PMDD क्या है जिसमें महिलाऐं सुसाइड करना आसान समझती है

PMDD

सबसे पहले हम यह जानेंगे PMDD क्या है। PMDD (प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम) एक समस्या है जो महिलाओं में हर महीने मासिक धर्म शुरू होने से कुछ दिन पहले प्रभावित करती है। इस दौरान महिलाओं को शारीरिक और भावनात्मक कमजोरी महसूस होती है और यह रक्तस्त्राव के आसपास खत्म हो जाते है।

पिछले कुछ समय से PMDD को लेकर काफी चर्चा हो रही है। PMDD यानि Premenstrual Dysphoric Disorder जिसमें महिलाओं को पीरियड्स की शुरुआत से पहले कई तरह के ख्याल आते हैं जिसमें सबसे खतरनाक बात है इस स्थिति में महिलाऐं सुसाइड करने के ख्याल से गुजरती है।

PMDD क्या है ? What is PMDD in Hindi

यह पीएमएस (PMS) का ज्यादा गंभीर रूप है। डायग्नोसिस एंड स्टैटिस्टिकल मैनुअल ऑफ मेंटल डिसऑर्डर्स के अनुसार महावारी से पहले बेचैनी की समस्या या पीएमडीडी को एक मानसिक स्वास्थ्य विकार माना जाता है।

PMDD का कारण स्पष्ट नहीं है। अवसाद ग्रस्त होना और बेचैनी के लक्षण पीएमएस और पीएमडीडी दोनों में समान हैं इसलिए यह संभव है कि मासिक धर्म के लिए हार्मोन में बदलाव मनोवस्था संबंधी विकार (मूड डिसऑर्डर) के लक्षणों को ज्यादा गंभीर समझते हैं।

पीएमडीडी के इलाज में लक्षणों को रोकने या उसे कम करने पर जोर दिया जाता है। इसके लिए अवसादरोधी (antidepressants) दवा का इस्तेमाल किया जाता है।

PMS से आगे क्या होता है?

हमारे समाज में महिलाओं की सेहत की बात करें तो इस तरह के मुद्दों पर कम ही चर्चा होती है। PMS की स्थिति में महिलाओं को कम से कम 150 से ज्यादा अधिक और अलग-अलग लक्षणों से गुजरना पड़ता है। जिसमें महिलाओं को दर्द से लेकर कई तरह के तनाव से जूझना पड़ता है। उन्हें मदद की जरूरत होती है लेकिन इसको लेकर भी गंभीरता कम देखी जाती है और चर्चा ना के बराबर ही की जाती है।

क्या है PMDD और इसका इलाज :

  • अगर आप Ovulation के आसपास तनाव महसूस करते है और आपकी दिनचर्या काफी हद तक बाधित हो रही हो तो इसके काफी लक्षण है। यह पीरियड्स शुरु होने के एक या दो हफ्तों तक चलेगा।
  • इसमें मूड स्विंग्स, दुख महसूस करना, बहुत गुस्सा करना और झुंझलाहट होना, उम्मीद खो देना, काम में ध्यान लगाने में दिक्कत होना, कमजोरी और थकान महसूस करना, बहुत ज्यादा नींद आना आदि कारण हैं।
  • जोड़ों में दर्द होना, स्तनों में सूजन और दर्द, सिरदर्द और पेट में ब्लोटिंग, डाइट में बदलाव और भूख ना लगना। किसी खास फूड के लिए दिनभर क्रेविंग होना, किसी समस्या से गुजरते हुए बहुत ज्यादा तनाव में आ जाना। 

PMDD का इलाज Treatment of PMDD in Hindi

अगर स्थिति गंभीर है तो किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह लें और अपने लाइफस्टाइल में बदलाव करें। अपने डाइट में बदलाव करें। रोजाना कसरत करें। अच्छी नींद लें। तनाव से खुद को दूर रखने की कोशिश करें। कैफीन, शुगर, एल्कोहल की मात्रा को नियंत्रित करें। इसे इग्नोर करने की बजाय डॉक्टर से सही सलाह लें और इलाज करवाएँ।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ  डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.