मेटाबोलिज्म बूस्टर फ़ूड कौन-कौन से है | Daily Health Tip | Aayu App

metabolism

ग्रीन-टी मेटाबोलिज्म बूस्टर है क्योंकि यह एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होते है जो शरीर के मेटाबोलिज्म क्रिया को सुधारता है।

Green-tea is a metabolism booster because it contains antioxidant which improves metabolism rate of body.

Health Tip for Aayu App

आपके शरीर का बेसल मेटाबॉलिक रेट यानि बीएमआर काम को बनाए रखने के लिए मदद करता है। मेटाबॉलिक रेट मेटाबॉलिज्म क्रिया को निर्धारित करती है और आपके शरीर को कितनी एनर्जी की ज़रुरत है यह बताती है। शरीर को काम करने, भोजन पचाने, ब्लड सर्कुलेशन, सांस और हार्मोनल बैलेंस आदि काम को करने के लिए सही मात्रा में एनर्जी की जरूरत होती है जो डाइट से मिलती है। यानि हमें अपने शरीर की बनावट के हिसाब से एनर्जी की जरूरत होती है और यह एनर्जी मेटाबॉलिज्म क्रिया से प्राप्त होती है। 

आपकी मेटाबॉलिज्म रेट जितनी तेज होगी उतनी ही अधिक आप एनर्जी से भरपूर और एक्टिव रहेगी। लेकिन मेटाबॉलिज्म रेट धीमी होने से आपको थकान, हाई कोलेस्ट्रॉल, मसल्स में कमजोरी, ड्राई स्किन, वजन बढ़ना, जोड़ों में सूजन, पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग, स्ट्रेस और दिल की धड़कन की धीमी गति जैसी समस्याएं हो सकती है। इसलिए आपको मेटाबॉलिज्म तेज करने के उपायों के बारे में पता होना चाहिए।

मेटाबॉलिज़्म बूस्टर:

ग्रीन-टी: ग्रीन-टी मेटाबॉलिज्म बूस्टर है। यह एंटीऑक्सीडेंट और पॉलीफिनॉल्स से भरपूर होती है जो आपके शरीर की मेटाबॉलिज्म क्रिया में सुधार लाने में मदद करती है। इसमें थर्मोजेनिक गुण पाए जाते हैं जो ऑक्सीजकरण को बढ़ावा देते हैं।

ब्रोकली: ब्रोकली खाने से ना केवल आपको अच्छी हेल्थ और न्यूट्रिएंट मिलते है बल्कि लो कैलोरी होने के कारण यह वजन कम करने में आपकी मदद करती है। ब्रोकली में मौजूद फाइटोन्यूट्रिएंट एंजाइम फैट वेसल्स में फैट जलाने में मदद करते है। आप इसकी सब्जी या सलाद भी बना सकती है।

लहसुन: लहसुन एक ऐसा फूड है जो सब्जी का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है और वेट लॉस करने में भी आपकी मदद करता है। यह शरीर में फैट उत्पन्‍न करने की क्षमता को धीमा कर देता है और दिनभर की जाने वाली गतिविधि में बर्न होने वाली कैलोरी की संख्या को बढ़ा देता है।

पानी: पानी आपकी बॉडी से ना सिर्फ टॉक्सिन बाहर निकालने में सहायक होते हैं, बल्कि वजन घटाने और त्वचा चमकदार बनाने में भी मदद करते हैं। दिनभर में कम से कम 2.5 से 3 लीटर तक पानी जरूर पीना चाहिए। पानी पीने से मेटाबॉलिज्म में 30 प्रतिशत तक तेजी आती है।

तीखी मिर्च: ज्यादा तीखा खाना अपनी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता लेकिन सही मात्रा में इसके इस्तेमाल से यह कई फायदे देता है। कैप्सेसिन नाम का तत्व पाया जाता है जो आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म रेट को बढ़ाने में मदद करता है। कैप्सेसिन में थर्मोजेनिक गुण होते हैं जो सेल्स की एनर्जी को गर्मी में परिवर्तित करने में मदद करते है। यानि तीखे और मसालेदार फूड में कई नेचुरल केमिकल होते हैं जो मेटाबॉलिज्म के लेवल में बढ़ोतरी कर सकते हैं।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.