लंग फाइब्रोसिस क्या है, लंग फाइब्रोसिस का इलाज | What is Lung Fibrosis and Lung Fibrosis Treatment in Hindi

Lung Fibrosis Treatment

आजकल कोरोना का समय चल रहा है और कोरोनाकाल में ऐसा देखा गया है कि कुछ लोगों में कोरोना संक्रमण ठीक होने के बाद फेफड़ों (लंग्स) में तकलीफ होती है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि फेफड़ों में तकलीफ उन लोगों को ज्यादा होती है जिनमें कोरोना का संक्रमण ज्यादा हुआ है। आइये जानते है लंग फाइब्रोसिस का इलाज।

आपको यह भी बता दें कि जिन मरीजों को कोरोना के चलते निमोनिया हुआ हो उन्हें भी फेफड़ों में तकलीफ होती है। डॉक्टर के अनुसार इसकी मुख्य वजह लंग्स फाइब्रोसिस है। अब आप जानना चाहते होंगे कि लंग फाइब्रोसिस क्या है (What is Lung Fibrosis), लंग फाइब्रोसिस के लक्षण (Lung Fibrosis Symptoms), लंग फाइब्रोसिस का इलाज (Lung Fibrosis Treatment).

लंग फाइब्रोसिस क्या है: What is Lung Fibrosis in Hindi:

सबसे पहले जानते है आखिर लंग फाइब्रोसिस क्या है? लंग फाइब्रोसिस एक तरह की बीमारी है जिसमें फेफड़ों के अंदर मौजूद ऊतक (टिश्यू) सूजने लगते है। जिससे आपको ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। इससे शरीर में खून का बहाव कम होने लगता है। स्थिति गंभीर हो जाने पर दिल सही से काम नहीं कर पाता। जिसके परिणामस्वरूप आपको मल्टी ऑर्गन फेल्योर, हार्ट अटैक जैसी समस्या हो सकती है और ज्यादा गंभीर स्थिति में मरीज की मौत भी हो सकती है।

कोरोना के चलते कुछ मरीजों के फेफड़े में सूजन हो जाती है। जब यह बीमारी ठीक हो जाती है तब सूजन कम होने लगती है। इस कारण सामान्य और फाइबर टिश्यू बनते है जिससे फाइब्रोसिस होता है। यह आपका घाव ठीक होने के बाद होने वाली चमड़ी जैसी है।

लंग फाइब्रोसिस के लक्षण: Lung Fibrosis Symptoms in Hindi:

अब हमने आपको लंग फाइब्रोसिस क्या है? (What is Lung Fibrosis) यह बता दिया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि लंग फाइब्रोसिस के लक्षण (Lung Fibrosis Symptoms) टीबी की तरह ही होते है। आइये जानते है लंग फाइब्रोसिस के लक्षण (Lung Fibrosis Symptoms) कौन-कौन से है?

  • वजन घट जाना
  • सांस फूलना
  • सूखी खांसी
  • भूख कम लगना

आइये अब आपको बताते है लंग फाइब्रोसिस के कारण (Lung Fibrosis Causes).

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

Online Consultation through Aayu Card
Online Consultation through Aayu Card

लंग फाइब्रोसिस के कारण: Lung Fibrosis Causes in Hindi:

लंग फाइब्रोसिस को इंटरस्टीशियल लंग डिजीज भी कहा जाता है तो आइये जानते है इसके कुछ कारण, लेकिन सबसे पहले इसका मुख्य कारण जानते है। लंग फाइब्रोसिस का मुख्य कारण रोग-प्रतिरोधक क्षमता का गड़बड़ाना है। अब और अन्य कारण जानते है।

  • ऑटो इम्यून डिजीज हो जाना
  • पर्यावरण से संबंधित चीजों से संपर्क रहना
  • कीमोथेरेपी, एंटीबायोटिक्स, एमियोडरोन आदि दवाईयों का सेवन करना
  • फेफड़ों में वायरल या साधारण इंफेक्शन होना

लंग फाइब्रोसिस का इलाज: Lung Fibrosis Treatment in Hindi:

आपके लिए यह जानना जरूरी है कि लंग फाइब्रोसिस किसी तरह का कैंसर नहीं है लेकिन यह बहुत जानलेवा है। पहले इसका इलाज ना होने की वजह से इससे पीड़ित मरीजों का जीवनकाल पता चलने के 3-4 साल तक ही सीमित रह जाता था लेकिन आजकल कुछ तरह के इलाज से इनका जीवनकाल बढ़ाने में मदद मिलती है।

आइये जानते है कौन-कौन से इलाज संभव है।

कार्टिसोन और अन्य इम्यूनो-सप्रेसेन्ट: इस इलाज में रोग-प्रतिरोधक क्षमता को कम करने वाली दवाएं दी जाती है ताकि बीमारी की गति को धीमा किया जा सकें।

ऑक्सीजन थेरेपी: यह थेरेपी बीमारी तो नहीं रोक सकती, लेकिन सांस से संबंधित तकलीफ को कम कर सकती है।

आइये अब हम जानते है पल्मोनरी फाइब्रोसिस (Pulmonary Fibrosis) और सामान्य लंग्स (Normal Lungs) में क्या अंतर है।

पल्मोनरी फाइब्रोसिस और सामान्य लंग्स में अंतर: Pulmonary Fibrosis v/s Normal Lungs in Hindi:

पल्मोनरी फाइब्रोसिस एक तरह की फेफड़े की बीमारी है जो तब होती है जब फेफड़े के ऊतक (टिश्यू) क्षतिग्रस्त और जख्मी हो जाते है। यह गाढ़ा, कठोर टिश्यू आपके फेफड़ों को ठीक से काम करने के लिए और अधिक कठिन बना देता है जैसा कि फुफ्फुसीय फाइब्रोसिस बिगड़ जाता है, आपको सांस की अधिक कमी हो जाते है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐपडाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.