Pfizer COVID-19 Vaccine : भारत में COVID-19 वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी के लिए दिया आवेदन फ़ाइज़र ने वापस लिया

COVID-19 Vaccine

Pfizer COVID-19 Vaccine: भारत में कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी के लिए दिया आवेदन फ़ाइज़र (Pfizer) ने वापस ले लिया है। यह जानकारी दुनिया की दिग्गज दवा कंपनियों में शुमार फ़ाइज़र (Pfizer) ने शुक्रवार को दी। 

मालूम हो, ”कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine)” की फ़ाइज़र पहली कंपनी थी, जिसने भारत में वैक्सीन के आपात उपयोग की अनुमति के लिए औषधि नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) के समक्ष आवेदन किया था। इससे पहले, कंपनी को ब्रिटेन और बहरीन में इस तरह की मंजूरी मिल चुकी थी। 

कोविड-19 वैक्सीन पर फ़ाइज़र प्रवक्ता का बयान 

कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) पर फ़ाइज़र प्रवक्ता का बयान आया है, जिसमें प्रवक्ता ने कहा, “कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) के आपात उपयोग की अनुमति के सिलसिले में फ़ाइज़र ने तीन फरवरी को औषधि नियामक की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी की बैठक में हिस्सा लिया। बैठक में हुए विचार-विमर्श और नियामक को अतिरिक्त जानकारी की जरूरत होने की हमारी समझ के आधार पर, कंपनी ने इस समय अपने आवेदन को वापस लेने का फैसला किया है।”

बयान में कहा गया है कि फ़ाइज़र प्राधिकरण के साथ संपर्क में रहेगा और निकट भविष्य में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त जानकारी के साथ अनुमति के लिए फिर से आवेदन करेगी। 

अतिरिक्त जानकारी के साथ आपात मंजूरी के लिए फिर से आवेदन करेगी फ़ाइज़र 

अमेरिकी कंपनी फ़ाइज़र का कहना है कि यह प्राधिकरण के साथ ‘जुड़ाव जारी रखेगी’ और अतिरिक्त जानकारी के साथ मंजूरी के लिए फिर से आवेदन करेगी। हालाँकि कंपनी की ओर से जो कहा गया है उससे साफ़ नहीं है कि क्या अतिरिक्त जानकारी इससे मांगी गई थी। 

फ़ाइज़र के प्रवक्ता ने कहा कि फ़ाइज़र भारत सरकार द्वारा उपयोग के लिए अपनी वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है और आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के अपेक्षित मानकों को पूरा करने के लिए भी। 

दिसंबर महीने की शुरुआत में सबसे पहले फाइजर और फिर सीरम इंस्टीट्यूट व भारत बायोटेक ने वैक्सीन की मंजूरी के लिए विशेषज्ञ पैनल को आवेदन किया था। आँकड़े पर्याप्त नहीं होने की बात कहकर तीनों को ही मंजूरी नहीं दी गई थी।

फ़ाइज़र को इंग्लैंड में इस्तेमाल की मिल चुकी मंजूरी 

ग़ौरतलब है कि भारत में आवेदन करने से पहले ही फ़ाइज़र को इंग्लैंड में कोविड-19 वैक्सीन के (Covid-19 Vaccine) आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिल चुकी थी और इसका टीका भी लगाया जाने लगा था। इसी आधार पर फ़ाइज़र ने भारत में क्लिनिकल ट्रायल से छूट देने के साथ डीसीजीआई में आवेदन किया था। 

न्यू ड्रग्स एंड क्लिनिकल ट्रायल नियम, 2019 के मुताबिक़ कोई कंपनी इस तरह की छूट माँग सकती है। ऐसा तभी हो सकता है जब उस वैक्सीन को दूसरे किसी देश में मंजूरी दी गई हो और इसे वहाँ से ख़रीदा जा रहा हो।

ये भी पढ़ें

डिस्क्लेमर

भारत में कोरोना वायरस की स्थिति और कोविड-19 वैक्सीन के वैक्सीनेशन को लेकर हम हर दिन की अपडेट आप तक पहुँचा रहे हैं। आज हमने इस लेख में फाइजर कोविड-19 वैक्सीन के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है ये जानकारी आपको पसंद आएगी। अगर इस पर आपका कोई सुझाव है या फिर आप किसी विषय पर विस्तार से स्वास्थ्य जानकारी पाना चाहते हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं।

रोजाना अपने फोन पर स्वास्थ्य जानकारी और किसी भी बीमारी के लिए विशेषज्ञ डॉक्टर से ऑनलाइन परामर्श पाने के लिए डाउनलोड करें आयु ऐप।

Leave a Reply

Your email address will not be published.