शहद के फायदे और नुकसान | Daily Health Tip | 26 March 2020 | AAYU App

who have to take honey and who not

पेट की गैस को दूर करने के लिए जीरा, सौंफ, अजवाइन तीनों को सुखाकर पाउडर बना लें। इसे शहद के साथ भोजन से पहले खाएं।

To get rid from gas problem, make dry powder of cumin, celery and anise mixture. Eat it with honey before eating food.

Health Tips for Aayu App

शहद न केवल खाने में स्‍वादिष्‍ट होता है, बल्कि सेहत के लिए बहुत फायदेमंद भी होता है। शहद में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन ए, बी, सी, आयरन, मैगनीशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सोडियम आदि गुणकारी तत्व होते हैं। यह कार्बोहाइड्रेट का भी प्राकृतिक स्रोत है, इसलिए इसके सेवन से शरीर में शक्ति, स्फूर्ति और ऊर्जा आती है और यह रोगों से लड़ने के लिए शरीर को शक्ति देता है। शहद एक एंटी वायरल क्रीम की तरह भी उपयोग किया जाता है।

शहद के फायदे:

जलने पर फायदेमंद:

शहद में एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते है। इसलिए यह घावों, कटे और जले हुए स्थानों पर तथा खरोंच पर लगाया जाता है। शहद से उपचार करने के बाद जले के निशान भी हट जाते है।

मुंह के छाले के लिए उपयोगी:

शहद को पानी में मिलाकर कुल्ला करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते है। शहद दांत के दर्द को दूर करने में मदद करता है। दांत में दर्द होने पर रूई के फाहे को शहद में भिगोकर दर्द वाली जगह पर रखने से कुछ ही देर में दांत दर्द से राहत मिलती है।

आंखों के लिए लाभकारी:

औषधीय गुणों से भरपूर शहद का उपयोग अनेक बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। शहद खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है और मोतियाबिंद जैसी बीमारियां भी दूर हो सकती है।

हीमोग्लोबिन बढ़ाएँ:

शहद हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से रक्त शुद्ध होता है और एनीमिया भी दूर हो जाता है। इसमें विटमिन बी और विटमिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट तत्व भी पाए जाते है, जो हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाने में सहायक होते है।

कैंसर का जोखिम कम करें:

शहद में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते है जो ट्यूमर को बनने से रोकते है और कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद करता है। नियमित रूप से शहद का सेवन करने से पेट का कैंसर नहीं होता है।

दिल को दे मजबूती:

शहद दिल को मजबूत बनाने के लिए अच्‍छा होता है। दिल को मजबूत करने, हृदय को सुचारू रूप से कार्य करने और हृदय संबंधी रोगों से बचने के लिए प्रतिदिन एक चम्‍मच शहद खाना अच्छा रहता है।

त्वचा सम्बन्धी विकार दूर करें:

शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल और नमी प्रदान करने वाले गुण दाग-धब्‍बों को दूर कर त्‍वचा में नई जान भर देते हैं। चेहरे की खुश्‍की दूर करने के लिए शहद, मलाई और बेसन का उबटन लगाना चाहिए। इससे चेहरे पर चमक आ जाती है। शहद क्षतिग्रस्त त्वचा का उपचार करने में मददगार होता है। यह एक्जिमा, त्वचा की सूजन और अन्य त्वचा विकारों का भी प्रभावशाली तरीके से उपचार करता है।

कब्ज दूर करें:

यह मिश्रण कब्ज के लिए तत्काल उपाय है। यह आंत को मल त्यागने में मदद करता है। इसके अलावा यह मिश्रण हाजमे को ठीक रखता है।

वजन कम करें:

शहद वजन कम करने में एक अहम भूमिका निभाता है। यह मेटाबोलिज़्म को बढ़ाता है जिससे शरीर की अतिरिक्त वसा नष्ट हो जाती है। इसके लिए आपको सुबह खाली पेट नींबू पानी में शहद मिलाकर सेवन करना चाहिए।

बालों के लिए लाभदायक:

शहद का इस्‍तेमाल बालों के लिए काफी अच्छा होता है। ऑलिव आयल के साथ शहद मिलाकर बालों में लगाने से बाल लंबे, घने और मुलायम होते है। यह बालों के झड़ने की समस्‍या को भी कम करता है।

शहद के नुकसान:

सही तरह से सेवन:

शहद का सेवन करते समय आपको इस बात का ख्याल रखना होता है कि आप शहद का किस प्रकार सेवन करते है। लोग वजन कम करने के लिए शहद का सेवन गर्म पानी के साथ करते है, लेकिन आवश्यकता से अधिक गर्म पानी का सेवन करने से आपके शरीर में गर्मी या पेट संबंधी परेशानियां होने का खतरा बना रहता है। शहद को कभी भी गर्म दूध, चाय, कॉफी, मूली, नानवेज आदि के साथ नहीं लेना चाहिए। 

पेट हो जाता है खराब:

स्वस्थ रहने के लिए भले ही आप शहद का सेवन करते हो लेकिन आवश्यकता से अधिक इसका सेवन करने से आपको पेट संबंधी परेशानियां हो सकती है। शहद में फ्रुक्टोस पाया जाता है, जिसे हर व्यक्ति के लिए पचा पाना मुश्किल होता है। जब इसकी अधिकता होती है तो इससे पेट खराब होने, पेट में दर्द, पेट में फूलने और डायरिया होने की संभावना बन जाती है। 

रोगियों के लिए नुकसानदायक:

शहद का सेवन अस्थमा रोगियों के लिए काफी नुकसानदेह होता है। इससे उन्हें श्वास में कमी, खुजली और जीभ में सूजन जैसी समस्या होती है। जिन लोगों को एलर्जी की परेशानी होती है, उन्हें भी शहद का सेवन करने पर फेफड़े में सूजन होने की परेशानी हो सकती है। मधुमेह रोगियों को भी शहद का सेवन डॉक्टर के परामर्श के बाद ही करना चाहिए। इसके अतिरिक्त रक्तस्त्राव से पीड़ित व्यक्तियों के लिए भी शहद बेहद हानिकारक होता है। 

छोटी आंत होती है प्रभावित:

शहद की अधिकता आपकी छोटी आंत को प्रभावित करती है। जब आपकी छोटी आंत प्रभावित होती है तो इससे शरीर के पोषक तत्वों को अवशोषित करने में काफी दिक्कत आती है।

शहद को इन चीज़ों के साथ कभी ना खाएं:

मूली के साथ शहद:

शहद और मूली एक साथ खाने की कोशिश कभी न करें। दोनों के सेवन में तकरीबन एक घंटे का अंतर जरूर होना चाहिए। जब भी हम शहद और मूली एक साथ खाते हैं तो हमारे शरीर में टॉक्सिन्स का निर्माण होने लगता है। इसकी वजह से बॉडी पार्ट को नुकसान पहुंचने का खतरा बढ़ जाता है।

गर्म चीज़ों के साथ शहद: 

शहद की प्रकृति गर्म होती है, इसलिए गर्म चीजों के साथ इसका सेवन करने से दस्त और लूज मोशन की समस्या होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा भी कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती है।

चाय के साथ शहद

ज्यादातर लोगों का यह मानना होता है कि शहद के साथ चाय या कॉफी लेने से सर्दी-जुकाम से आराम मिलता है लेकिन ऐसा नहीं होता। यह शरीर के तपमान को और बढ़ा देता है जिससे तनाव और घबराहट बढ़ती है।

दूध और शहद:

दूध और शहद को एक साथ बराबर मात्रा में कभी सेवन ना करें। दोनों का इस तरह का संयोग जहर की तरह काम करता है।

गर्म पानी के साथ शहद

शहद को अक्सर गर्म या गुनगुने पानी के साथ लेने की सलाह दी जाती है लेकिन अगर आप शहद के साथ ज्यादा गर्म पानी का इस्तेमाल करते है तो यह नुकसानदेह हो सकता है। इससे शरीर का तापमान बढ़ता है और पेट खराब होने जैसी समस्या हो सकती है।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.