National Cancer Awareness Day: कैंसर के 5 प्रमुख कारण और रिस्क फैक्टर, जानें

National Cancer Awareness Day

National Cancer Awareness Day : कैंसर (Cancer)बीमारी के प्रति जागरूक करने के लिए भारत में 7 नवंबर को नेशनल कैंसर अवेयरनेस डे (National Cancer Awareness Day) मनाया जाता है। WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के अनुसार दुनिया भर में होने वाली मौतों का बहुत बड़ा कारण कैंसर है।

1. कैंसर की बीमारी के 5 प्रमुख कारण

कैंसर (Cancer) से होने वाली लगभग एक-तिहाई मौतों के लिए 5 प्रमुख कारण मुख्य रूप से जिम्मेदार है। इसमें मोटापा, भोजन में फलों और सब्जियों का कम उपयोग, कोई भी शारीरिक गतिविधि (एक्सरसाइज, व्यायाम) न करना, तम्बाकू और शराब का सेवन शामिल है। कैंसर (Cancer) से होने वाली कुल मौतों में अकेले 22% मौतें तम्बाकू के कारण होती है।

2. फेफड़ों के कैंसर का प्रमुख कारण Causes of lungs cancer

पुरुषों में फेफड़ों का कैंसर जबकि महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर सर्वाधिक होता है। हमारा शरीर विभिन्न अंगों,टिश्यू और कोशिकाओं से बना होता है। कोशिका में व्यक्ति की सारी अनुवांशिक जानकारी होती है।

इसमें जन्म से लेकर मृत्यु तक की जानकारी रहती है। इनका जीवन चक्र होता है। ये पैदा होती हैं और मरती हैं, लेकिन जब कभी ये मरना बंद करके केवल बढ़ना शुरू कर देती हैं तब शरीर में कैंसर होता है। इसके पीछे कई कारण हैं। धूम्रपान और शराब पीने वाले 40 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को इसका सर्वाधिक खतरा है।

3. कैंसर से संबंधित कुछ आंकड़ें:

  • 2.9 करोड़ प्रतिवर्ष मौतें होगी अगले 20 वर्ष में कैंसर के कारण।
  • 1.8 करोड़ कैंसर के नए मामले हर साल बढ़ जाते है दुनिया भर में।
  • 15 लाख कैंसर के मामले हर साल बढ़ जाते है भारत में।

4. कैंसर होने के कारण: Causes of Cancer

  • मोटापा
  • भोजन में फलों और सब्जियों का कम उपयोग
  • शारीरिक रूप से निष्क्रिय रहना
  • तम्बाकू का सेवन
  • शराब का सेवन

5. मोटापे को कैसे नापे?

आप अपना बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) कैलकुलेट कर सकते है। ऑनलाइन कैलकुलेटर से भी चेक कर सकते है और मेनुअली भी।

फार्मूला: आपका वजन (KG में)/ आपकी लंबाई (मीटर में)

नतीजे:

18.5 से कम अंडरवेट

18.5 से 24.9 सामान्य

25 से 29.9 ओवरवेट

इससे अधिक वाले ओबेसिटी की श्रेणी में आते है।

6. कैंसर की पहचान कैसे करें?

C यानि Change in Bowel or Bladder Habits (आंत , मूत्राशय की आदतों में कोई परिवर्तन दिखना)

A यानि A Sore that does not heal (ऐसा कोई घाव जो ठीक ना हो रहा हो)

U यानि Unusual bleeding or discharge (असामान्य रक्तस्राव या खून का बहना)

T यानि Thickening in the breast or elsewhere (स्तन या उसके आसपास मोटी गांठ बनना)

I यानि Indigestion or difficulty in swallowing (अपच या खाना निगलने में दिक्कत होना)

O यानि Obvious change in a wart or mole (मस्से या तिल में परिवर्तन दिखाई देना)

N यानि Nagging cough or hoarseness (खांसी या लंबे समय तक गला बैठना)

7. कैंसर का इलाज: Cancer treatment

एडवांस्ड रेडिएशन, इम्मुनोथेरपी ड्रग नया तरीका

कैंसर के उपचार (Cancer treatment) के लिए सर्जरी, रेडियोथेरपी, कीमोथेरेपी अथवा दवाओं के कॉम्बिनेशन का उपयोग किया जाता है। रेडिएशन के लिए लीनियर एक्सेलरेशन होता है। वर्तमान में एक नई तरह की दवाएं इम्मुनोथेरपी कैंसर के उपचार में उपयोग की जा रही है। ये मरीज की रोगप्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाती है। जिससे वह बीमारी से लड़ सके।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐपडाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.