किडनी में खराबी के लक्षण, और इसके उपचार | Daily Health Tip | Aayu App

kidney me khraabi

अगर आप जल्दी थक जाते है या आपको कमजोरी होने लगती है यह आपके किडनी खराब होने के लक्षण हो सकते है। इससे बचने के लिए आप अपनी डाइट में ऐसी चीज़ें शामिल करें जिनमें मैग्नीशियम पर्याप्त मात्रा में मिलता हो जैसे सोयाबीन, कद्दू के बीज आदि।

If you get tired early or you are feeling weak then that might be symptom of kidney failure. To prevent from this you should take diet which have sufficient amount of magnesium in it like as soyabean, pumpkin seeds etc.

Health Tip for Aayu App

फिट रहने और अपनी किडनी को हेल्दी रखने के लिए लोगों को चाय और कॉफी की जगह पानी पीना चाहिए। आप 2.5 से 3 लीटर तक पानी पिएँ।

किडनी हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह रक्त में मौजूद बेकार पदार्थों को अलग करने का काम करती है। इसके अलावा हार्मोन्स का स्राव, मिनरल्स का अवशोषण, यूरिन बनाना, एसिड का संतुलन बनाए रखना आदि किडनी के कुछ काम होते हैं। 

बदलते लाइफस्टाइल के कारण किडनी रोग से मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। इसलिए समय रहते किडनी के संक्रमण की पहचान कर इसका इलाज करवाना चाहिए। किडनी की बिमारी के लक्षण शुरुआत में नहीं दिखते। जब किडनी का आधे से ज्यादा हिस्सा डैमेज हो जाता है तब इसके बारे में पता चलता है। इसी वजह से इसे साइलेंट किलर भी कहते है।

किडनी खराब होने के लक्षण:

किडनी खराब होने के कारण शरीर से अतिरिक्त पानी और नमक नहीं निकल पाता, जिससे पांव, हाथ और चेहरे में सूजन आने लगता है। किडनी से एथ्रोप्रोटीन नामक प्रोटीन निकलता है जो लाल रक्त कोशिकाओं तक ऑक्सीजन पहुँचाने का काम करता है। खराब किडनी इसका उत्पादन नहीं कर पाती जिससे हम जल्दी थक जाते हैं और कमजोरी होने लगती है।

पेशाब के वक़्त दर्द और जलन भी किडनी में इंफेक्शन के लक्षण होते हैं। बार – बार यूरिन आने का अहसास होना, बुखार और पीठ दर्द भी किडनी खराब होने के लक्षणों में शामिल है। यूरिन का रंग बदल जाना, उसका सामान्य से पीला अथवा गाढ़ा हो जाना किडनी में खराबी के लक्षण हैं। भूख ना लगना किडनी की खराबी की तरफ़ इशारा करता है साथ ही हाजमा खराब रहना और वजन अचानक बढ़ जाना जैसे लक्षण दिखने पर सावधान हो जाना चाहिए।

किडनी को खराब होने से बचाने के उपाय:

जीवनशैली और डाइट में सुधार करके हम किडनी की समस्याओं को रोक सकते हैं। किडनी सही रूप से काम करें, इसके लिए नियमित रूप से पर्याप्त पानी पिएँ। रोज़ कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पिएँ। मैदा, नमक और चीनी कम खाएँ इससे शरीर को पानी का संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है। मैदे को पचाने में समय लगता है। आप आसानी से पचने वाले भोजन का इस्तेमाल करें।

गहरे रंग की सब्जियों को अपने आहार में शामिल करें। इनमें मैग्नीशियम पर्याप्त मात्रा में होता है और मैग्नीशियम हमारे किडनी को अच्छे से काम करने में मदद करता है। किडनी को साफ रखने के लिए नियमित ग्रीन-टी का सेवन करें। हर रोज़ दो से तीन कप ग्रीन-टी शरीर से जहरीले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है।

दर्द निवारक दवाऐं डॉक्टर की सलाह से ही लें। बिना डॉक्टर की सलाह के अधिक दर्द निवारक दवाओं का सेवन हमारे किडनी को नुकसान पहुँचाता है। अपने किडनी को स्वस्थ बनाए रखने के लिए आप अपना वजन नियंत्रित रखें, धूम्रपान और शराब से दूर रहें, डायबिटीज को कंट्रोल करें और समस्या होने पर डॉक्टर से सलाह लें।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.