क्या कोरोना पीड़ित महिला का अपने बच्चे को स्तनपान कराना सही है ?

what should be done by pregnant women during this time

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, अगर महिला कोरोना से संक्रमित है और स्तनपान नहीं करवा सकती तो वह मिल्क बैंक की मदद ले सकती है।

गर्भवती महिलाओं को कोरोना वायरस का खतरा कितना है :

अभी तक इस बात का कोई प्रमाण नहीं मिला है कि कोरोना वायरस से गर्भवती महिलाओं को आम लोगों से ज़्यादा खतरा है। हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं के शरीर में कई बदलाव होते है जिससे उन्हें सांस से जुड़ा संक्रमण होने का खतरा हो सकता है। इसलिए सावधानी ज़रूर बरतें। अगर बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ हो रही हो तो डॉक्टर से ज़रूर सलाह लें।

क्या कोरोना संक्रमित महिला अपने बच्चे को स्तनपान करवा सकती है ?

हां, महिला स्तनपान करवा सकती है पर स्तनपान करवाते समय कुछ बातों का ध्यान रखें जैसे स्तनपान करवाते समय मास्क पहनें, बच्चे को छूने से पहले और बाद में हाथ जरूर धोएं। अगर कोरोना से संक्रमित है और आप बच्चे को स्तनपान करवाने की स्थिति में नहीं है तो एक्सप्रेसिंग मिल्क या डोनर ह्यूमन मिल्क का इस्तेमाल करें।

प्रेग्नेंट महिला अपने आप को कोरोना के संक्रमण से कैसे दूर रखें:

  • अल्कोहल बेस्ड सैनेटाइजर या साबुन से बार-बार अपने हाथ धोएं।
  • जितना हो सके भीड़भाड़ वाली जगह जाने से बचें।
  • आँख, नाक और मुँह को बार-बार ना छुएं।
  • खांसते या छीकते समय मुँह को दाहिनी कोहनी पर रखें। आप टिश्यू पेपर भी इस्तेमाल कर सकती है पर ध्यान रहे टिश्यू पेपर को एक बार इस्तेमाल करें और फिर उसे डिस्पोज़ कर दें।
  • खांसी, बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

क्या गर्भवती महिला को कोरोना की जांच की ज़रुरत है ?

जांच करवाने की जरूरत इस बात पर निर्भर करती है कि आप कहां रहती है। अगर संक्रमण से जुड़ा कोई भी लक्षण आपको महसूस हो रहा है तो तुरंत जांच करवाएं क्योंकि इस समय ख़ास देखभाल करने की ज़रुरत होती है।

क्या कोरोना वायरस गर्भवती महिला से उनके बच्चे में पहुँच सकता है ?

गर्भवती महिला से उनके होने वाले बच्चे में वायरस पहुंचने की अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है । अभी तक गर्भवती महिला के एम्नियोटिक फ्लूइड और ब्रेस्ट मिल्क में कोरोनावायरस नहीं मिला है। 

प्रेगनेंसी और डिलीवरी के दौरान क्या-क्या सावधानियां बरतें:

हर गर्भवती महिला को सावधानी बरतने की जरूरत है चाहें वो कोरोना से संक्रमित हो या न हो। डिलीवरी के दौरान महिला के इच्छा के अनुसार, किसी पारिवारिक सदस्य का होना जरूरी है। मैटरनिटी स्टाफ से सीधी बातचीत होनी चाहिए। अगर संक्रमण की पुष्टि होती है तो हेल्थ वर्कर को जरूरी सावधानी बरतने की जरूरत है ताकि दूसरी महिलाएं न प्रभावित हों। ऐसी स्थिति में महिला के पास हैंड सैनेटाइजर, मास्क, गाउन और मेडिकल मास्क होना जरूरी है। 

कोरोना गाइड के लिए अभी आयु ऐप डाउन्लोड करें । क्लिक 👆

Leave a Reply

Your email address will not be published.