fbpx

National Parent’s Day: कोरोना के समय बच्चों की सेहत का कैसे ध्यान रखें

National Parent’s Day: कोरोना के समय बच्चों की सेहत का कैसे ध्यान रखें

बदलता मौसम आजकल बच्चों को बीमार कर रहा है। कभी सर्दी तो कभी गर्म मौसम होने के कारण सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियां लोगों को परेशान कर देती है। मौसम बदलने के साथ ही बीमारियों का प्रकोप भी शुरू हो जाता है। सबसे पहले बच्चे इनकी चपेट में आते है इसलिए इस मौसम में अपने बच्चों को सर्दी-खांसी, जुकाम जैसे तरह-तरह के वायरल और दूसरी बीमारियों से बचाने के लिए उनका खास ख्याल रखना पड़ जाता है।

खांसी-जुकाम से बच्चों को बचाने के टिप्स:

  • बच्चों को रोज कम से कम आठ गिलास पानी पिलायें जिससे उनके शरीर में पानी की कमी ना रहें और पेट की सारी गंदगी बाहर आ सकें। 
  • घर से निकलने से पहले उनके नाक पर सरसों का तेल जरूर लगाएं इससे उन्हें किसी दूसरे के छीकने या खांसने से निकलने वाले कीटाणुओं से बचने में मदद मिलेगी। 
  • बच्चों की पानी की बोतल में थोड़ा सा ग्लूकोज और तुलसी के पत्ते डाल दें, ताकि वे ऊर्जावान महसूस करें और स्कूल से वापस आते ही उन्हें शहद मिलाकर गुनगुना पानी पिलाएं। स्कूल जाते समय उनके हाथो में सैनिटाइजर लगाकर भेजें। इससे वे जल्दी से कीटाणुओ के संपर्क में नहीं आएंगे। 

ध्यान रखने योग्य बातें:

  • बच्चों के खाने में प्याज, हरी सब्जियां, जूस, फल आदि शामिल करें।
  • एक सेब और दही रोज जरूर खिलाएं, इससे वह जल्दी से बीमार नहीं होंगे। 
  • बच्चे जब गार्डन में जाएं तो उन्हें समझाएं कि उन जगहों के पास ना खेलें जहां थोड़ा भी पानी इकट्ठा हो। 
  • बच्चों के कपड़ों को साफ रखें, खासकर जिन कपड़ों को वे पहनकर गार्डन जाते हों, उन्हें अलग रखें और फिर से बिना धोएं ना पहनाएं। 
  •  बच्चों को बाहर की चीजें जैसे गोलगप्पे, नूडल्स, चाट आदि ना खिलाएं। उनका खाने का मन करें तो घर पर बनाकर खिलाने की कोशिश करें।

गर्मियों में पेरेंट्स बच्चों की किन-किन बातों पर ध्यान दें:

पेरेंट्स बच्चों को किस तरह का खाना दें: गर्मी के मौसम में बच्चों की पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है। खाना पचने में समय लगता है। इस दौरान बच्चों को डायरिया, पीलिया और टायफाइड होने की आशंका बढ़ जाती है। इसलिए बच्चों के खानपान का पूरा ख्याल रखें। बच्चों को हल्का, सुपाच्य और ताजा खाना दें। इस बात का ध्यान रखें कि बच्चें बाहर का ना खाएं।

बच्चों की एक्टिविटी पर पेरेंट्स किस तरह ध्यान दें: गर्मी की छुट्टियों में बच्चे खेलना पसंद करते है। लेकिन पेरेंट्स ध्यान रखें कि दोपहर में खेलना खतरनाक हो सकता है। बच्चे को दोपहर में बाहर ना जानें दें ताकि वह लू और तेज धूप के संपर्क में ना आएं।

पेरेंट्स मच्छरों से कैसे बचाव करें: गर्मी के मौसम में मच्छर और दूसरे जहरीले कीड़े काफी सक्रिय हो जाते है। इसलिए बच्चे जब भी घर से बाहर जाएं उन्हें मच्छर और कीड़ों से सुरक्षित रखने वाली क्रीम लगाकर बाहर भेजें।

पेरेंट्स बच्चों को पानी की कमी कैसे ना होने दें: किसी को भी गर्मी में शरीर में पानी की कमी हो सकती है। बच्चे को घर में बना जूस, छाछ या नारियल पानी दें। बच्चे को ऐसे फल खाने के लिए दें, जिसमें पानी की भरपूर मात्रा हो।

पेरेंट्स कैसे बच्चों में सफाई की आदत रखें: गर्मी में बच्चे को नियमित स्नान करने की आदत डलवाएं। समय-समय पर उन्हें चेहरा और आंखें धोने को कहें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )