लिवर में खराबी की पहचान, लिवर खराब होने पर क्या ना खाएं

liver

अगर आप यह नहीं पता लगा पा रहें है कि आपका शरीर सही तरह से काम कर रहा है की नहीं तो आज हम आपको इससे संबंधित कुछ संकेत बताएंगे जिससे आप पता लगा सकते है। आपका शरीर सही तरह से काम तभी करता है जब आपका लिवर सही रहता है। आइये आपको बताते है ऐसे 7 तरीके जिससे आप यह पता लगा सकें कि आपका लिवर सही तरह से काम कर रहा है या उसमें कुछ खराबी है। लिवर में खराबी की पहचान के बारे में जानते है।

आज के समय में हेल्दी रहने का मतलब है आपके शरीर का हर एक हिस्सा सही से काम करें क्योंकि सभी अंगों का सही तरीके से काम करना बहुत जरूरी होता है। आपके लिए आपका लिवर आपके दिल जितना ही महत्वपूर्ण है और इसमें खराबी आने पर आपको कई तरह की गंभीर बीमारी हो सकती है, जो आपके लिए जानलेवा भी हो सकती है।

लिवर या किडनी से जुड़ी बीमारी का पता आमतौर पर लोगों को बहुत देर में पता लगता है लेकिन आप छोटे-छोटे संकेतों पर ध्यान देकर गंभीर बीमारियों का शुरुआत में ही पता लगा सकते हैं। आप अपने शरीर में होने वाले हर छोटे-बड़े बदलाव के बारे में सजग रहकर घातक रोगों से बच सकते हैं और अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं।

लिवर में खराबी की पहचान (Identification of liver damage):

  • पेट के एक हिस्से में लगातार दर्द होना: वैसे तो पेट दर्द होने के कई कारण हो सकते है लेकिन अगर आपके पेट के ऊपरी दाहिने हिस्से या पसलियों के नीचे दाहिने भाग में लगातार दर्द हो रहा है तो इसका मतलब आपके लिवर में कुछ खराबी है। इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर को दिखाएं और उन फूड का सेवन कम करें जिससे आपकी स्थिति बिगड़ने की आशंका हो जैसे जंक फूड, फास्ट फूड आदि।
  • पेट पर सूजन आना: पेट पर सूजन आ जाना या फिर पेट बाहर की ओर निकल जाना लिवर सिरोसिस नाम की बीमारी का संकेत है। इस स्थिति में आपके पेट में तरल पदार्थ जमा होने लगता है और आंतों से रक्तस्राव होने लगता है। अगर समय रहते इस स्थिति का उपचार ना किया जाए तो लिवर कैंसर की शिकायत हो सकती है।
  • स्किन पर रैशेज़ की समस्या: स्किन पर शुरुआत में खुजली और फिर त्वचा पर पड़ने वाले चकत्ते लिवर में खराबी आने की ओर इशारा करते हैं। अगर आपकी स्किन रूखी होने लगी है तो समझ लीजिए कि आपका लिवर सही तरीके से काम नहीं कर रहा है। त्वचा का नम बने रहना जरूरी होता है इसलिए हाइड्रेट रखने वाले फूड का सेवन करते रहें।
  • पीलिया होना: अगर आपके कुछ दिनों से आंखों का रंग पीला और त्वचा का रंग सफेद हो रहा है तो यह इस बात का संकेत है कि आपके खून में बिलीरुबिन का स्तर बढ़ने लगा है। इस स्थिति में आपके शरीर से अनावश्यक पदार्थों का बाहर निकलना संभव नहीं हो पाता।
  • वजन कम होना: अगर आपका वजन बिना किसी वजह के कम हो रहा है तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। लिवर में किसी प्रकार की खराबी आने पर भूख कम लगने लगती है, जिस कारण वजन कम होना शुरू हो जाता है। इस स्थिति में आपको इलाज लेने की आवश्यकता होती है।
  • मल में परिवर्तन आना: लिवर खराब होने की स्थिति में किसी भी व्यक्ति को कब्ज और अपच की शिकायत होने लगती है। इस स्थिति के लंबे वक्त तक बने रहने से मल में खून आने लगता है और मल का रंग काला हो जाता है।
  • थकान महसूस होना: ज्यादा देर तक काम करने के बाद थकान होना स्वाभाविक है। लेकिन अगर आपने पूरे दिन कुछ काम नहीं किया फिर भी आपको थकान महसूस हो रही है, चक्कर आने जैसा महसूस हो रहा है और मांसपेशियों में कमजोरी सी लग रही है तो यह आपके लिवर खराब होने का संकेत है।

लिवर खराब होने पर क्या ना खाएं (Things to avoid when liver damage):

  • बिना सलाह दवा का प्रयोग ना करें: कुछ निश्चित दवाओं का ज्यादा इस्तेमाल आपके लीवर के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। अक्सर लोग छोटे-मोटे दर्द में बिना डॉक्टर की सलाह के ही पेन किलर खा लेते है। पेन किलर आपके लिवर और किडनी को नुकसान पहुँचा सकता है। लोग फिट रहने और वजन कम करने के लिए अलग-अलग तरह के आकर्षक विज्ञापनों से देखकर दवाएं ले लेते हैं। जिससे लिवर पर खराब प्रभाव पड़ता है।
  • सोडा और कोल्ड ड्रिंक का सेवन ना करें: कोल्ड ड्रिंक और सोडा में बहुत ज्यादा शुगर की मात्रा होती है। इससे आपका वजन बढ़ता है साथ ही ये लिवर के लिए भी खतरनाक हैं। लंबे समय तक सोडा और कोल्ड ड्रिंक के सेवन से लिवर डैमेज होने का खतरा होता है। इसका खतरा उन लोगों को ज्यादा होता है, जो पहले से ही मोटे हैं।
  • मोटापा खतरनाक है: मोटापा शरीर के लिए खतरनाक है। जरूरत से ज्यादा खाने से शरीर में एक्सट्रा फैट हो जाता है, जो स्टोरिंग सेल से बाहर आकर लिवर में जमा होने लगता है। इससे लिवर डैमेज होने लगता है। लिवर फैटी होने से हार्ट और कैंसर का खतरा बढ़ जाता है इसलिए अपने आहार और एक्सरसाइज पर ध्यान दें।
  • हेपेटाइटिस: हेपेटाइटिस के कारण लिवर प्रभावित होता है और इसमे सूजन आ जाती है। अगर सही समय पर हेपेटाइटिस का इलाज ना किया जाए, तो यह गंभीर रूप ले लेती है जिसे फाइब्रोसिस अथवा लिवर कैंसर तक हो सकता है। एल्‍कोहल, गंदे पानी और ऑटोइम्‍यून डिजीज के कारण हेपेटाइटिस का खतरा होता है।
  • नींद की कमी होना: नींद की कमी के कुछ ऐसे प्रभाव हैं जिनके बारे में हमें जानकारी नहीं होती। जिस वजह से हम लिवर को नुकसान पहुँचा देते है। नींद की कमी से लीवर पर अधिक दबाव पड़ता है। लीवर के साथ साथ अपने शरीर के अन्य अंगों को ठीक रखने के लिए भी हमें 8 घंटे की नींद लेना जरूरी है।
  • सिगरेट और शराब की लत होना: सिगरेट की आदत एक जानवेला आदत है जो आपके शरीर को किसी भी तरह से नुकसान पहुँचा सकती है। सिगरेट के धुए में पाए जाने वाले जहरीले केमिकल्स अंत में आपके लीवर तक पहुँचते हैं और लिवर सेल्स को नुकसान पहुँचाते हैं। इसके अलावा शराब लिवर के लिए जहर की तरह काम करता है। लंबे वक्त तक अधिक मात्रा में शराब पीने वाले लोगों का लिवर फेल हो सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ  डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.