MEDICINAL PLANTS CURE COLD | सर्दी-जुकाम में सहायक 5 ओषधीय पौधे

शेयर करें

सर्दी-जुकाम (Common Cold) के होते ही सबसे पहले हम घरेलु उपचार की ओर जाते हैं। बदलता मौसम हो या कोई इन्फेक्शन, सर्दी-जुकाम (Common Cold) होने के लिए बहुत सारे घटक काम करते हैं। हमारे आस-पास ऐसे कई पौधे व पेड़ होते हैं जो आपको सर्दी-जुकाम होने के बाद राहत देने के साथ उसे फैलने से भी रोकते हैं।

आइये जानें ऐसे कौन से  पौधे हैं जो सर्दी-जुकाम (Common Cold) से लड़ने में मदद करते हैं:

1. तुलसी: हमारे घरों में उगने वाली तुलसी सर्दी-जुकाम के इलाज में बहुत कारगर होती है। तुलसी में आयुर्वेदिक गुण होते हैं जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ कई तरह के संक्रमण से बचाते हैं। सर्दी-जुकाम (Common Cold) होने पर तुलसी का उपयोग, हमें गले की तकलीफ, सूखी खांसी, जुकाम व बुखार जैसी परेशानियों में आराम देता है। तुलसी को आप काढ़े में या चाय के साथ ले सकते हैं।

2. अदरक: अदरक को महाओषधि कहा जाता है। इसके चिकित्सकीय गुण कफ़ वाली खांसी व जुकाम के इलाज में मदद करते हैं। अदरक को आप शहद के साथ, चाय में या फिर दूध में उबालकर ले सकते हैं।

3. नीम्बू: सर्दी-जुकाम (Common Cold) में आराम के लिए गुनगुने पानी में नीम्बू निचोड़ कर पीना फायदेमंद होता है। नीम्बू का पेड़ आमतौर पर आपके आस पास मिल जाता हैं। इसे आप अपने बगीचे में आसानी से उगा सकते हैं। जुकाम से जल्दी आराम पाने के लिए गरम पानी में शहद व नीम्बू मिलाकर पीना चाहिए।

4. हल्दी: हल्दी में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट, एंटीवायरल, एंटीबायोटिक, एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल व एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मदद करते है। इन्हीं गुणों के वजह से सर्दी-जुकाम, खांसी व बुखार जैसी समस्या में इसका उपयोग किया जाता है। दूध में हल्दी डाल कर पीने से गले की ख़राश व कफ़ में आराम मिलता हैं व जमा हुआ कफ़ भी निकल जाता है।

5. नीम: नीम में बहुत ओषधीय गुण होते हैं। नीम आपके आस पास के वातावरण को शुद्ध रखता है व संक्रमणों को फैलने से रोकता है। नीम का पेड़ बैक्टीरियल संक्रमणों को रोक कर मौसमी बीमारियों जैसे सर्दी-जुकाम (Common Cold) आदि से आपकी सुरक्षा करता है।

SOUP CURES COLD | सर्दी-जुकाम से छुटकारा पाने के लिए पियें ये 4 सूप

इन सभी के अलावा आप घर में कुछ और पौधे उगा कर वातावरण स्वच्छ रख सकते हैं। ये पौधे नमी व तापमान को सही बनाये रखते हैं। इनमें से कुछ हैं:

  • डेट पाम या बीटल पाम
  • एलोवेरा – घृत-कुमारी या ग्वारपाठा
  • रबर प्लांट
  • स्नेक प्लांट
  • स्पाइडर प्लांट
  • लेडी पाम
  • पीस लिली
  • मनी प्लांट
  • जरबेरा
  • इंग्लिश आइवी
  • बैम्बू पाम
  • बोस्टन फ़र्न
  • केला का पौधा
  • वीपिंग फिग
  • ड्रेकेना के पौधे
  • हार्ट लीफ फिलॉडेंड्रॉन
  • चायनीज एवरग्रीन
  • क्रिसमस कैक्टस
  • आर्किड

वनस्पतियों का हमारे आस-पास के वातावरण पर बहुत प्रभाव होता है अतः इन पौधों को लगाने से ना सिर्फ हम अपने आस-पास स्वच्छता रख पायेंगें बल्कि कई बीमारियों पर रोकथाम भी कर पायेंगें।

सर्दी-जुकाम (Common Cold) से संबंधित और कई लेख पढ़ने के लिए जुडें हमारे ब्लॉग पेज से।

आयु है आपका सहायक

अगर आपके घर का कोई सदस्य लंबे समय से बीमार है या उसकी बीमारी घरेलू उपायों से कुछ समय के लिए ठीक हो जाती है, लेकिन पीछा नहीं छोड़ती है तो आपको तत्काल उसे डॉक्टर से दिखाना चाहिए. क्योंकि कई बार छोटी बीमारी भी विकराल रूप धारण कर लेती है. अभी घर बैठे स्पेशलिस्ट डॉक्टर से “Aayu” ऐप पर परामर्श लें . Aayu ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई बटन पर क्लिक करें.

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.