कोरोना वायरस का पहला कन्फर्म केस केरल में मिला, भारत सरकार ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

वुहान यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाला केरल का छात्र कोरोना वायरस से प्रभावित पाया गया है. यह वास्तव में भारत में कोरोना वायरस का पहला कन्फर्म केस है. केरल के इस छात्र को अभी डॉक्टर की निगरानी में अस्पताल में रखा गया है. छात्र की हालत स्थिर है और डॉक्टर उस पर नजर बनाये हुए हैं.

भारत सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. कोरोना वायरस को लेकर जानकारी के लिए कोई भी नागरिक दिए गए नंबर पर कॉल कर सकता है. सामाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक कोरोना से निपटने के लिए सोमवार को कैबिनेट सचिव राजीव गाबा की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई. इसमें कोरोना से निपटने के लिए हर संभव प्रयासों पर चर्चा की गई.

इन नंबरों पर मांग सकते हैं मदद

स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय ने भारत के लोगों के लिए एक हेल्पलाइन नंबर “+91-11-23978046” जारी किया है. आप इस नंबर पर कॉल करके इस बीमारी से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

चीन में रह रहे भारतीय इस हेल्पलाइन नंबर पर कर सकते हैं कॉल

इससे पहले चीन में फंसे भारतीय छात्रों की मदद के लिए तीसरी हॉट लाइन शुरू की गई थी, जिसका नंबर +8618610952903 है. कोरोना वायरस के वुहान में तेजी से फैलने के बाद वहां फंसे भारतीय छात्रों की मदद के लिए पहले ही दो हॉट लाइन शुरू की गई थी. ये दोनों हॉट लाइन क्रमश: 8618612083629 और 8618612083617 है. भारतीय एंबेसी चीन सरकार के साथ लगातार संपर्क में है ताकि वुहान में फंसे भारतीय छात्रों को कोई परेशानी नहीं हो. साथ ही उन फंसे भारतीयों को चीन से निकालने के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं. पिछले दो दिनों में इन हॉट लाइन पर करीब 600 कॉल की गई है.

क्या है कोरोना वायरस?

कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकना वाला कोई टीका नहीं है.

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण?

इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है. यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था. इसके दूसरे देशों में पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है.

क्या हैं इससे बचाव के उपाय?

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए. अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है. खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें. जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें.

दुनिया के कौन-कौन देश प्रभावित

चीन के अलावा हांगकांग में कोरोना वायरस के 17 कन्फर्म केस सामने आये हैं, जबकि थाइलैंड में 7 संदिग्ध पाए गए हैं. मकाऊ में 5, ताइवान में 4 कोरोना वायरस से प्रभावित लोग पाए गए हैं. आस्ट्रेलिया और सिंगापुर में चार-चार, कोरिया रिपब्लिक, जापान, फ्रांस और मलेशिया में तीन-तीन केस सामने आए हैं. साथ ही वियतनाम में दो और नेपाल में अबतक कोरोना वायरस का 1 केस सामने आया है.

आयु है आपका सहायक

अगर आपको या आपके आस-पास के किसी सदस्य में कोरोना वायरस के लक्षण दिखे तो आयु ऐप पर मौजूद स्पेशलिस्ट डॉक्टर से तुरंत सलाह लें। सलाह लेने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर अभी आयु ऐप को अपने स्मार्टफोन में सुरक्षित करें और रहें स्वास्थ्य संबंधित चिंताओं से मुक्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.