MIGRAINE | माइग्रेन – तेज़ सिर दर्द से परेशान? पढ़ें कारण व उपचार

माइग्रेन (Migraine) के कारणों को पूर्णतया नहीं समझा जा सकता कि किसी मरीज़ में ये किन वजहों से होता है। कई आनुवांशिकी और पर्यावरणीय कारक इसमें भूमिका निभाते हैं।

माइग्रेन (Migraine) मस्तिष्क की ट्राइजेमिनल नर्व में परिवर्तनों के कारण भी हो सकता है। मस्तिष्क में सेरोटोनिन केमिकल के असंतुलन के कारण भी माइग्रेन (Migraine) का दर्द उठ सकता है। सेरोटोनिन (Serotonin) के स्तर में कमी से ट्राइजेमिनल सिस्टम द्वारा न्यूरोपेप्टाइड का स्त्राव होने लगता है जो मेनिंजेज़ (मस्तिष्क का बाह्य ) तक पहुँच कर माइग्रेन का दर्द उत्पन्न करता है।

इन तंत्रिका तंत्र से संबंधित कारणों के अलावा कई अन्य कारक माइग्रेन (Migraine) के दर्द के लिए ज़िम्मेदार हो सकते हैं। इन कारणों में से कुछ है:

  • महिलाओं में हार्मोनल परिवर्तन जैसे एस्ट्रोजन में उतार-चढ़ाव सिरदर्द को ट्रिगर करता है। जिन महिलाओं में माइग्रेन (Migraine) का इतिहास रहा हो अक्सर उन्हें पीरियड्स से पहले या उसके दौरान सिरदर्द की शिकायत रहती हैं। इस समय एस्ट्रोजेन के स्तर में बड़ी गिरावट आती है।
  • गर्भावस्था या रजोनिवृत्ति (मीनोपॉज) के दौरान माइग्रेन होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • हार्मोन सम्बंधित दवाएं, जैसे कि गर्भनिरोधक गोलियाँ और हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी, भी कभी-कभी माइग्रेन (Migraine) शुरू कर सकती हैं।
  • खाद्य पदार्थ जैसे एज्ड चीज़, नमकयुक्त खाद्य पदार्थ और प्रोसेस्ड फ़ूड माइग्रेन का कारण होते हैं। खाना ना खाना या उपवास करना भी ख़तरनाक हो सकता है।
  • कई खाद्य पदार्थों में पाया जाने वाला स्वीटनर एस्पार्टेम और प्रिजर्वेटिव मोनोसोडियम ग्लूटामेट (MSG) माइग्रेन (Migraine) को ट्रिगर कर सकता है।
  • शराब, विशेष रूप से वाइन, और अत्यधिक कैफीन युक्त पेय माइग्रेन (Migraine) को बढ़ा सकते हैं।
  • अधिक तनाव से माइग्रेन हो सकता है।
  • तेज रोशनी और सूरज की चकाचौंध, माइग्रेन को प्रेरित कर सकती है. साथ ही तीव्र आवाज, तेज़ खुशबू जैसे इत्र, पेंट, थिनर, सेकेंड हैंड स्मोक और अन्य द्वारा भी माइग्रेन का अटैक आ सकता हैं।
  • अनियमित नींद (नींद ना आना या बहुत अधिक नींद आना) व जेट लैग कुछ लोगों में माइग्रेन को ट्रिगर कर सकता है।
  • यौन गतिविधि सहित तीव्र शारीरिक परिश्रम, माइग्रेन को बढ़ा सकता है।
  • मौसम का परिवर्तन भी माइग्रेन (Migraine) को प्रेरित कर सकता है।
स्वास्थ्य से संबंधित समस्या के लिए “Aayu”ऐप अभी डाउनलोड करें
migraine short bites

उपचार

माइग्रेन (Migraine) को रोकने में मदद करने के लिए दवा भी उपलब्ध है। इन दवाओं का आमतौर पर उपयोग संभावित ट्रिगर से बचने व माइग्रेन के दौरान किया जाता है।

MIGRAINE | क्यों होता है माइग्रेन का अटैक?

प्रत्येक व्यक्ति में माइग्रेन के लक्षण, उसकी फ्रीक्वेंसी व तीव्रता अलग अलग होती है। अतः इनको समझने व उचित उपचार के लिए आप चिकित्सक से परामर्श लें। मेडकॉर्ड्स (MedCords) माइग्रेन  से प्रभावित लगभग 2.5 लाख लोगों को अपने एक्सपर्ट डॉक्टर्स द्वारा परामर्श दे चुका है।

दवाइयों के अलावा आप जीवनशैली में बदलाव, ध्यान योग, शारीरिक व्यायाम, तनाव से दूर व सही खान-पान द्वारा भी इसकी तीव्रता को कम कर सकते हैं।

आयु है आपका सहायक

अगर आपके घर का किसी सदस्य को ख़ून की कमी की समस्या है या लंबे समय से बीमार है या उसकी बीमारी घरेलू उपायों से कुछ समय के लिए ठीक हो जाती है, लेकिन पीछा नहीं छोड़ती है तो आपको तत्काल उसे डॉक्टर से दिखाना चाहिए. क्योंकि कई बार छोटी बीमारी भी विकराल रूप धारण कर लेती है. अभी घर बैठे स्पेशलिस्ट डॉक्टर से “Aayu” ऐप पर परामर्श लें . Aayu ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई बटन पर क्लिक करें.

One Reply to “MIGRAINE | माइग्रेन – तेज़ सिर दर्द से परेशान? पढ़ें कारण व उपचार”

Leave a Reply

Your email address will not be published.