Navratri 2020: इन 5 तरीकों से अपने व्रत को बनाएं हेल्‍दी, व्रत तन-मन को शुद्ध करने का है बेहतरीन मौका

ways to keep your fast healthy

नवरात्रि (Navratri) में नौ दिन व्रत रखा जाता है। इस दौरान आप अपने शरीर को डिटॉक्स रख सकते है। व्रत रखकर आप शरीर की सफाई करते है। इसका वैज्ञानिक पहलू भी है और वह है व्रत रखने के दौरान जब आप अनाज का त्‍याग कर फलाहार करते हैं तो शरीर पूरी तरह से शुद्ध हो जाता है। शरीर के हानिकारक बैक्‍टीरिया खत्म हो जाते है। इससे हमारे शरीर की कार्यप्रणाली सही से काम करती है।

अगर आप नवरात्रि (Navratri) में खुद को हेल्‍दी और फिट रखना चाहते हैं या खुद को डिटॉक्‍स करना चाहते हैं, तो आइये हम कुछ बातों के बारे में बताते है जिनसे आप हेल्दी और फिट रह सकते है।

खुद को हेल्दी और फिट रखने के लिए नवरात्रि (Navratri) में ध्यान रखने वाली बातें:

खानपान सही रखें: व्रत में भूखा नहीं रहना चाहिए। आप ऐसे समय में फल और व्रत वाले आहार जैसे: कुट्टू के आटे से बनी डिश, राजगीरा, उबला आलू या शकरकंद आदि का सेवन करना चाहिए। आप व्रत में मखाने को देसी घी में भूनकर खा सकते हैं, यह सेहत के लिए फायदेमंद है।

पानी या नींबू पानी का सेवन करें: व्रत में बॉडी को डिटॉक्‍स किया जा सकता है। आपको अपने शरीर में पानी की मात्रा बरकरार रखने के लिए पानी का सेवन करना चाहिए। आप गुनगुने पानी में नींबू और शहद मिलाकर पी सकते है।

हेल्दी स्नैक्स का सेवन करें: फल और देसी घी में भूने मेवे अच्छे स्‍नैक्‍स हो सकते हैं। ये एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन, खनिज और फाइबर से भरे होते हैं। मौसमी ताजे फल संपूर्ण शरीर के लिए फायदेमंद होते है। मेवे का सेवन सीमित मात्रा में करें। तले हुए पापड़, चिप्‍स आदि का सेवन ना करें जब आपको कैलोरी पर ध्यान देना हो।

पेय पदार्थों को सही से चुनें: अभी भी गर्मी है, इसलिए शरीर को हाइड्रेटेड रखना जरूरी है। इसलिए तरल पदार्थ लेना ना भूलें। विटामिन-सी (एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट), और सोडियम, पोटेशियम और कैल्शियम से युक्‍त नारियल पानी एक अच्छा पेय विकल्प है। आप ताजे फलों का रस और सब्जियों का रस भी व्रत में लें सकते है।

हल्की एक्सरसाइज और प्राणायाम करें: व्रत में एक्‍सरसाइज करना ना भूलें मगर ध्‍यान रखें कि आप हल्की एक्सरसाइज करें। आप योगासन और प्राणायाम की मदद से मन को शांत भी रख सकते हैं।

नवरात्रि के दिनों में अपने दिन की दिनचर्या कैसी रखें (Daily Routine to follow at the time of Navratri):

नवरात्रि के दिनों में सबसे पहले सुबह उठकर गर्म पानी में नींबू और शहद डाल कर पिएँ।

करीब 10 बजे आप बहुत सारे फलों का रस बनाकर पी सकते है। इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती रहेंगी। और अगर आप एक महिला है तो आपको आपके घर का काम भी करना रहता है। इसलिए इस दौरान खुदको एनर्जेटिक रखना बहुत जरूरी है। अगर पुरुष है तो बाहर का काम जैसे ऑफिस आदि का काम करना होता है। इसलिए इस दौरान खुदको एनर्जेटिक रखना बहुत जरूरी है।

करीब 12 बजे लंच का समय रहता है तो आप फल जैसे कि सेब, केला आदि ले सकते है।

अगर आप खाना खाते है तो आप 4 से 5 बजे के बीच में आप साबूदाने की खिचड़ी खा सकते है। इसके बाद 6-7 बजे के बीच में आप खाना खा सकते है लेकिन याद रखें कि सोने से करीब 2-3 घंटे पहले खाना खा लें। और खाने में ज्यादा ऑयली खाना ना खाएं। इसके आपके स्वास्थ्य पर बुरे प्रभाव पड़ते है।

अगर आप फलाहार करते है तो 4 से 5 बजे के बीच फलाहार करें जैसे कुट्टू के आटे की पूड़ी, दही-आलू की सब्जी आदि का सेवन करें।

रात में सोने से 15 मिनट पहले हल्दी वाला दूध पिएँ क्योंकि कोरोना का समय चल रहा है।

ऑयली खाना खाने के नुकसान (Side effects of Oily Food):

ऑयली खाना खाने से व्यक्ति को डिप्रेशन जैसी बीमारी हो सकती है क्योंकि इस तरह का खाना खाने से हार्मोन्स जैसे कोर्टिसोल और डोपामाइन में अंसतुलन होता है। अगर यह हॉर्मोन ज्यादा हो जाता है तो व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार होता है।

ऑयली खाने में रीफाइन कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है। इसको खाने से खून में शुगर की मात्रा कम हो जाती है, जिसके कारण व्यक्ति में डिप्रेशन और एंग्जायटी जैसे विकार देखने को मिलते हैं।

ऑयली खाना ज्यादा मात्रा में खाना खाने से कम नींद या कई बार नींद नहीं आती। पूरी नींद ना आना शरीर के लिए हानिकारक होता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ  डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.