेह समस्या से और ना बनने दे इसे बड़ी परेशानी।

अपने बच्चों को ज़ुखाम (Common Cold) से कैसे बचाएं?

जुखाम (Common Cold) होना आपकी उम्र और संगति पर भी निर्भर करता है। लेकिन चाहे आप जवान हों या बूढ़े हों, जीवाणुओं के खिलाफ लड़ने के लिए आप सरल चीजें कर सकते हैं।

नवजात शिशु को —

आपके नवजात शिशु को पहले 4 से 6 सप्ताह में ज़्यादा जोखिम और अन्य संक्रमण होने की सम्भावना अधिक होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि उनका इम्युन सिस्टम रोगाणुओं के खिलाफ शरीर की रक्षा पूरी तरह से करने के लिए विकसित नहीं होता है।

बीमार होने से बचने के लिए, यदि संभव हो तो –

  • यदि आप बोतल दूध पिलाते हैं, तो खाने के पहले बोतल और निप्पल को गर्म पानी में उबाल के अच्छे तरह से साफ़ कर के ही प्रयोग करे।
  • दूध को खराब होने से बचाने के लिए हमेशा रेफ्रीजिरेटर में ही रखें एवं गर्म करके तुरंत अपने बच्चे को दें जिससे बैक्टीरिया नहीं पनपते।
  • प्रत्येक भोजन के बाद बचे हुए भाग को फेंक दें।
  • बच्चे का डायपर बदलने के बाद हाथ धोके ही खिलाएं।
  • अपने शिशु को बीमार व्यक्ति से दूर रखे।

जवान बच्चों को-

ज्यादातर बच्चों को साल में 5 से 7 बार सर्दी/जुखाम (Common Cold) होता है। ये बहुत ही आम है खासकर भाइयों-बहनों में जिनमें से कोई भी एक पहले से सर्दी/जुखाम (Common Cold) वायरस से संक्रमित हो या उन बच्चो में जो दोस्तों के साथ समय बिताते है एवं एक दूसरे से निकट संपर्क में रहते है । इस आयु के बच्चों में संक्रमण बहुत आसानी से फैलता है।

अपने नौजवान को स्वस्थ रखने के लिए इन युक्तियों का पालन करें:

  • उनके खिलौनों को साबुन और पानी से धोएं और फिर उन्हें सुखा दें।
  • साबुन और पानी के साथ pacifiers (शांत करने के लिए खिलौना) को भी धो लें।
  • नियमित रूप से अपने बच्चे के हाथ गर्म पानी से धो के साफ कपड़े से पोंछे।
  • सुनिश्चित करें कि उनके हाथ खाने से पहले और खेलने के समय साफ़ हो।

डे केयर

डे केयर में सर्दी/जुखाम (Common Cold) आसानी से फैलता है, इसलिए आपको अपने बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए कुछ अतिरिक्त कदम उठाने होंगे। अपने बच्चे को सही तरीके सिखाएं। सुनिश्चित करें कि वह  20 से 30 सेकंड के लिए नियमित रूप से अपने हाथ गर्म पानी से धो के एक साफ कपड़े से पोंछे। खाने से पहले और बाथरूम जाने के बाद उसे हाथ धोने के लिए याद दिलाएं।

इन सुझावों का भी पालन करें:

  • अपने बच्चे को कप, चश्मा, कांटे और चम्मच न साझा करने के लिए कहें।
  • जब वह बीमार होता है तो उसे घर पर रखें।
  • सुनिश्चित करें कि वह स्वस्थ आहार खाता है।

कॉलेज छात्रावास में जीवन

यदि आप कॉलेज के छात्रावास में रहते हैं तो ठंड पकड़ना आसान होता है, जहां बहुत से छात्र एक छोटी सी जगह में रहते हैं और एक ही हवा में सांस लेते हैं और उसी सतह को छूते हैं। उनको समझाइये कि वह अपने हाथ धोएं, स्वस्थ भोजन खाएं, और जितना संभव हो स्वच्छता का ध्यान रखें।

बूढ़े लोगो को-

जैसे-जैसे आप बूढ़े हो जाते हैं, खासतौर पर 65 साल की आयु से अधिक तो आपको सर्दी होने का जोखिम ज़्यादा होता है|

  • स्वस्थ रहने के लिए, पौष्टिक आहार ले, बहुत सारा पानी पीएं, और पर्याप्त आराम करें।
  • दिन में अच्छी तरह से कई बार, और विशेष रूप से खाने से पहले और बाथरूम में जाने के बाद हाथ धोएं।
  • इसके अलावा,बूढ़े लोग अपना टूथब्रश अन्य व्यक्तियों के साथ न बाँटे और सुनिश्चित करें कि आप नियमित रूप से अपने टूथब्रश को बदलते है।

इन उपायों को आजमाकर आप खुद एवं अपने परिवार को सर्दी व खांसी (Common Cold) के प्रभाव से बचा सकते हैं।

साइनस (SINUS) का इशारा समझें:

नाक बहना: ये लक्षण कितने समय तक रहते है ये सर्दी है या साइनस इस बात का संकेत है।

सर्दी/जुखाम

यह एक वायरस है, जिसमें सामन्यता: 10 दिनों या उससे कम समय में आप अपने आप बेहतर हो जाते हैं।

सर्दी/जुखाम (Common Cold) के लक्षण

अगर आपको —

  • लगातार छींक आए।
  • गले में खराश हो।
  • सांस लेने में परेशानी हो।
  • नाक बहे।

शायद आपको जुखाम है।

Common Cold | सामान्य सर्दी/जुखाम क्या होता है?

साइनस इन्फेक्शन (Sinus Infection)

साइनस इन्फेक्शन में आपके नाक के मार्ग संक्रमित हो जाते हैं, जिसकी वजह से सांस लेने में परेशानी होती है। साइनस आम सर्दी के रूप में शुरू होता है, और फिर एक बैक्टीरियल, वायरल या फंगल संक्रमण के रूप में पूरी तरह से विकसित हो जाता है।  

साइनस (Sinus) संक्रमण के लक्षण-   

आपको इनमें से कुछ लक्षण हो सकते हैं:

  • आँखों और गालों के पीछे साइनस का दबाव
  • एक हफ्ते से ज्यादा नाक का बहना
  • सरदर्द का बिगड़ना
  • बुखार
  • खांसी
  • सांसों की बदबू
  • आपकी नाक से गाढ़ा पीला या हरा बलगम निकलना
  • थकान
  • सूंघने की शक्ति का कम होना

साइनस का इलाज –  साइनस संक्रमण हो जाने पर मरीज को किसी विशेषज्ञ से तुरंत परामर्श करना चाहिए।

लगातार बदलते मौसम के चलते भारत में लोगों को साइनस इन्फेक्शन होने का खतरा ज़्यादा होता है। कुछ सामान्य बातों पर ध्यान दें और समस्या से बचें।

मेडकॉर्ड्स एप डाउनलोड करें

यदि आप में या आपके परिवार के किसी सदस्य में सर्दी/जुखाम (Common Cold) के लक्षण दिख रहे हैं, तो आज ही हमारे टोल फ्री नंबर +91-781-681-1111 पर कॉल करें और नज़दीकी सेहत साथी के पास जा कर एक्सपर्ट डॉक्टर से सलाह लें| याद रहे की लक्षण गंभीर होने पर घरेलु इलाजों पर निर्भर न रहें और जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *