fbpx

कड़ी पत्ता खाने के फायदे और नुकसान | Daily Health Tip | Aayu App

कड़ी पत्ता खाने के फायदे और नुकसान | Daily Health Tip | Aayu App

कड़ी पत्ता ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करता है।

Curry leaves help to control blood sugar level.

Health Tip for Aayu App

कड़ी पत्ते का इस्तेमाल ज्यादातर घरों में किया जाता है। अगर आपको लगता है कि इसके इस्तेमाल से केवल भोजन का स्वाद बढ़ता है तो आपका सोचना गलत है इसके और भी कई सेहत और सौन्दर्य संबंधित फायदे है।

कड़ी पत्ता खाने के फायदे:

  • अगर आप डायबिटीज के रोगी हैं, तो कड़ी पत्ता अपने भोजन में शामिल करें। इससे आप इस समस्या से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं। ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए भी यह फायदेमंद है।
  • कफ होने, कफ सूख जाने या फेफड़ों में जमाव की स्थिति में कड़ी पत्ता आपके लिए मददगार है। इसके लिए कड़ी पत्ते को पीसकर या इसका पाउडर शहद के साथ सेवन करें।
  • आयरन और फॉलिक एसिड का एक बेहतरीन स्रोत है कड़ी पत्ता। यह आपके शरीर का आयरन सोखने में मदद करता है और एनीमिया जैसी सम्स्याओं से आपको बचाता है। रोजाना खालीपेट कड़ी पत्ता और खजूर खाने से आपको लाभ होता है।
  • किसी भी तरह की त्वचा संबंधित समस्याओं में कड़ी पत्ता फायदेमंद है। अगर आप लंबे समय से मुहांसे या अन्य समस्याओं से परेशान हैं तो हर रोज कड़ी पत्ता खाएं या इसका पेस्ट बनाकर लगाएं।
  • बालों को घना, काला और मजबूत बनाने के लिए आप कड़ी पत्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप नारियल तेल में कड़ी पत्ते को उबालकर उस तेल को बालों में लगाएं और उससे अच्छी तरह से मालिश करें।
  • पाचन संबंधी समस्या हो या दस्त से संबंधित समस्या हो। कड़ी पत्ते को पीसकर छाछ में मिलाकर पिएँ। यह पेट की गड़बड़ी को सही करता है और पेट से संबंधित सभी समस्याओं को हल निकालता है।
  • शरीर में खून की कमी के कारण एनीमिया होता है और इस रोग से निजात पाने के लिए कड़ी पत्ते का सेवन फायदेमंद होता है। इसमें अधिक मात्रा में आयरन और फोलिक एसिड होता है जो एनीमिया पर प्रभावी रूप से काम करता है।
  • कड़ी पत्ते को चबाने से वजन कम होता है। बेहतर पाचन, विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालना, बेहतर कोलेस्ट्रॉल का स्तर आदि चीज़ों में मदद करता है |
  • कड़ी पत्ते में डाइक्लोरोमेथेन, एथिल एसीटेट और महानिम्बाइन जैसे तत्व पाए जाते हैं। इन तत्वों में वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल कम करने और ट्राइग्लिसराइड (फैट का एक प्रकार) के स्तर को नियंत्रित करने की क्षमता होती है इसलिए कड़ी पत्ते का उपयोग वजन घटाने में किया जाता है।
  • कड़ी पत्ता एक हर्बल औषधि है, जो विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। कड़ी पत्ते से ब्लड कोलेस्ट्रॉल कम होता है। यह दिल की बिमारियों से दूर रखता है।
  • इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण कोलेस्ट्रॉल का ऑक्सीकरण होने से रोकते हैं। इससे बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नहीं बढ़ती और दिल से जुड़ी परेशानियों का खतरा भी कम होता है।
  • कड़ी पत्ते के तेल में पाए जाने वाले कुछ खास पोषक तत्वों में एंटीबायोटिक और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। इसमें पाए जाने वाले यही गुण बैक्टीरिया और फंगल प्रभाव को कम करने में लाभकारी हैं । जिसके कारण यह संक्रमण से बचाता है।
  • कड़ी पत्ता सुबह-सुबह होने वाली कमजोरी, मतली और उल्टी से लड़ने में सहायक है। यह पाचन क्रिया को बढ़ाता है जो इन बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।
  • कड़ी पत्ते में पाए जाने वाले कार्बाजोले एल्कलॉइड्स से डायरिया में मदद मिलता है इसलिए इसका नियमित सेवन डायरिया जैसी समस्या से निजात पाने में मदद देता है।
  • कड़ी पत्ते में टैनिन और कारबाजोले एल्कलॉइड जैसे तत्व मौजूद होते हैं। इन तत्वों में हेप्टोप्रोटेक्टिव गुण पाए जाते हैं, जो लिवर की कार्यक्षमता को बढ़ाने में मददगार है, साथ ही साथ उससे संबंधित हेपेटाइटिस और सिरोसिस जैसे जोखिमों को कम करता हैं।
  • कड़ी पत्ते की तासीर ठंडी होती है, इसलिए ये बवासीर रोग के इलाज में मददगार है। कड़ी पत्ते को पानी के साथ पीसें फिर इसे छानकर पानी निकाल ले। इसे पीने से बवासीर, दस्त, डायरिया, पेट के रोग और पाचन की दिक्कतें ठीक होती हैं।
  • कड़ी पत्ता आँखों की रोशनी के लिए फायदेमंद है, कढ़ी पत्ते में मौजूद कैरोटीनॉयड, कॉर्निया की सेहत को सुधारने में मदद करता है। यह आँखों की रोशनी तेज करता है और मोतियाबिंद होने की संभावना कम करता है।
  • कड़ी पत्ते में विटामिन-सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो इम्युनिटी को सुधारने में मदद करता है। इसके साथ ही कढ़ी पत्ते में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करते हैं। कड़ी पत्ते में एंटी- बैक्टीरियल, एंटी- माइक्रोबियल और एंटी- फंगल गुण होते है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )