सरसों के साग के फायदे | Daily Health Tip | Aayu App

Mustard Greens Benefits in Hindi

ठंड के मौसम में सरसों का साग खाएँ। यह विटामिन-C से भरपूर होता है, जो इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है।

During winters include Mustard Greens in your diet as it is rich in Vitamin-C which helps in increasing immunity.

Health Tip for Aayu App

सर्दियों में सरसों का साग केवल स्वाद लेने के लिए ही नहीं खाया जाता है बल्कि सेहत के लिए भी कई तरह से फायदेमंद है। इसमें मौजूद विटामिन्स, मिनरल्स, फाइबर और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व पाए जाते है जो इसे फायदेमंद बनाते है।

आइये जानते है सरसों के साग के फायदे (Mustard Greens Benefits in Hindi) क्या-क्या है।

सरसों के साग के फायदे: Mustard Greens Benefits in Hindi:

दिल के लिए फायदेमंद: सरसों के साग के सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर घटता है और फोलेट का निर्माण ज्यादा होता है। इससे कार्डियोवास्कुलर रोगों की आशंका घटती है।

मेटाबॉलिज्म ठीक रखें: सरसों के साग में फाइबर अच्छी मात्रा में होता है जो शरीर की मेटाबॉलिक क्रियाओं को नियंत्रित रखने में मदद करता हैं। इसके सेवन से पाचन भी अच्छे से होता है।

वजन घटाने में मदद करें: सरसों के साग में कैलोरी कम होती है और फाइबर अधिक होते हैं। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है और वजन को नियंत्रित रखना आसान होता है। (यह भी पढ़ें: वजन घटाने के लिए डाइट प्लान)

हड्डियों को मजबूत रखें: सरसों के साग में कैल्शियम और पोटैशियम अच्छी मात्रा में होते हैं जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। यह हड्डियों से जुड़े रोगों के उपचार में फायदेमंद होते है। (यह भी पढ़ें: कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग, उपचार)

आँखों की रोशनी बढ़ाएं: सरसों के साग में विटामिन ए अच्छी मात्रा में होता है जो आंखों की मासंपेशियों को किसी भी तरह की क्षति से बचाता है और आंखों की रोशनी बढ़ाता है।

अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद: अस्थमा से ग्रसित लोगों में हिस्टामिन ज्यादा बनता है। हिस्टामिन ही सूजन का कारण बनता है। सरसों के साग में मिलने वाला विटामिन-सी हिस्टामिन को कम करने में मददगार है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम ब्रोन्कियल ट्यूबों और फेफड़ों को आराम देने में मदद करता है।

मधुमेह (डायबिटीज) को रोकने में मददगार: सरसों के साग में फाइटोन्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं। फाइटोन्यूट्रिएंट्स एक तरह का प्राकृतिक रसायन हैं जो खाद्य पदार्थों वाले पौधों में पाए जाते हैं। यह रसायन सूक्ष्म, कवक (Fungi), कीड़े और अन्य खतरों से पौधों की रक्षा में मदद करते हैं लेकिन मानव शरीर के लिए भी यह लाभदायक होता हैं। फाइटोन्यूट्रिएंट्स युक्त खाद्य पदार्थों को खाने से रोग को रोकने और अपने शरीर को ठीक से काम करने में मदद मिलती है। फाइटोन्यूट्रिएंट्स युक्त उच्च आहार मधुमेह(डायबिटीज) और मोटापे को रोकने में मदद करता है और मस्तिष्क की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीरे कर देता है।

प्रेगनेंसी में फायदेमंद: सरसों के साग के फायदे प्रेगनेंसी में भी होते है क्योंकि इसमें विटामिन-K काफी मात्रा में पाया जाता है। प्रेग्नेंट महिलाओं में उल्टी और मतली की समस्या विटामिन-K की कमी के कारण होती है। विटामिन-K 70 से कम घंटों में इस समस्या में राहत देता है और भविष्य में इन लक्षणों को रोकने में मदद भी करता है।

पाचन प्रक्रिया में फायदेमंद: सरसों के साग में फाइबर पाया जाता है जो बृहदान्त्र (Colon) के अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। यह चयापचय (मेटाबॉलिज्म) को नियमित रखता है और पाचन प्रक्रिया में मदद करता है।

मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद: बड़े होने के साथ-साथ ही हमारे मानसिक रूप से काम करने की क्षमता कम होने लगती है। अध्ययनों में पाया गया है कि हर दिन तीन बार हरे पत्तेदार सब्जियों का सेवन करने से मानसिक काम करने की क्षमता का न्यूनतम 40% तक का कम नुकसान होता है।

अस्वीकरण: यहाँ हमने आपको सरसों के साग के फायदे बताए है लेकिन यह सिर्फ सामान्य जानकारी है। अगर आपको ज्यादा परेशानी हो रही है तो डॉक्टर से परामर्श लें।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाउनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.