Navratri 2020: नवरात्रि के लिए स्पेशल सात्विक थाली, स्वाद ऐसा भूल जाएंगे सब

navratri me satvik thali

नवरात्रि में ज्यादातर अन्न नहीं खाया जाता है बल्कि फलाहार किया जाता है। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे है इस नवरात्रि की थाली में फलहार में क्या-क्या खाना चाहिए।

साल 2020 में नवरात्रि की शुरुआत 17 अक्टूबर से हो रही है, नवरात्रि का अंतिम दिन 25 अक्टूबर को है। इस दौरान कई सारे लोग पूरे नौ दिनों का व्रत रखते हैं, और तब अन्न का सेवन नहीं करते बल्कि फलाहार करते है। नवरात्रि के नौ दिनों में दुर्गा माँ की पूजा की जाती है, ऐसे में व्रत में कौन-कौन-सी डिश बना सकते है यह जानते है।

भारत के उत्तर, पूर्वी और पश्चिम भारत में खासतौर पर लोग व्रत रखते हैं और इस दौरान वो कई सारे पकवान खाते हैं। हर घर में इस दौरान बिना लहसुन और प्याज के सात्विक भोजन किया जाता है। आप खाने में सेंधा नमक का इस्तेमाल भी कर सकते है।

कुट्टू का डोसा: कुट्टू लोग व्रत के दौरान खाना बहुत पसंद करते हैं, लोग इसके आटे का हलवा या पूड़ी बनाकर खा लेते हैं। लेकिन आप इनको अलग तरह से भी बना सकते है। इसके लिए आप आलू उबाल लें और इसकी स्टफिंग करें।

आलू की कढ़ी: व्रत के दौरान लोग आलू से बनी कई चीजें बनाकर खाते हैं, इस दौरान लोग प्याज या फिर बेसन की पकौड़ी वाली कढ़ी नहीं खा सकते हैं। इसलिए आलू की कढ़ी बना सकते है। इसमें आप आलू और दही को मिलाकर आलू की स्पेशल कढ़ी बनाएं ये खाने में अच्छी लगती है और इससे आपको ऊर्जा भी मिलती है।

मखाना खीर: अगर आपको कुछ मीठा खाना है तो आप मखाना खीर खा सकते हैं। इसमें आप खूब सारे ड्राई फ्रूट्स डालकर खा सकते हैं। अगर आपको अपनी सेहत का ख्याल रखना है तो आप लो-फैट मखाने का इस्तेमाल कर सकती हैं, ये स्वास्थ और स्वाद दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं।

कबाब-ए-केला: केला खाने से आपको एनर्जी मिलती है और व्रत में आप कुछ खास खाना चाहते हैं तो ऐसे में आप घर पर कबाब-ए-केला बना सकते हैं। इसके लिए आप केला, इलायची और अदरक को साथ में उबालकर मैश करें फिर छोटे-छोटे लड्डू बनाकर तवे पर सेकें या फिर घी में तलें।

नवरात्रि में बनने वाली चीज़ों से मिलने वाली कैलोरी (Calories from things made in Navratri):

नवरात्री में लोग फास्ट रखते हैं। लेकिन कई लोग व्रत में बहुत सारी चीजें खा लेते हैं। जिस वजह से बॉडी डिटॉक्स नहीं हो पाती। अब सात्विक पिज्जा भी आने लग गया है जो व्रत के दौरान आप खा सकते है। नवरात्रि का व्रत लगभग हर कोई करता है।

कुट्टू की पूड़ी: बहुत सारे लोग व्रत में कुट्टू की आटे की पूड़ी खाते है। एक मध्यम आकार की कुट्टू की पूड़ी में लगभग 250 ग्राम कैलोरी होती है।

सामक की खीर और पनीर कोफ्ता: एक कटोरी सामक की खीर में 175 ग्राम कैलोरी होती है और एक कटोरी पनीर कोफ्ता में 300 ग्राम कैलोरी होती है मतलब कुल मिलाकर 475 ग्राम कैलोरी हुई।

आलू की सब्जी और साबूदाना नमकीन: आप आलू की सब्जी बनाकर खा सकते है। साबुदाना नमकीन भी आप व्रत में खा सकते हैं। 1 कटोरी आलू की सब्जी में 180 ग्राम कैलोरी और 100 ग्राम साबूदाना नमकीन में 250 ग्राम कैलोरी होती है।

फलाहार में खाने वाली चीज़ों के फायदे (Benefits of eating Falaahaar):

कुट्टू का आटा:

  • कुट्टू में 75 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट होता है और 25 प्रतिशत हाई क्वालिटी प्रोटीन होता है जो वजन कम करने में मदद करता है । इसमें अल्फा लाइनोलेनिक एसिड होता है, जो एचडीएल कोलेस्ट्रोल (HDL cholestrol) को बढ़ाता है और एलडीएल(LDL) को कम करता है।
  • कुट्टू के आटे में मैग्नीशियम होता है जो ब्लड प्रेशर घटाने में मददगार है।
  • कुट्टू के आटे में डी-चीरो-इनोसिटोल नामक तत्व होता है जो टाइप 2 डायबिटीज से बचाता है।
  • यह ना घुलने वाले फाइबर का अच्छा स्रोत है और पित्ताशय (Gall bladder) में पत्थरी होने से बचाता है।
  • 5 प्रतिशत ज्यादा घुलनशील फाइबर लेने से गाल ब्लैडर की पथरी होने का खतरा 10 प्रतिशत कम हो जाता है।फाइबर से भरपूर कुट्टू का आटा डायबिटीज के मरीजों के लिए भी अच्छा है। 

साबुदाना:

  • साबूदाना में प्रोटीन (protein) भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसे खाने से हड्डियों का विकास होता है।
  • इसमें हाईपोटैशियम लेवल होता है, इसलिए ये कार्डियोवस्कुलर प्रणाली के ठीक से काम करने में सहायता करता है।
  • शरीर के तापमान को सही रखता है साथ ही इसे खाने के बाद ज्यादा भूख नहीं लगती।
  • सेहत के साथ ही यह स्किन को हेल्दी रखता है। इसे फेसमास्क की तरह लगाने से चेहरे की रंगत खिल जाती है और झुर्रियों की समस्या दूर होती है।

समा के चावल:

  • व्रत रखने वालों और चावल खाने के शौकीन लोगों के लिए समा के चावल सबसे अच्छा विकल्प है।
  • इसमें 174 ग्राम में 169 कैलोरीज पाई जाती हैं साथ ही व्रत के दिनों में यह आसानी से पचने वाला फलाहारी भोजन है।
  • इसमें विटामिन (vitamin) और मिनरल्स (minerals) भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ  डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.