Menopause Symptoms: महिलाओं में रजोनिवृत्ति के लक्षण

Menopause Symptoms

Menopause Symptoms: क्या आप रजोनिवृत्ति (Menopause) के बारे में जानती है। यह अवस्था हर महिला के जीवनकाल में आती है। महिलाओं में मासिक धर्म चक्र (Menstrual Cycle) जब पूरी तरह बंद हो जाता है उस स्थिति को रजोनिवृत्ति (Menopause) कहते है। एक और ध्यान देने वाली बात यह है कि रजोनिवृत्ति (Menopause) के बाद महिलाऐं माँ बनने की क्षमता खो देती है दूसरी भाषा में रजोनिवृत्ति (Menopause) के बाद महिलाऐं माँ नहीं बन सकती। महिलाओं के लिए शरीर की यह अवस्था उनकी शारीरिक और मानसिक स्थिति में बहुत बदलाव लाती है। आइये आपको बताते है रजोनिवृत्ति (Menopause) के लक्षण (Menopause Symptoms).

आइये आपको बताते है रजोनिवृत्ति क्या है?(What is Menopause), रजोनिवृत्ति क्यों होती है (Why Menopause Occurs), रजोनिवृत्ति के लक्षण (Menopause Symptoms), रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कैसे कंट्रोल करें? और रजोनिवृत्ति के घरेलू उपचार।

रजोनिवृत्ति क्या है?: What is Menopause:

रजोनिवृत्ति (Menopause) में मासिक धर्म का चक्र टूटता है और महिलाऐं इसके बाद प्रेग्नेंट नहीं हो पाती। उम्र के बढ़ने के साथ रजोनिवृत्ति (Menopause)होना सामान्य हो जाता है ऐसा इसलिए क्योंकि फिमेल सेक्स हार्मोन का फंक्शन उम्र के साथ कमजोर होने लगता है। अंडाशय ,अंडा निष्कासित करना बंद कर देता है, इससे पीरियड्स भी नहीं होता। इसका मतलब ये नहीं होता कि अचानक आपके पीरियड्स आने बंद हो जाएंगे। ये प्रक्रिया धीरे-धीरे होती है और जब पूरी तरह मेनोपॉज का समय आता है तब पीरियड्स होना बिल्कुल बंद हो जाता है। जब तक पीरियड्स बंद नहीं होते, गर्भवती बनने की संभावना बनी रहती है।

रजोनिवृत्ति क्यों होती है: Why Menopause Occurs:

अधिकतर महिलाओं में मासिक धर्म के आखिरी तारीख के लगभग चार साल पहले से रजोनिवृत्ति के लक्षण दिखाई देने लगते है। कुछ महिलाओं को मेनोपॉज होने के एक साल पहले ही इसके लक्षण नजर आते है। इन लक्षणों का दिखना महिलाओं की शारीरिक स्थिति पर निर्भर करता है। रजोनिवृत्ति होने के कई साल पहले से शरीर एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन का निष्कासन करना धीरे-धीरे कम करने लगता है। यह हार्मोन मासिक धर्म होने और गर्भधारण करने में मदद करते है। इसके कमी से पीरियड्स होना बंद हो जाता है और माँ बनने की क्षमता भी खत्म होने लगती है।

रजोनिवृत्ति के लक्षण: Menopause Symptoms:

महिलाओं में रजोनिवृत्ति के लक्षण (Menopause Symptoms) धीरे-धीरे आते है।

रजोनिवृत्ति (Menopause) से जुड़े ज्यादातर लक्षण पेरिमेनोपॉज की अवस्था के दौरान महसूस होने लगते है। इस अवस्था में कुछ महिलाओं को कष्ट होता है कुछ को नहीं।

शुरूआती लक्षण:

  • अनियमित मासिक धर्म: नियमित मासिक धर्म के चक्र में परिवर्तन आना
  • हॉट फ्लाश महसूस होना: अचानक बहुत ज्यादा गर्मी लगना
  • रात में पसीना आना: गर्मी ना होने पर भी रात को नींद में बहुत ज्यादा पसीना आना

इसके साथ और भी कई लक्षण है:

  • मूड का बदलना
  • अवसाद (डिप्रेशन)
  • चिड़चिड़ापन
  • चिंता
  • नींद ना आना
  • एकाग्रता की कमी (कंसन्ट्रेशन में प्रॉब्लम)
  • थकान
  • सिरदर्द

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कैसे कंट्रोल करें?: How to Control Menopause Symptoms

अगर रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के लक्षण समय के साथ कम नहीं हो रहे और यह आपकी दिनचर्या को बूरी तरह से प्रभावित कर रहा है तो इलाज की जरूरत होती है। हार्मोन थेरेपी से इस स्थिति को संभाला जा सकता है। जैसे-

  • हॉट फ्लैश
  • रात में पसीना आना
  • वैजाइनल एट्रॉपी (वैजाइना का शुष्क हो जाना)
  • ऑस्टियोपोरोसीस (हड्डी कमजोर हो जाना)

मेनोपॉज के दूसरे लक्षणों के लिए दवाईयाँ दी जाती है:

  • अनिद्रा (इन्सॉमनिया) के लिए स्लीप मेडिकेशन दी जाती है
  • ड्राई आई के लिए ट्रॉपिकल लुब्रिकेंट और एन्टी इंफ्लैमटोरी एजेन्ट्स दी जाती है
  • बाल झड़ने के लिए ट्रॉपिकल मिनोऑक्सिडी का इस्तेमाल किया जाता है
  • यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन ठीक करने के लिए प्रोफाइलैक्टिक एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल किया जाता है
  • नॉन हार्मोनल वैजाइनल मॉश्चराइजर्स

रजोनिवृत्ति के घरेलू उपचार: Home Remedies for Menopause

आरामदायक और शरीर को ठंडा रखने की कोशिश करें:

रात को अगर आपको बहुत पसीना आता है तो नहाकर सोने जाए। हल्के आरामदायक कपड़े पहनें।

व्यायाम करें और वजन को कंट्रोल में रखें:

वजन को कंट्रोल में रखने के लिए अपने रोज के कैलोरी को कम करने की कोशिश करें। रोज 20-30 मिनट तक व्यायाम जरूर करें। इससे आपको एनर्जी मिलेगी, नींद अच्छी आएगी, आप अच्छा फील करेंगी और सेहतमंद रहेंगी।

अवसाद (डिप्रेशन), तनाव (स्ट्रेस) को नियंत्रित करें:

रजोनिवृत्ति के दौरान डिप्रेशन, स्ट्रेस, अकेले रहने की आदत और अनिद्रा जैसी समस्याएं हो रही है तो मनोचिकित्सक (साइकोलॉजिस्ट) या थेरेपिस्ट से बात करें। आप घर के सदस्यों, दोस्तों और अपनों से अपनी समस्या का जिक्र करें ताकि वह आपकी मदद कर सके।

मन को शांत करें:

रजोनिवृत्ति के दौरान सबसे ज्यादा मन अशांत और विचलित रहता है, जिसके कारण अवसाद, उदासी या मन में बेचैनी-सी छाई रहती है, हर बात पर चिड़चिड़ापन, बार-बार गुस्सा आना या अपने गुस्से पर नियंत्रण रखना मुश्किल हो जाता है। इसके लिए जरूरी है कि आप योगाभ्यास या मेडिटेशन करें। इससे मन को कुछ हद तक शांत किया जा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐपडाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.