आयोडीन की कमी दूर करने के लिए 7 चीजें

आयोडीन की कमी

आयोडीन थायराइड ग्रंथि को अच्‍छी तरह काम करने में मदद करता है। इसलिए शरीर में आयोडीन की कमी को पूरा करने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों का उबालकर सेवन करें। 

“Iodine helps the thyroid gland to function well. Therefore, to meet iodine deficiency in the body, boil green leafy vegetables and consume them.

Health Tip for Aayu App

आयोडीन की कमी पूरी करने के लिए हम क्या खा सकते है यह जानने से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि आयोडीन क्या है, इसकी हमारे शरीर में क्या जरूरत है, इसकी कमी होने से क्या होता है। तो आइये आज हम आपको इन्ही सब सवालों के जवाब इस आर्टिकल में देंगे।

आयोडीन क्या है?

आयोडीन हमारे शरीर में पाया जाने वाला एक तत्व है जो हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है। हमारे शरीर की कई महत्वपूर्ण क्रियाएँ आयोडीन पर निर्भर करती है। इसकी कमी होने पर कई तरह की बीमारियाँ हमे घेर सकती है जैसे बच्चों में सीखने की क्षमता कम होना, घेघा रोग, गूंगापन, ठीक से खड़े होने या चलने में कठिनाई होना।

अब हम यह जान चुके है आयोडीन क्या है हमें यह जानना जरूरी है कि यह हमारे शरीर के लिए क्यों जरूरी है या शरीर के लिए आयोडीन का महत्व क्या है, आयोडीन की कमी से क्या हो सकता है ।

शरीर में आयोडीन का महत्व क्या है?

शरीर में आयोडीन की पर्याप्त मात्रा ना होने पर, शरीर में उचित मात्रा में थायरॉयड हॉर्मोन नहीं बन पाता। जिसकी वजह से आपको कई तरह के रोग होते है जैसे घेंघा या ग्वॉयटर आदि जो शरीर में गंभीर विकृति के कारण होता है। यह आयोडीन की कमी की वजह से होता है। यह शिशु के दिमाग के विकास और थायरॉयड ग्रंथि को सक्रीय रखने के लिए जरूरी है। थायरॉयड ग्रंथि मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करने वाले हॉर्मोन को बनाता है इसके अलावा इसकी और भी कई फायदे है जैसे शरीर के तापमान को नियमित करना, बच्चे के विकास में सहायक, थायरॉयड हॉर्मोन का निर्माण करना आदि। (यह भी पढ़ें: मेटाबॉलिज्म बढ़ाने वाले फ़ूड)

जैसा हमने आपको ऊपर बता दिया है कि आयोडीन हमारे शरीर के लिए क्यों जरूरी है तो आइये जानते है इसकी कमी से क्या क्या होता है?

आयोडीन की कमी से क्या क्या होता है?

घेंघा, गूंगापन के अलावा थकान होना, वजन बढ़ना, बालों का झड़ना, त्वचा का सुखना, ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई होना, गर्दन में सूजन आना, ठंड लगना आदि चीजे हो सकती है इन्हे नजरअंदाज ना करें।

आइये इन सभी के बारे में एक एक करके विस्तार से जानते है कि हमारे शरीर में हमे इसकी कमी होने पर ऐसे बदलाव क्यों दिखते है।

  • थकान और अवसाद होना: आयोडीन हमारे शरीर में बहुत कम मात्रा में पाया जाने वाला पोषक तत्व है लेकिन तब भी आयोडीन की कमी देखी जाती है जिस वजह से हमारे शरीर में पाई जाने वाली थायरायड ग्रंथि पर्याप्त मात्रा में थायरायड नहीं बना पाती। जिसके परिणामस्वरूप उदासी, थकान, वजन बढ़ना, कब्ज जैसे लक्षण दिखने लगते है।
  • बालों का झड़ना और रूखी त्वचा होना: थायराइड हार्मोन ही शरीर में नए बाल उगाने के लिए जिम्मेदार है लेकिन शरीर में आयोडीन की कमी के कारण थायराइड हार्मोन नहीं बन पाता जिससे यह प्रोसेस बंद हो जाती है। यह थायराइड हार्मोन हमारे शरीर की कोशिकाओं को बनाए रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसकी कमी से कोशिकाएं नष्ट होने लगती है जिससे शरीर में रूखापन और पपड़ी जम जाती है।
  • ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होना: इसकी कमी होने से हमारे दिमाग को भी प्रभावित करती है जिस वजह से ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई होती है।
  • गर्दन में सूजन होना: जब शरीर को पर्याप्त मात्रा में आयोडीन नहीं मिलता तब थायराइड ग्रंथि खाद्य पदार्थों से ज्यादा मात्रा में आयोडीन अवशोषित करने की कोशिश करती है जिससे थायराइड ग्रंथि का आकार बढ़ने लग जाता है और गर्दन में सूजन जैसा लगने लगता है।
  • ठंड लगना: शरीर में आयोडीन की मात्रा कम होने से मेटाबॉलिक रेट कम होता है और ऊर्जा कम बनने लगती है। जिस वजह से शरीर में कमजोरी महसूस होती है और हमें ठंड लगने लगती है।

आइये अब जानते है आयोडीन की कमी कैसे दूर करें। इसके लिए आप अपनी डाइट में कुछ चीजें शामिल कर सकते है।

आयोडीन की कमी को दूर करने के उपाय:

  1. मुनक्का खाएं: मुनक्के में विटामिन ए, आयोडीन, फाइबर पाया जाता है। आप रोज तीन मुनक्का खाएं इससे आपके शरीर में 34 माइक्रोग्राम आयोडीन जाता है जिससे आपके शरीर में आयोडीन की मात्रा कम नहीं होती।
  2. दूध पिएँ: दूध में कैल्शियम, विटामिन डी के साथ साथ आयोडीन भी मिलता है। एक कप दूध पिएँ इसमें 56 माइक्रोग्राम आयोडीन मिलता है।
  3. रोस्टेड आलू खाएं: भुने हुए आलू में आवश्यक पोषक तत्व मिलते है। आलू में आयोडीन, पोटेशियम और विटामिन पाया जाता है। इसलिए आयोडीन की मात्रा पूरी करने के लिए आप आलू खाएं इसके 40% भाग में आयोडीन पाया जाता है।
  4. दही खाएं: दही आपके पूरे दिन की आयोडीन की कमी पूरा कर सकता है इसमें 80 माइक्रोग्राम आयोडीन पाया जाता है।
  5. सी फूड: आयोडीन आपके बच्चे के दिमाग के लिए बहुत जरूरी है। इसके लिए आप सी फ़ूड लें सकते है। यह स्मरण शक्ति बढ़ाने का काम करता है और मस्तिष्क की नई कोशिकाओं का निर्माण भी करता है।
  6. क्रैनबेरी खाएं: 4 क्रैनबेरी में 400 माइक्रोग्राम आयोडीन और एंटीऑक्सीडेंट होता है। क्रैनबेरी में आयोडीन की मात्रा होने के साथ साथ यह आपके थायरॉयड ग्रंथि के लिए भी अच्छी होती है।
  7. बकरी के दूध का पनीर खाएं: बकरी के दूध के पनीर में 15 माइक्रोग्राम आयोडीन पाया जाता है इसलिए आयोडीन की कमी होने पर आप इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकते है।

यह लेख केवल आपको सामान्य जानकारी देता है। अगर आपको किसी तरह की तकलीफ है तो हमारे प्लेटफार्म पर कई विशिष्ट डॉक्टर उपलब्ध है जिनसे आप ऑनलाइन परामर्श लें सकते है। आप हमारे टोल फ्री नंबर 781-681-11-11 पर भी कॉल करके इसके बारे में जानकारी लें सकते है।

अगर आप इसी तरह की सामान्य स्वास्थ्य संबंधी जानकारी जानना चाहते है तो अभी अपने फोन पर आयु ऐप डाउनलोड कर सकते है। यह आपको इसी तरह की स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देता है जिसे आप कही भी किसी भी समय पढ़ सकते है। अगर आप ज्यादा जानकारी पाना चाहते है तो medcords.com पर जाकर पूरी जानकारी लें सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.