गुर्दे में पथरी होने के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज

शेयर करें

गुर्दे में पथरी होना एक आम समस्या होता है. यूरीन में कई रासायनिक तत्व मौजूद होते हैं. यूरिक एसिड, फॉस्फोरस, कैल्शियम और ऑक्जेलिक एसिड. यही सारे रासायनिक तत्व स्टोन बनाने के लिए उत्तरदायी होते हैं. इसके साथ ही बहुत अधिक मात्रा में विटामिन डी के सेवन से, शरीर में लवणों के असंतुलन से, डीहाइड्रेशन से और अनियमित डाइट की वजह से भी किडनी में स्टोन हो जाता है.

पथरी क्या होती है | What is Kidney Stone

गुर्दे में बनी नली कई बार पेशाब की नली में या पेशाब की थैली में फंस जाती है. यह पथरी कहलती है.भारत में ज्यादातर लोगों को मिश्रित पथरियां होती है. कुछ लोगों को सिस्टीन पथरियां और स्टुवाइड पथरियां होती है. इन पथरियों का आकार एक छोटे से कण से लेकर गोल्फ के गेंद के बराबर होता है.

किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए आज ही “Aayu” ऐप डाउनलोड करें

गुर्दे में पथरी के कारण | Causes of kidney stones

किडनी की पथरी का मुख्य कारण है पानी कम पीना. यह तब होती है जब शरीर में पानी, नमक व मिनरल्स का संतुलन बिगड़ जाता है. जिन लोगों को गठिया यानी गाउट होता है, उनमें भी पथरी अधिक बनती है. बार-बार बुखार या टाइफाइड से किडनी कमजोर होने पर पथरी की आशंका रहती है.

गुर्दे में पथरी के लक्षण | Symptoms of kidney stone

1.पीठ में या पेट के पास असहनीय दर्द
2.पेशाब में खून आना
3.उल्टी जैसा मन होना
4.पेशाब करने पर जलन का एहसास होना
5.दर्द के साथ बार-बार पेशाब का आना
6.बदबूदार पेशाब का आना
7.बुखार और ठंड महसूस होना
8.किडनी और पेट में सूजन

गुर्दे की पथरी में क्या खाएं | Food for kidney stone

पथरी बनने का एक प्रमुख कारण भोजन में फाइबर की कम मात्रा का होना है. पथरी की समस्या उन लोगों में ज्यादा पाई गई है, जो भोजन में फाइबर तो कम लेते हैं, पर प्रोटीन ज्यादा-से-ज्यादा लेते हैं. इसलिए फाइबरयुक्त पदार्थ लें.

  • हरी सब्जियों में सहिजन, करेला, ताजी मटर की फलियां, शलगम, पत्ते वाली गोभी आदि को खाना चाहिए.
  • फलों में आम, खरबूजा, तरबूज, अंगूर, पपीता, खीरा, नारियल, नाशपाती, अनन्नास, सेब, खा सकते है.
  • आलू, इलायची तथा गन्ना भी फायदेमंद होता है. इसका आप सेवन कर सकते है.
  • मरीज के आहार में जौ से बनी चीजें जैसे-चपाती, धानी, सत्तू को शामिल करना चाहिए.
  • पथरी के दर्द के समय जौ, अलसी के बीजों का पानी पीना चाहिए .
  • पथरी से राहत पानी के बिना नहीं मिलेगी. जितना ज्यादा पानी पीएंगे, उतना ही फायदा होगा.
  • मरीज को ऐसा भोजन ज्यादा करना चाहिए, जिसमें -पोटेशियम, मैग्नीशियम, तरल पदार्थ ज्यादा हों

गुर्दे की पथरी में क्या ना खाएं | Foods to avoid

  • कई लोगों का सवाल होता है कि गुर्दे की पथरी में क्या नहीं खाना चाहिए.
  • ऐसी स्थिति में बहुत अधि‍क मछली और मांस का सेवन करने से परहेज करें.
  • जंक फूड, डिब्बा बंद खाना और नमक के बहुत अधिक सेवन से बचना चाहिए.
  • पालक, साबुत अनाज आदि में ऑक्सलेट पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. इन्हें खाने से परहेज करें.
  • कोल्ड ड्रिंक से दूर बना लें. इसमें मौजूद फॉस्फोरिक एसिड स्टोन के खतरे को और बढ़ाता है.

गुर्दे की पथरी का घरेलू इलाज | Home remedies for kidney stones

पत्थरचट्टा का पत्ता

अगर आपके पेट में पथरी है तो इसके लिए पत्थरचट्टा के पौधे का एक पत्ता लें और उसे मिश्री के कुछ दानों के साथ पीसकर खा लें.पत्थरचट्टा औषधीय गुणों वाला एक पौधा होता है, जिसका उपयोग किडनी और पेट से जुड़ी बीमारियों के इलाज में किया जाता है.

आंवला

आंवला भी पथरी को निकालने में मदद करता है. इसके लिए रोजाना सुबह एक-एक चम्मच आंवले का पाउडर खाएं. आंवले के अलावा पथरी के इलाज में जामुन को भी कारगर बताया गया है.

पपीते की जड़

पथरी निकालने के लिए पपीते की जड़ भी काफी मदद करती है, इसके लिए 7-8 ग्राम पपीते की जड़ को 1 ग्लास पानी में अच्छी तरह से घोल लें और फिर छान लें. अब रोजाना इस पानी को पिएं. ऐसा करने पथरी गल जाएगी और कुछ ही दिनों में निकल जाएगी.

ध्यान दें

अगर समय पर पथरी का इलाज न किया जाए तो यह गंभीर रूप ले सकती है. इसलिए घरेलू इलाज के अलावा डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें और जरूरी इलाज शुरू करें.

आयु है आपका सहायक

अगर आपको या आपके परिवार के किसी सदस्य को पथरी से संबंधित समस्या है तो अभी आयु ऐप पर मौजूद स्पेशलिस्ट डॉक्टर से सलाह लें। आयु ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.