कब्ज का रामबाण इलाज | kabj ka ilaj

कब्ज का रामबाण इलाज

कब्ज एक ऐसी परेशानी है जिसमें मरीज का पेट सही से साफ नहीं होता और शौच के समय दिक्कत आती है। आप इसके उपाय में कुछ घरेलू चीजों का इस्तेमाल कर सकते है जो एक तरह से कब्ज का रामबाण इलाज है।

कब्ज की समस्या होने पर आपको कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। आइये इस लेख में आपको बताते है कि कब्ज में क्या-क्या परहेज करें, पेट में कब्ज हो तो क्या खाना चाहिए और कब्ज के लिए कौन कौन से योग कर सकते है।

कब्ज का रामबाण इलाज (Kabj ka ilaj)

मुनक्का है कब्ज का रामबाण इलाज: सुबह उठकर प्रतिदिन खाली पेट, 4 से 5 काजू, 4-5 मुनक्के के साथ मिलाकर खाने से, कब्ज की शिकायत हो सकती है। इसके अलावा रात को सोने से पहले 6 से 7 मुनक्का खाने से भी कब्ज ठीक होता है।

जीरा और अजवाइन से कब्ज का इलाज करें: जीरा और अजवाइन को धीमी आंच पर भून कर पीसें। इसमें काला नमक डालकर तीनों को समान मात्रा में मिलाकर डब्बे में रख लें। रोज आधा चम्मच की मात्रा में गुनगुने पानी के साथ पिएँ। यह कब्ज का रामबाण इलाज (Kabj ka ilaj) है। 

muleti
कब्ज का रामबाण इलाज

मुलेठी है कब्ज का रामबाण इलाज: एक गिलास पानी में एक चम्मच मुलेठी का चूर्ण और एक चम्मच गुड़ मिलाकर इसका सेवन करें। यह कब्ज की समस्या ठीक करने में मदद करता है।

सौंफ से कब्ज का इलाज करें: रात में सोने से पहले एक चम्मच भुनी हुई सौंफ गर्म पानी के साथ पिएँ। सौंफ में पाए जाने वाले तेल पाचन क्रिया को दुरुस्त करते हैं, तथा गैस्ट्रिक एंजाइम के उत्पादन को बढ़ाते हैं। (यह भी पढ़ें: गर्म पानी पीने के फायदे)

कब्ज की दवा है त्रिफला चूर्ण:

  • रात को सोने से पहले त्रिफला चूर्ण को गर्म पानी के साथ लें। 6 माह तक ऐसे करने से पुरानी से पुरानी कब्ज की समस्या ठीक हो जाती है।
  • दस ग्राम अजवाइन, दस ग्राम त्रिफला और दस ग्राम सेंधा नमक को कूटकर चूर्ण बना लें। रोज 3-5 ग्राम की मात्रा में चूर्ण को हल्के गर्म पानी के साथ लें। यह आपके लिए कब्ज का रामबाण इलाज की तरह काम करता है।

कब्ज के इलाज में किशमिश है मददगार:

किशमिश को कुछ देर तक पानी में गलाने के बाद, इसका सेवन करने से कब्ज की शिकायत दूर होती है। इसके अलावा अंजीर को भी रातभर पानी में गलाने के बाद उसका सेवन करने से कब्ज की समस्या खत्म होती है।   

कब्ज के इलाज में पालक है मददगार: पालक कब्ज के मरीजों के लिए एक अच्छा विकल्प है। प्रतिदिन पालक के रस को दिनचर्या में शामिल करें, यह कब्ज का रामबाण इलाज होता है साथ ही इसकी सब्जी भी सेहत के लिए अच्छी होती है। लेकिन अगर आप पथरी के मरीज हैं, तो इसका इस्तेमाल ना करें।

कब्ज में परहेज (Avoid These in Constipation)

  • कब्ज के रोगी को दूध या पनीर का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।
  • मैदे से बनी चीजों को बिल्कुल ना खाएं।
  • अधिक तैलीय एवं मिर्च-मसालेदार वाले भोजन से दूर रहें।
  • कब्ज रोग में मुख्य रूप से वात को शान्त करने वाले आहार का सेवन करें। शीतल गुण वाले आहार से बचना चाहिए।

कब्ज में क्या खाये:

एलोवेरा की सब्जी का सेवन करें: पेट के लिए एलोवेरा बहुत अच्छा है। यह पेट दर्द, कब्ज और पेट की जलन दूर करता है। इसकी सब्जी के अलावा इसका जूस पीना भी फायदेमंद होता है।

नाशपती का सेवन करें: नाशपती में पेक्टिन पाया जाता है जो पेट साफ करने में मदद करता है।

पपीता का सेवन करें: फलों में पपीता पेट के कई रोगों से बचाता है। यह आँतों की अच्छे से सफाई करता है और इससे पेट में कब्ज की समस्या भी नहीं होती साथ ही पेट में गैस की समस्या भी दूर करता है।

केले का सेवन करें: केला भी कब्ज से छुटकारा दिलाता है लेकिन यह इस बात करता है कि आप केला कच्चा खा रहे है या पका हुआ। पका हुआ केला ही कब्ज से राहत दिलाता है।

ओट्स खाएं: ओट्स में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो पेट की समस्या और कब्ज दूर करता है।

कब्ज में दूध पिएँ: कब्ज में दूध पीना चाहिए। कब्ज से राहत पाने के लिए एक गिलास दूध में शहद या चीनी मिलाकर दिन में दो बार लें।

कब्ज के लिए योगासन:

आप योग करके भी कब्ज से राहत पा सकते है। नीचे हम आपको कुछ योगासन बता रहे है जिनसे आपको राहत मिल सकती है।

  • पवन मुक्तासन
  • हलासन
  • अर्धमत्स्येन्द्रासन
  • मयूरासन
  • बालासन
  • सुप्तमत्स्येन्द्रासन

डिस्क्लेमर: आज हमने आपको यहाँ कब्ज का रामबाण इलाज,इसमें करने वाले परहेज और इसमें क्या खाना चाहिए इससे संबंधित सामान्य जानकारियाँ दी है। किसी भी तरह की समस्या होने पर डॉक्टर से परामर्श लें ।

हेल्थ संबंधी जानकारियां पाने के लिए आयु ऐप डाउनलोड करके आप अपने फोन पर रोज़ाना सेहत की बातें सेक्शन में जाकर पढ़ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.