International Yoga Day : ये योगासन करेंगे कोरोना वायरस और वर्क फ्रॉम होम की टेंशन को खत्म !

International yoga day these yoga tips helps to over stress

कोरोना वायरस महामारी ने दुनिया को हिला कर रख दिया है। भारत सहित विश्व के कई हिस्सों में लॉकडाउन लगाया गया। हालांकि भारत में लॉकडाउन शर्तों के साथ खोल दिया गया है लेकिन संक्रमण के डर से लोग अभी भी घरों में कैद हैं। इस महामारी के चलते दुनिया में कई तरह के संकट खड़े हो गए हैं जिसके चलते लोग तनाव में हैं। इस संकटकाल में सभी को योग का सहारा लेकर आगे बढ़ने की जरूरत है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने भी कहा है कि कोरोना के चलते योग का क्रेज कम नहीं होना चाहिए। 21 जून को योग दिवस पूरे जोश के साथ मनाया जाए और योग को हमेशा अपने जीवन में शामिल करें। आइए जानते हैं ऐसे योगासनों के बारे में जो आपको तनाव से राहत दिलाएं। 

गरूडासन कैसे करें और इसके फायदे

गरुड़ासन को ईगल पोज (Eagle pose) कहा जाता है। जो लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं उन लोगों के लिए यह योग आसन बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। इसका अभ्यास करने से कूल्हों और कंधों में जकड़न खत्म हो सकती है। नियमित तौर पर इसका अभ्यास करने से दिमाग को शांति मिलती है।

  • सबसे पहले आप सीधे खड़े हों।
  • दाएं पांव को बाएं पांव के ऊपर से दूसरी ओर ले जाएं।
  • बाहों को रस्सी के समान एक दूसरे में गूंथ दें।
  • आपस में गुंथे हुए हाथों को गरुड़ की चोंच के समान छाती के आगे रखें। …
  • बाएं पांव को दाएं पांव के ऊपर से ले जाकर इसे दूसरी ओर भी करें।
  • यह आधा चक्र हुआ।
  • फिर दूसरे तरफ से करें।
  • अब एक चक्र हुआ।

कैसे करें बद्ध कोणासन (How To Do Baddha Konasana)

1. सबसे पहले एकदम सीधे बैठ जाएं । अपनी टांगों को बाहर की तरफ फैलाएं। 

2. सांस छोड़ते हुए घुटनों को मोड़ें और दोनों एड़ियों को अपने पेट के नीचे की तरफ ले आएं। 

3. ध्यान रहे, दोनों एड़ियां एक-दूसरे से चिपकी हों। घुटनों को दोनों तरफ नीचे की ओर ले जाएं। 4. दोनों एड़ियों को जितना हो सके पेट के नीचे और करीब ले आएं। अपने अंगूठे और पहली अंगुली की मदद से पैर के बड़े अंगूठे को पकड़ लें। ये पक्का करें कि पैर का बाहरी किनारा फर्श पर टिका रहे। 

5. इस मुद्रा में 1 से 5 मिनट तक बने रहें। इसके बाद सांस खींचते हुए घुटनों को वापस सीने की तरफ लेकर आएं। 

बद्ध कोणासन के फायदे (Benefits of Baddha Konasana)

  • रक्त संचार सुधारने में मदद मिलती है। 
    • किडनी और प्रोस्टेट ग्लैंड के साथ ही ब्लैडर और पेट के भीतरी अंग भी स​क्रिय होते हैं।
    • टेंशन और थकान दूर करता है। 
    • जांघों और हिप्स की फ्लैक्सिबिलिटी बढ़ती है। घुटनों, भीतरी जांघों में खिंचाव देता है।
    • रीढ़ की हड्डी को खिंचाव देता है। साइटिका के दर्द से देता है राहत।
    • अस्थमा, फ्लैट फीट, नपुंसकता और हाई बीपी को कम करने में कारगर

सुप्त कोनासन के फायदे- 

वर्क फ्रॉम करने के कारण ज्यादातर लोग एक ही जगह पर घंटों बैठे रह रहे हैं। लगातार एक ही जगह पर बैठने से शारीरिक और मानसिक तनाव हो जाते हैं। ऐसे में सुप्त कोनसाना आपकी काफी मदद करेगा। सुप्त कोनसाना का अभ्यास करने से पैर का दर्द और जांघो को आराम मिलता है। साथ ही यह थकान को दूर करने में भी सहायक माना जाता है।

कैसे करें सुप्त कोनासन

1.सबसे पहले आप सावधान की स्थिति में सीधे खड़े हो जाएं। इस तरह से खड़े हों ताकि आपके दोनों पैरों के बीच दो से ढाई फुट दूरी रह सके |

2..फिर अपनी कमर को धीरे-धीरे बाईं ओर झुकाकर बाएं हाथ की उंगलियों से बाएं पैर के पंजों को छुएं और दाएं हाथों को बिल्कुल सीधा सिर के पास कनपटियों से लगाकर सिर की सीध में रखें।

3..अब अपनी कमर को दाईं ओर झुकाकर दाएं हाथों की उंगलियों से दाएं पैर के पंजों को छुएं और बाएं हाथ को सिर की सीध में कनपटियों के पास रखें। जैसे पहले बायीं और किया था |

4…अब इस तरह से इस क्रिया को दोनों तरफ से बराबर-बराबर करें। इस आसन के लिए केवल शरीर में कमर से ऊपर का भाग झुकाएं तथा कोहनियों व घुटनों को सीधा व तान कर रखें।

5..दायें व बायें झुकते समय अपनी सांस लेने की क्रिया सामान्य रखें।

Read Also:-

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.